पाँच राजवंश और दस राजशाहियाँ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
९२३ ईसवी में (उत्तरकालीन लियांग राजवंश के अन्तकाल में) चीन का राजनैतिक नक़्शा

पाँच राजवंश और दस राजशाहियाँ ( 五代十国, 五代十國, वुदाई शीगुओ, Five Dynasties and Ten Kingdoms) चीन के इतिहास में सन् ९०७ ईसवी से ९७९ ईसवी तक चलने वाला एक दौर था। यह तंग राजवंश के पतन के बाद शुरू हुआ और सोंग राजवंश के उभरने पर ख़त्म हुआ। इस काल में चीन के उत्तर में एक-के-बाद-एक पाँच राजवंश सत्ता में आये। चीन भर में और ख़ासकर दक्षिणी चीन में, १२ से अधिक स्वतन्त्र राज्य स्थापित हो गए। इनमें से इतिहास में १० राज्यों का वर्णन अधिक होता है, इसलिए यह काल 'पाँच राजवंश और दस राजशाहियों' के नाम से जाना जाता है। इसी काल में मंचूरिया-मंगोलिया क्षेत्र में ख़ितानी लोगों का लियाओ राजवंश भी स्थापित हुआ।

पाँच राजवंश[संपादित करें]

उत्तरी चीन में राज करने वाले पाँच राजवंश और उनके सत्ता काल यह थे:

  • उत्तरकालीन लियांग राजवंश (後梁, Later Liang Dynasty), ९०७ - ९२३ ईसवी
  • उत्तरकालीन तंग राजवंश (後唐, Later Tang Dynasty), ९२३ - ९३६ ईसवी
  • उत्तरकालीन जिन राजवंश (後晉, Later Jin Dynasty), ९३६ - ९४७ ईसवी
  • उत्तरकालीन हान राजवंश (後漢, Later Han Dyansty), ९४७ - ९५१ ईसवी (अगर उत्तरी हान राजवंश को इसी वंश का हिस्सा माना जाए तो इनका काल ९७९ ईसवी तक चला)
  • उत्तरकालीन झोऊ राजवंश (後周, Later Zhou Dynasty), ९५१ - ९६० ईसवी

दस राजशाहियाँ[संपादित करें]

दस राजशाहियाँ इस प्रकार थीं: वू (९०७-९७८ ई), मीन (९०९-९४५ ई), चू (९०७-९५१ ई), दक्षिणी हान (९१७-९७१ ई), पूर्वकालीन शू (९०७-९२५ ई), उत्तरकालीन शू (९३४-९६५ ई), जिंगनान (९२४-९६३ ई), दक्षिणी तांग (९३७-९७५ ई) और उत्तरी हान (९५१-९७९ ई)।

विवरण[संपादित करें]

तंग साम्राज्य के अंतिम दिनों में शाही दरबार ने 'जिएदूशी' (節度使, jiedushi) नामक क्षेत्रीय सैनिक राज्यपालों के अधिकार बढ़ा दिए। इसी दौरान हुआंग चाओ (黃巢, Huang Chao) नामक एक नेता ने तंग सरकार के विरुद्ध विद्रोह आयोजित किया जिस से साम्राज्य बहुत ही कमज़ोर पड़ गया और राज्यपाल लगभग पूरी तरह आज़ाद हो गए।[1] इसी से पाँच राजवंशों और दस राजशाहियों का काल शुरू हुआ। इस काल में उत्तरी चीन में बहुत भयंकर झगड़े जारी रहे। दक्षिणी चीन में ज़्यादा स्थिरता थी लेकिन वहाँ भी युद्ध होते रहे। सन् ९६० में उत्तरी सोंग राजवंश स्थापित हुआ और उसने चीन को फिर से एक सूत्र में बंधने की ठानी। एक-एक करके उसने राज्यों पर क़ब्ज़ा जमाया और सन् ९७८ तक पूरे चीन को अपने अधीन कर लिया।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. China: a cultural and historical dictionary, Michael Dillon, Psychology Press, 1998, ISBN 978-0-7007-0439-2, ... After the suppression of Huang Chao's rebellion in 884 the court had no more authority ...
  2. Atlas of world history, Patrick Karl O'Brien, Oxford University Press, 2002, ISBN 978-0-19-521921-0, ... This period of disunity, known as the Ten Kingdoms and Five Dynasties, was ended in 960 by the general Zhao Kuangyin, who brought China under the control of the Song dynasty and reigned as Emperor Taizu ...