नारायण जगन्नाथ माध्यमिक विद्यालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नारायण जगन्नाथ माध्यमिक विद्यालय कराची में स्थित सिंध का पहला सरकारी विद्यालय है। इसकी स्थापना अक्टूबर १८५५ में ६८ छात्रों के साथ की गई थी। मूल भवन को वर्तमान भवन से १८७६ में बदल दिया गया था।

मार्च १९१६ में, विद्यालय में ४७७ विद्यार्थी थे, जिनमें से ३५० हिन्दू, ३२ ब्राह्मण, १० जैन, १२ मुसलमान, ६६ पारसी और सात भारतीय यहूदी थे।

उल्लेखनीय भूतपूर्व छात्रों में जमशेद नूस्सरवांजी मेहता हैं, जो १९६१ में कराची के पारिषद निर्वाचित हुए और फिर १९२२ में परिषद के अध्यक्ष चुने गए। १९३३ में वे कराची के नगराध्यक्ष (मेयर) बनें जब कराची नगर निगम का गठन हुआ था।

संदर्भ[संपादित करें]

  • सिंध प्रांत का गजट, बी भाग १, १९१९, कराची ज़िला (पृ. ३७)