निर्वात आसवन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
डाइमिथाइल सल्फॉक्साइड निर्वात में आमतौर पर 189 °C पर उबलता है, जबकि यह जुड़े हुए ग्राहक मे 70 °C पर संधनित होता है।

निर्वात आसवन, एक आसवन प्रक्रिया है जिसके अन्तर्गत आसुत होने वाले तरल मिश्रण के ऊपर के दाब को इसके वाष्प दाब से कम कर दिया जाता है (आमतौर पर वायुमंडलीय दाब से कम) जिसके कारण सबसे अधिक वाष्पशील द्रवों (जिनका क्वथनांक सबसे कम होता है)का वाष्पीकरण होता है। यह आसवन विधि इस सिद्धांत पर कार्य करती है कि क्वथन (उबलना) तब संभव होता है जब किसी तरल का वाष्प दाब, परिवेश के दाब से अधिक होता है। निर्वात आसवन विलयन को गर्म करके या बिना गर्म करके किया जा सकता है।