द लाइटनिंग थीफ़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
द लाइटनिंग थीफ़  
The Lightning Thief (Novel art).jpg
कवर
लेखक रिक रिओर्डन
चित्र रचनाकार जॉन रोको
देश अमेरिका
भाषा अंग्रेज़ी
शृंखला पर्सी जैक्सन एंड द ओलम्पियंस (पुस्तक १)
प्रकार फंतासी
प्रकाशक हायपरयोन बुक्स[2]
पफिन बुक्स
प्रकाशन तिथि जुलाई 1, 2005 (हार्डकवर)
अप्रैल 1, 2006 (पेपरबैक)[1]
मीडिया प्रकार प्रिंट, ध्वनि पुस्तक सीडी
पृष्ठ ३८४[2]
४००[1]
आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0786856297[2]
ओ॰सी॰एल॰सी॰ क्र॰ 60786141
उत्तरवर्ती द सी ऑफ मॉन्सटर्स

द लाइटनिंग थीफ़ (अंग्रेज़ी: The Lightning Theif) २००५ में यूनानी दंतकथा पर आधारित फंतासी रोमांचक पुस्तक है जिसे रिक रिओर्डन द्वारा लिखा गया है. यह पर्सी जैक्सन एंड द ओलम्पियन्स शृंखला की पहली पुस्तक है जों नए युग के बारह वर्षीय पर्सी जैक्सन की कहानी बताती है जब उसे पता चलता है की वह डेमीगॉड (आधा भगवान) है, अर्थात एक नश्वर औरत और यूनानी देवता पोसायडन का बेटा. पर्सी और उसके दोस्त एक सफर पर निकलते है ताकि यूनानी देवताओं, ज़्यूस, पोसायडन और हेडीस के बिच युद्ध को रोक सके.

द लाइटनिंग थीफ़ को २८ जुलाई २००५ को रिलीज़ किया गया था. इस पुस्तक की चार वर्षों में १२ लाख प्रतियाँ बिक चुकी है और यह द न्यू योर्क टाइम्स के बेहतरीन बिकाई वाली बच्चों की पुस्तक रही है. इस पुस्तक पर आधारित 'पर्सी जैक्सन एंड द ओलम्पियन्स: द लाइटनिंग थीफ़ नाम की फ़िल्म १२ फ़रवरी २०१० को रिलीज़ की गई थी. इसका अगला भाग द सी ऑफ मॉन्सटर्स है.

संक्षेप[संपादित करें]

द लाइटनिंग थीफ़ यूनानी दंतकथाओं के कुछ तथ्य आधुनिक युग में प्रयोग करती है और इसे गतिमान तरीके से मज़ाकिया अंदाज़ में लिखा गया है.

कहानी[संपादित करें]

पर्सी जैक्सन एक बारह साल का लड़का है जिसे डिस्लेक्सिया (ठीक से न पढ़ सकने/ ध्यान न लगने) की बीमारी है जिसके चलते उसे छः विद्यालयों में से निकला जा चूका है और अब वह यांसी अकादमी में पढ़ रहा है. विद्यालय के मेट्रोपोलिटन कला संग्रहालय में शैक्षणिक दौरे के दौरान उसकी अलजेब्रा की शिक्षिका मिसेस डोड्स पर्सी पर हमला कर देती है और और खुलासा करती है की वह तिन फ्युरियों में से एक है. पर्सी की माँ सैली उसके सौतेले पिता गेब को अभद्र व्यवहार को इसीलिए सहन करती है क्योंकि गेब उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करता है. गेब से दूर जाने के लिए सैली पर्सी को लेकर तिन दिनों की छुट्टी मानाने लॉन्ग आइलैंड ले जाती है.

पहली रात को पर्सी के करीबी मित्र ग्रोवर अंडरवुड, जों एक सेटर होता है, उसे आगाह करता है की फ्युरियाँ उसे मारना चाहती है. सैली उन्हें लेकर कैम्प हाफ ब्लड ले जाती है जहां सभी डेमीगॉड प्रशिक्षण लेते है. रास्ते में उनपर एक मिनोटोर (आधा बैल और आधा इंसान) हमला कर देता है और सैली का गला पकड़ लेता है. वह सुनहरी रौशनी के साथ गायब हो जाती है पर पर्सी और ग्रोवर मुश्किल से बच कर कैम्प पहुँच जाते है वहां पर्सी बेहोश हो जाता है और उसे कुछ दिन कैम्प हाफ ब्लड में रख कर देख भाल की जाती है.

