नंदूरबार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नंदुरबार
—  शहर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य महाराष्ट्र
ज़िला नंदुरबार
जनसंख्या 94,365 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 210 मीटर (689 फी॰)

Erioll world.svgनिर्देशांक: 21°22′N 74°15′E / 21.37°N 74.25°E / 21.37; 74.25 नंदूरबार महाराष्ट्र का एक शहर है। यह नंदुरबार जिला मुख्यालय भी है। यह आदिवासी पावड़ा नृत्‍य के लिए प्रसिद्ध है। इस जिले को धूले जिले से पृथक कर 1 जुलाई 1998 में गठित किया गया था। 5055 वर्ग किमी. में फैला यह जिला नंदुरबार, नवापुर, अक्कलकुवा, तलोदा और शहादा ताल्लुकों में बंटा हुआ है। यहां का तोरणमल हिल स्टेशन पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है। साथ ही तोरणमल सिटी टेंपल, प्रकाश, दत्तात्रेय मंदिर, हिडिंबा का जंगल, मछिन्द्रनाथ गुफा, पुष्पदंतेश्वर मंदिर, चीनी मिल, वालहेरी तलोडा, सतपुड़ा की पहाड़ियां और अक्का रानी यहां के अन्य प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं, जिन्हें देखने के लिए लोग नियमित रूप से आते रहते हैं।

भूगोल[संपादित करें]

नंदुरबार की स्थिति 21°22′N 74°15′E / 21.37°N 74.25°E / 21.37; 74.25[1] पर है। इसकी औसत ऊंचाई है 210 मीटर (688 फुट).

उद्योग[संपादित करें]

नंदुरबार कपास, गेहूँ, तीसी, अलसी तथा इमारती लकड़ियों की मंडी है। यहाँ का प्रमुख उद्योग रोसा से तेल निकालना है। तेल पेरने, चमड़ा कमाने (चर्मशोधन), बिनौला निकालने, हाथकरघा से वस्त्र बनाने तथा लकड़ी चीरने के उद्योग भी नंदुरबार में होते हैं। 17 वीं शताब्दी में यह एक संपन्न नगर था।

प्रमुख आकर्षण[संपादित करें]

तोरणमल[संपादित करें]

सतपुड़ा़ की पहाड़ियों के बीच में स्थित तोरणमल नंदुरबार जिले का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। समुद्र तल से 4793 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह स्थान शांत वातावरण में समय गुजारने के इच्छुक पर्यटकों को बहुत रास आता है। इस पठारी क्षेत्र में दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर एक नदी बहती है। नदी के उत्तर में कमल पुष्पों से भरी एक सुंदर झील है। तोरणमल में पूरे साल शीतल और लुभावना मौसम रहता है। प्राकृतिक खूबसूरती से समृद्ध इस स्थान में विविध जीव जन्तु और वनस्पतियों को देखा जा सकता है। तोरणमल नंदुरबार से करीब 76 किमी. की दूरी पर है।

यशवंत झील[संपादित करें]

यह खूबसूरत झील नंदुरबार जिले के तोरणमल के निकट स्थित है। यशवंत राव चह्वान के नाम पर इस झील का नाम यशवंत पड़ा है। यशवंत राव एक जमाने में यहां आए थे। पिकनिक मनाने और बोटिंग का आनंद लेने के लिए यशवंत झील एक आदर्श जगह मानी जाती है।

सीता खाई[संपादित करें]

सीता खाई नंदुरबार जिले के तोरणमल के निकट ‍‍सातपुडा़ पर्वत श्रृंखलाओं के मध्य में स्थित है। बरसात के मौसम में सीता खाई का खूबसूरत झरना जीवंत हो उठता है। सीता खाई सीधा काही का परिष्कृत रूप है जिसका अर्थ सपाट घाटी होता है।

खाड़की प्वाइंट[संपादित करें]

खाड़की प्वाइंट तोरणमल का एक मनोरम स्थान है। ट्रैकिंग के लिए यह स्थान एक उत्तम बेस माना जाता है। यहां से कमल झील और सनसेट प्वाइंट के सुंदर नजार देखे जा सकते हैं।

बिलगांव[संपादित करें]

बिलगांव नंदुरबार जिले का एक जनजातीय गांव है। उदय नदी पर बना 9 मीटर ऊंचा जलप्रपात यहां का मुख्य आकर्षण है। जलप्रपात के शिखर पर एक छोटा बांध बना हुआ है, जिसे स्वयंसेवी मजदूरों और एसोसिएशन फोर इंडिया डेवलपमेंट के सौजन्य से बनवाया गया था।

झारली[संपादित करें]

झारली नंदुरबार जिले का एक जंगली इलाका है। इस स्थान का मुख्य आकर्षण एक जलप्रपात है जिसे यहां के स्थानीय लोग झारनी नाम से जानते हैं। शांत वातावरण में कुछ समय व्यतीत करने के लिए यह एक बेहतरीन स्थान माना जाता है। नंदुरबार से कार, बस या टैक्सी द्वारा यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।

पादलपुर[संपादित करें]

शाहद तहसील का यह गांव भगवान कृष्ण को समर्पित मंदिर के लिए लोकप्रिय है। इस मंदिर की खास विशेषता यह है कि यहां स्थापित भगवान कृष्ण की मूर्ति के आठ हाथ हैं। भारत में इस प्रकार की मूर्ति वाले भगवान कृष्ण का यह दूसरा मंदिर है।

प्रकाश[संपादित करें]

प्रकाश नंदुरबार जिले का लोकप्रिय तीर्थस्थल है। यह तीर्थस्थल तापी नदी के किनारे शहादा-तलोदा रूट पर पड़ता है। भगवान महादेव के मंदिरों के कारण इसे दक्षिण काशी से जोड़ा जाता है। भगवान केदारश्वर से संबंधित धार्मिक ग्रंथ केदारश्वर महात्म्य में इस स्थान का उल्लेख मिलता है।

शहादा[संपादित करें]

नंदुरबार जिले से 40 किमी. उत्तर पूर्व में शहादा नामक महत्वपूर्ण नगर स्थित है। उच्च शिक्षा प्रदाता पूज्य साने गुरूजी विद्या प्रसारक मंडल संस्थान यहां स्थित है। यह संस्थान आदिवासी और ग्रामीण लोगों को शिक्षित करने में अहम भूमिका अदा कर रहा है।

आवागमन[संपादित करें]

वायु मार्ग

औरंगाबाद विमानक्षेत्र नंदुरबार का निकटतम एयरपोर्ट है, जो देश के अनेक हवाई अड्डों से जुड़ा है।

रेल मार्ग

नंदुरबार रेलवे स्टेशन देश के अनेक शहरों से रेलमार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। ताप्ती गंगा एक्सप्रेस, नवजीवन एक्सप्रेस, हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस और पुरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस नंदुरबार से होकर जाती हैं। नवापुर और दोनडैचा रेलवे स्टेशन यहां के अन्य रेलवे स्टेशन हैं।

सड़क मार्ग

नंदुरबार सड़क मार्ग द्वारा महाराष्ट्र और पडोसी राज्यों के अनेक शहरों से जुड़ा है। राज्य परिवहन की बसें इस शहर के लिए चलती रहती हैं।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Falling Rain Genomics, Inc - Nandurbar