नेट रन रेट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
इन्हें भी देखें: Net Reproduction Rate

नेट रन रेट (NRR) क्रिकेट के खेल में प्रयोग की जाने वाली एक सांख्यिकी है। एक दिवसीय लीग प्रतियोगिता में टीम को विभाजित करने के लिए यह एक सामान्य प्रणाली होती है, जिस प्रकार फुटबॉल में "गोल अंतर" होता है वैसे ही इसका इस्तेमाल क्रिकेट में किया जाता है।

एक एकल खेल में नेट रन रेट, प्रति ओवर का वह रन रेट है जो उस मैच में टीम द्वारा अर्जित किया जाता है और उसमें से उनके खिलाफ बानाए गए प्रति ओवर रन रेट को घटा दिया जाता है।

चरण दर चरण व्याख्या[संपादित करें]

एक टीम का रन रेट (आरआर) उनके द्वारा खेले गए ओवरों से उनकी कुल रनों से विभाजित होता है। एक ओवर में छह गेंदे होती है, नेट रन रेट हिसाब के प्रयोजन के लिए प्रत्येक गेंद की एक ओवर में 1/6 गेंद के रूप में गणना की जाती है, हालांकि क्रिकेट संकेतन में आम तौर पर एक ओवर के एक गेंद के लिए .1 के रूप में व्यवहार किया जाता है।

इसलिए अगर एक टीम 50 ओवरों में 250 रन का स्कोर करती हैं तो उनका रन रेट \frac{250}{50} = 5 होगा. अगर वे 47.5 ओवर में समान स्कोर करते हैं तो उनका रन रेट \frac{250}{47\frac{5}{6}} \approx 5.226 होगा.

नेट रन रेट की अवधारणा में टीम के रन रेट से प्रतिद्वंदी के अंतिम रन रेट को निकाल देना शामिल है। केवल एक समस्या यह है कि यदि एक टीम को आउट कर दिया जाता है और इसमें सामना की गई गेंदों से उनके द्वारा किए गए स्कोर को विभाजित नहीं किया जाता; इसके बजाय ओवर के सम्पूर्ण कोटा का इस्तेमाल होता है (उदाहरणस्वरूप अंतरराष्ट्रीय एक दिवसीय के लिए 50 ओवर और ट्वेंटी20 मैच के लिए 20 ओवर).

आमतौर पर, लीग तालिका में टीमों की तुलना करने के लिए सम्पूर्ण सीज़न में रन और फेंके गए ओवरों की गणना की जाती है, जैसे निम्नलिखित सूत्र प्रदर्शित करते हैं-

\mbox{net run rate }=\frac{\mbox{total runs scored}}{\mbox{total overs faced}}-\frac{\mbox{total runs conceded }}{\mbox{total overs bowled}}

परिदृश्य[संपादित करें]

सभी परिदृश्य को प्रत्येक पक्ष की टीम के 50 ओवर के साथ अंतर्राष्ट्रीय एक दिवसीय नियम को लिया जाता है।

1. वह टीम जो पहले बल्लेबाजी करती है जीतती है

  • टीम ए पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने सम्पूर्ण 50 ओवर का इस्तेमाल कर 287-6 का लक्ष्य रखा. टीम बी निर्धारित लक्ष्य का पीछा करने में असमर्थ है, प्रारम्भिक विकटों के जल्दी ही गिर जाने से वे अपने 50 ओवरों में 243-8 रन ही बना पाई.
  • टीम ए का रन रेट है \frac{287}{50} = 5.74
  • टीम बी का रन रेट है \frac{243}{50} = 4.86
  • इस खेल के लिए टीम ए का एनआरआर (NRR) 5.74-4.86 = 0.88 है और मान लिया जाये कि यह मैच सीज़न का पहला मैच है तो लीग तालिका में इसका NRR 0.88 होगा.
  • इस मैच के लिए टीम बी का एनआरआर 4.86 − 5.74 = −0.88 होगा यदि यह मैच, सीज़न का पहला मैच है तो लीग तालिका में NRR -0.88 होगा.

2. वह टीम जो बाद में बल्लेबाजी करती है जीतती है

  • टीम ए पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने सम्पूर्ण 50 ओवर का इस्तेमाल कर 265-8 का लक्ष्य रखा. टीम बी ने सफलतापूर्वक लक्ष्य को हासिल कर लिया और सोलह गेंदें (50 ओवर का 2.4 गेंद) बाकी थे और आखिरी रन चौके की मदद से किया गया जिसके चलते उनका स्कोर 267-5 हो गया।
  • टीम ए का रन रेट है \frac{265}{50} = 5.30
  • टीम बी ने 47.2 ओवरों का सामना किया, इसलिए उनका रन रेट है \frac{267}{47.33} \approx 5.64
  • यह सोचते हैं कि टीम ए और टीम बी ने इससे पहले एक सीनारियो के रूप में एक मैच खेला था, तो टीम ए का नया रन रेट होगा \frac{287+265}{50+ 50}-\frac{243+267}{50+47.33} = \frac{552}{100}-\frac{510}{97.33} \approx 0.28