पर्सी को हर्मीस के घर (हर १२ ओलंपियन देवता का खुद का एक घर होता है) लुक केस्टेलियन की देखरेख में रखा जाता है जों घर का मुखिया है. हर्मीस की घर वह जगह है जहा हर उस बच्चे को रखा जाता है जिसके माता-पिता का पता ना हो. क्लारिसी, एरिस की बेटी पर्सी को शौचालय में डराने की कोशिश करती है पर वहां मौजूद पानी पर्सी की मदद के लिए आ जाता है और क्लारसी के साथियों समेत ऐनाबेथ को भीगा देता है. बदला लेने के लिए क्लारसी और उसके साथी झंडा हथियाने के खेल में पर्सी पर हमला कर देते है. वह पास ही बह रहे पानी में कदम रखता है और उसके सारे ज़ख्म भर जाते है और पोसायडन का त्रिशूल उसके सर पर चमकने लगता है जिससे पता चल जाता है की वह पोसायडन का बेटा है. बदकिस्मती से इसका अर्थ यह है की पोसायडन ने अपना वादा तोड़ दिया जों उसने, हेडीस और ज़्यूस ने द्वितीय विश्व युद्ध के बाद किया था जिसके अनुसार उन्होंने किसी भी महिला के साथ सम्बन्ध ना बनाने की कसम खाई थी क्योंकि तीनों के बच्चे काफ़ी तकद्वर बन सकते है और एक समस्या का रूप ले सकते है. इसका उदाहरण देने के लिए कायरन थालिय ग्रेस की कहानी सुनाता है जों ज़्यूस की बेटी थी. पर्सी को एक सफर दिया जाता है जिसके तहत उसे ज़्यूस की बिजली वापस धढूंडनी है जों कायरन, पर्सी के शिक्षक, को लगता है हेडीस ने चुराई है. परन्तु ज़्यूस को लगता है की पर्सी ने पोसायडन के कहने पर उसे चुराया है.

पर्सी के पास केवल दस दिन है जिसमे उसे ग्रीष्म सत्र से पहले बिजली को ढूँढना है और उसे मदद के लिए लुक उड़ने वाले जूते देता है और पर्सी ऐनाबेथ और ग्रोवर के साथ सफर पर निकल पड़ता है. पर्सी पश्चिम की ओर जाने का तय करता है जहां होलीवुड, लोस एंजलिस में नर्क जाने का रास्ता है.

उनका सफर आसान नहीं होता और हर कदम पर उन्हें यूनानी दानवों का सामना करना पड़ता है. उन्हें सफर में फ्युरियों और मेड्युसा का सामना करना पड़ता है. पर्सी मेड्युसा का सर काट कर उसे देवताओं को भेज देता है. उन्हें डेन्वर में एरिस, युद्ध का देवता, मिलता है जों पर्सी को बताता है की उसकी माँ ज़िंदा है और उससे आग्रह करता है की वह उसकी ढाल भी ले आए जों एक बंद पड़े वाटर पार्क में है. ढाल लेने के बाद तीनों जैसे तैसे लोस एंजलिस पहुँचते है और "डीओए रिकॉर्डिं स्टूडियो" के भीतर छिपे नर्क के रास्ते से चले जाते है. नर्क में केवल मरे हुए लोग ही जा सकते है इसीलिए वे वहां खड़े चेरन को स्वर्ण मुद्रा देकर खरीद लेते है ताकि स्टेक्स नदी पार करके नर्क में पहुँच सके.

हेडीस के महल के पास पहुँचने पर लुक के दिए हुए जूते ग्रोवर को टार्टारस के गड्ढे की ओर खींचने लगते है पर वह उन्हें उतार कर बचने में कामियाब होता है. पर्सी हेडीस से रूबरू होता है जिसे भी यह लगता है की पर्सी ने ने उसकी हेम चुरा ली है जिसके ज़रिये हेडीस छाया बनकर कहीं भी जा सकता है. पर्सी को पता चलता है की बिजली अपने आप उसकी बैग में प्रकट हो गई है और वह अपने दोस्तों के साथ नर्क से भाग निकलता है पर अपनी माँ को वापस लाने में असफल होता है. वह बाद में एरिस को लड़ाई में हरा देता है.

पर्सी बाद में हारे हुए एरिस से हेम ले लेता है और सब कुछ देख रही फ्युरियों से हेडीस को हेम लौटने के लिए कहता है. पर्सी न्यू योर्क पहुँच कर इम्पायर स्टेट बिल्डिंग जाता है जिसके ६००वी मंज़िल पर ओलम्पस स्तिथ है. ज़्यूस बिजली ले लेता है और पर्सी वापस कैम्प पहुँच जाता है. लुक खुलासा करता है की उसने क्रोनोस के लिए बिजली चुराई थी और एक ज़हिरिला बिच्छू बुला कर पर्सी को डंक मरवा देता है जिसके कारण उसकी स्तिथि गंभीर हो जाती है. कायरान पर्सी को वापस ठीक कर डेटा है और वह एक नए विद्यालय में दाखिला ले लेता है. उसकी माँ भी वापस आ जाती है. एनाबेथ अपने पिता के पास चले जाती है और ग्रोवर एक "खोजकर्ता" बन कर पैन देवता को ढुंढने निकल जाता है. पर्सी घर पहुँच कर मेड्युसा का सर अपनी माँ को दे देता है जों उसका उपयोग करके गेब को पत्थर की मूर्ति में बदल देती है.

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Percy Jackson and the Olympians, Book One: The Lightning Thief Hyperion Books. Paperback. ISBN 0-7868-3865-5. Retrieved 2010-02-15.
  2. Oksner, Robert. "The Lightning Thief". Kidsreads. http://www.kidsreads.com/reviews/0786838655.asp. अभिगमन तिथि: 2009-09-01.