पश्चिमी शिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सन् ११११ ईसवी में पश्चिमी शिया राजवंश का क्षेत्र (हरे रंग में)
तान्गूत सरकार द्वारा जारी यह कांसे के अधिकारपत्र धारक को 'घोड़े जलाने' (यानि आपातकाल में सरकारी घोड़े तेज़ी से दोड़ाकर थका डालने) की अनुमति देते थे

पश्चिमी शिया राजवंश (चीनी: 西夏, शी शिया; अंग्रेजी: Western Xia) जिसे तान्गूत साम्राज्य (Tangut Empire) भी कहा जाता है पूर्वी एशिया का एक साम्राज्य था जो आधुनिक चीन के निंगशिया, गांसू, उत्तरी शान्शी, पूर्वोत्तरी शिनजियांग, दक्षिण-पश्चिमी भीतरी मंगोलिया और दक्षिणी मंगोलिया पर सन् १०३८ से १२२७ ईसवी तक विस्तृत था। तान्गूत लोग तिब्बती लोगों से सम्बंधित माने जाते हैं और उन्होंने चीनी लोगों का पड़ोसी होने के बावजूद चीनी संस्कृति नहीं अपनाई। तिब्बती और तान्गूत लोग इस साम्राज्य को मिन्याक साम्राज्य (Mi-nyak) बुलाते थे। तान्गुतों ने कला, संगीत, साहित्य और भवन-निर्माण में बहुत तरक्की की थी। सैन्य क्षेत्र में भी वे सबल थे - वे शक्तिशाली लियाओ राजवंश, सोंग राजवंश और जिन राजवंश (१११५–१२३४) का पड़ोसी होते हुए भी डट सके क्योंकि उनका फ़ौजी बन्दोबस्त बढ़िया था। रथी, धनुर्धर, पैदल सिपाही, ऊँटों पर लदी तोपें और जल-थल दोनों पर जूझने को तैयार टुकड़ियाँ सभी उनकी सेना का अंग थीं और एक-साथ आयोजित तरीक़े से लड़ना जानती थीं।[1]

इन सब के बावजूद, आगे चलकर तान्गूत साम्राज्य पर युआन राजवंश स्थापित करने वाले मंगोल लोगों के घातक हमले हुए जिसमें तान्गूतों के बहुत से लिखित दस्तावेज़ और अधिकतर इमारतें ध्वस्त हो गई। इस कारणवश तान्गूतों पर अनुसन्धान कर रहे इतिहासकारों और भाषावैज्ञानिकों को काफ़ी दिक्क़तें होती हैं और इस साम्राज्य और उसके संस्थापकों के बारे में बहुत से प्रश्न हैं जिनपर कभी न अंत होने वाले विवाद जारी रहते हैं।

नाम और भाषा[संपादित करें]

तान्गूत लोग अपनी तान्गूत भाषा बोलते थे, जो तिब्बती भाषा के समीप एक तिब्बती-बर्मी भाषा-परिवार की सदस्य थी। उन्होने चीनी भावचित्रों की देखा-देखी अपनी एक चित्रलिपि पर आधारित लिपि बना ली थी जिसमें वे तान्गूत भाषा लिखा करते थे। वे अपने साम्राज्य को औपचारिक रूप से 'श्वेत और उच्च महान शिया राज्य' (Western Xia 2.svg, फियोव ब्यिय ल्हयिय ल्हयिय) बुलाते थे। अनौपचारिक रूप से वे इसे 'मि-न्याग' कहते थे लेकिन चीनी स्रोत उन्हें 'पश्चिमी शिया' (चीनी भाषा में 'शी शिया') बुलाते थे जो नाम बाद में पाश्चातीय विद्वान इस्तेमाल करने लगे।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Cast Chinese Coins, David Hartill, Trafford Publishing, 2005, ISBN 978-1-4120-5466-9, ... The Western Xia was a Tangut kingdom in the north-west (Gansu and Shaanxi) area of China with its capital at Ningxia. The Tanguts, who called themselves the Mi-nyag, were a Buddhist people of Tibetan extraction who did not adopt Chinese civilization as readily as the other Tatar peoples ...
  2. The great state of white and high: Buddhism and state formation in eleventh-century Xia, Ruth W. Dunnell, University of Hawaii Press, 1996, ISBN 978-0-8248-1719-0, ... The founders also gave it a Tangut name, the Great State of White and High ...