नो एन्ट्री (२००५ चलचित्र)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नो एन्ट्री
नो एन्ट्री.jpg
नो एन्ट्री का पोस्टर
अभिनेता अनिल कपूर,
सलमान ख़ान,
फ़रदीन ख़ान,
लारा दत्ता,
बिपाशा बसु,
ईशा देओल,
बोमन ईरानी,
सेलीना जेटली,
समीरा रेड्डी
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) २६ अगस्त, २००५
देश भारत
भाषा हिन्दी

नो एन्ट्री २००५ में बनी हिन्दी भाषा का एक हास्य चलचित्र है। इसके निर्देशक अनीस बाज्मी और निर्माता बोनी कपूर हैं। इसमें मुख्य भुमिका में हैं - सलमान खान, अनिल कपूर, फ़रदीन खान, लारा दत्ता, सेलिना जेठली, ईशा देओल और बिपाशा बसु। समीरा रेड्डी विशेष भूमिका में हैं। यह चलचित्र को एक तमिल चलचित्र चार्ली चैपलिन पर आधारित है।

संक्षेप[संपादित करें]

किशन (अनिल कपूर) की पत्नी, काजल (लारा दत्ता) संदिग्ध विचारोंवाली होती ह और उसे हमेशा ये लगता है कि उसके पति का किसी अन्य महिला के साथ चक्कर चल रहा ह, यद्यपि वह अपनी पत्नी के प्रति बिल्कुल ईमानदार होता है और कभी भी उसे धोखा देने की नहीं सोच सकता। प्रेम (सलमान खान) की पत्नी, पूजा (ईशा देओल) उस पर बहुत भरोसा करने वाली होती है। प्रेम का बहुत सी सुंदर महिलाओं से चक्कर होता है और ऐसा लगता है की पूजा को इसके बारे में कुछ नहीं पता, लेकिन चलचित्र के अंत में वो बताती है की उसे अपने पति के सारे चक्करों के बारे में पता था, लेकिन इस आशा में कि वो सुधर जाएगा उसने कुछ नहीं बोला। किशन का एक मित्र सनी (फ़रदीन खान) उर्फ शेखर को अकस्मात ही एक लड़की संजना (सेलीना जेठली) से प्यार हो जाता है, जब वो आत्म्हत्या का प्रयास कर रहा होता है तब वो उसे अपनी कुछ सहेलियों कि सहायता से बचाती लेती है। किशन एक लड़की से मिलता है बॉबी (बिपाशा बसु) जो एक कॉल गर्ल होती है। बॉबी को प्रेम ने किशन से मिलने के लिय पूर्वनियोजित किया होता है, क्योंकी एक बार किशन ने प्रेम के उसकी एक महिलामित्र के साथ कुछ छायाचित्र (फ़ोटो) लिए होते हैं और वो उन छायाचित्रों को उसकी पत्नी को दिखाने कि धमकी दे रहा होता है। योजना ये होती है की किशन को उस लड़की बॉबी से प्यार हो जाएगा और फिर प्रेम ये देखना चाहता था की क्या किशन अपने इस संबंध को अपनी पत्नी से छिपा पाता है कि नहीं।

चरित्र[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

इस चलचित्र के संगीतकार थे, अनु मलिक

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

यह चलचित्र बहुत पसंद किया गया और ये २००५ का सबसे सफ़ल चलचित्र था। भारत में ही इसकी कुल कमाई ४४,८४,००,००० रू थी।

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकरण और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]