3. वह टीम जो पहली बल्लेबाजी करती है और ऑल आउट हो जाती है बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम जीतती है।

  • टीम ए ने पहले बल्लेबाजी की और 25.4 ओवरों में 127 रन के कुल स्कोर पर ऑल आउट हो गई। टीम बी ने 25.5 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर लक्ष्य को हासिल कर लिया, आखिरी रन सिंगल था जिससे वे 128 रन पर पहुंचे और मैच अपने नाम कर लिया।
  • टीम ए ने जितनी गेंदों का सामना किया उसके हिसाब से उनका रन रेट 127 / 25.667 = 4.95 (2dp) है चूंकि वे 50 ओवर पूरा खेल नहीं पाए और प्रतियोगिता के लिए सामना किए गए कुल ओवरों में इसे शामिल किया जाता है और टीम बी को 50 ओवर फेंकने का श्रेय दिया जाता है।
  • टीम बी ने वास्तव में एक धीमी गति से रन बनाए, लेकिन वे अपने विकेट बचाने में कामयाब रहे. इस प्रकार, केवल 25 .(5/6) ओवर को सीज़न टैली में जोड़ा जाएगा.

4. वह टीम जिसने बाद में बल्लेबाजी की और ऑल आउट हो गई। पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम की जीत हुई

  • टीम ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने 50 ओवर में 295-7 स्कोर खड़ा किया। टीम बी लक्ष्य के नजदीक भी नहीं पहुंच सकी और 35.4 ओवरों में केवल 184 रन बनाते हुए ऑल आउट हो गई।
  • द्वितीय परिदृश्य के रूप में, 295 रन और 50 ओवर टीम ए के टैली में जोड़ा जाएगा.
  • हालांकि, टीम बी ने केवल 35.4 ओवर का ही सामना किया, बावजूद इसके NRR गणना के लिए पूरे 50 को लिया जाएगा और टीम ए 50 ओवर का श्रेय दिया जाएगा.

5. दोनों ही टीमें ऑल आउट हो गई, इसीलिए पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को अंक मिले.

  • टीम ए पहले बल्लेबाजी करते हुए 24 ओवरों में बड़ी मुश्किल से 117 रन बनाने में ही कामयाब होती है। जबकि टीम बी उनसे भी थोड़ा कम रन ही बना पाती है और 23.3 ओवर में 112 रन ही बना पाती है।
  • इस मामले में, सीज़न के लिए दोनों टीमों को 50 ओवरों का सामना करने की गणना की जाती है, जैसा कि उदाहरण 1 में बताया गया है।

6. खेल बराबरी पर समाप्त होता है

  • टीम के ऑल आउट होने के बावजूद टीम को पूर्ण ओवर का श्रेय दिया जाता है, जैसा कि उपरोक्त उदाहरणों में रन और ओवर को जोड़ा जाता है। इस प्रकार, नेट रन रेट हमेशा समान होगा.

7. संशोधित लक्ष्य के साथ बाधित मैच.

  • वे मैच जिसमें रुकावट के कारण ओवरों को कम कर दिया जाता है, उन संशोधित लक्ष्यों का इस्तेमाल नेट रन रेट की गणना में किया जाता है।
  • उदाहरण के लिए, 50 ओवरों के विश्व कप के पहले दौर के मैच में टीम ए 33.5 ओवर में कुल 165 रन ही बना पाती है और ऑलआउट हो जाती है।
  • टीम बी 120-0 रन पर खेल रही होती है लेकिन बारिश की वज़ह से खेल को रोक दिया जाता है।
  • छह ओवर की कटौती किया जाता है और लक्ष्य को 150 कर दिया जाता है जिसे टीम बी 2 विकेट के नुकसान पर 26.2 ओवर में आसानी से पूरा कर लेती है।
  • चूंकि लक्ष्य को संशोधित किया गया था, इसीलिए 6 ओवर को काट दिया गया था और टीम ए को इस स्कोर तक सीमित करते हुए कुल 44 ओवरों के बाद 149 रन किया गया इसीलिए उनका रन रेट है = \frac{149}{44} \approx 3.39. हालांकि टीम बी के रनरेट की सामान्य रूप में गणना की गई: \frac{150}{26.33} \approx 5.70.
  • टीम ए के लिए मैच एनआरआर की गणना करने पर हमें 3.39 - 5.70 = -2.31 मिलता है। टीम बी का NRR है: 5.70 - 3.39 = 2.31.

8. खारिज हुए खेल को परिणामरहित के रूप में दर्ज किया जाता है।

  • खारिज हुए खेल की गणना नहीं की जाती, जिस समय भी खेल रूक जाता है तो वैसे मैचों के स्कोर को एनआरआर गणना में शामिल नहीं किया जाता.

संदर्भ[संपादित करें]