दिया खान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(दिया से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Deeyah Khan
दिया खान
पृष्ठभूमि की जानकारी
जन्मनाम दीपिका थथाल
जन्म 7 अगस्त १९७७ (१९७७-08-07) (आयु 36)
ओस्लो, नॉर्वे
शैली पॉप, विश्व, इलेक्ट्रोनिका
व्यवसाय म्यूजिक प्रोडूसर, गायक, फिल्म निर्माता
सक्रिय वर्ष १९८५ – वर्तमान
रिकॉर्ड लेबल सोनी बी एम जी-ग्राप्पा फोर्लग
जालपृष्ठ www.deeyah.com


दीया खान पंजाबी / पख्तून वंश की एक नर्विज्न गायक[1] , संगीतकार, फिल्म निर्माता और मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं. दिया को अक्सर " मुस्लिम मैडोना " भी कहा जाता है. यह शीर्षक उन्हें ब्रितानी प्रेस ने दिया था. [2] दिया महिलाओं के अधिकारों, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, और शांति की मुखर समर्थक हैं. वह महिलाओं से जुड़ी समस्याओं और सम्मान हत्या के खिलाफ आवाज उठाने के लिए माईस्पेस और फेसबुक का उपयोग करती हैं. दिया को उनके महिलाओं के अधिकार, शांति, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के संघर्ष और संगीत सेवा पर अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है.

जीवनी[संपादित करें]

जन्म और वंश[संपादित करें]

दिया ने ७ अगस्त १९७७ को नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में जन्म लिया. दिया के पिता थथाल-राजपूत जाति का हैं. जबकि उनकी मां पख्तूनों के दुर्रानी क़बीले से संबंध रखती हैं. दिया नॉर्वेजीयन अभिनेता आदिल खान की बड़ी बहन हैं. दया का जन्म नाम दीपिका थथाल है. उनका यह नाम पूर्णिमा चावला ने रखा था, जो उर्दू और हिंदी के लेखक स्वर्गीय हरचरण चावला की पत्नी थी.वह दिया के जन्म के समय उनके पड़ोसी थे.

संगीत[संपादित करें]

दिया एक कलात्मक परिवार से सम्बन्ध रखती हैं. दिया के बचपन से उनके पिता नॉर्वे में सांस्कृतिक गतिविधियों की एक सर्जक की गई हैं. उन्हों ने भारतीय शास्त्रीय संगीत को नॉर्वे में लोकप्रिय बनाने के लिए बहुत अधिक काम क्या है. संगीत और कला में अपने पिता की गतिविधियों की वजह से दिया ने बचपन से ही संगीत सीखना शुरू कर दिया था. दिया ने बहुत मेहनत की और जल्दी ही संगीत क्षेत्रों में उनका नाम पहचाना जाने लगा. दिया ने साढ़े सात साल की उम्र में नार्वेजियन टीवी पर "रघुपति राघव राजा राम" भजन गा कर अपने कैरियर की शुरुआत की. दिया पटियाला घराने के उस्ताद बड़े फ़तेह अली ख़ान और सारंगी वादक उस्ताद सुल्तान खान की शिष्य हैं.

संगीत कैरियर[संपादित करें]

१९९० में दिया ने पाकिस्तानी गायक उस्ताद बड़े फ़तेह अली ख़ान और नार्वे के विश्व प्रसिद्ध सैक्सोफोन वादक जान गार्बारेक के " राग एंड सागा " नाम के संयुक्त एलबम पर एक अतिथि गायिका के गाया. १५ वर्ष की उम्र में नॉर्वे की सबसे बड़ी रिकार्ड कंपनी " शिर्केली कुल्तुर वेर्क्स्तेद " ने दिया को रिकॉर्ड बनाने के लिए साइन किया. और " I Alt Slags Lys " के नाम से उनका १९९० में दिया ने पाकिस्तानी गायक उस्ताद बड़े फ़तेह अली ख़ान और नार्वे के विश्व प्रसिद्ध सैक्सोफोन वादक जान गार्बारेक के " राग एंड सागा " नाम के संयुक्त एलबम पर एक अतिथि गायिका के गाया. १५ वर्ष की उम्र में नॉर्वे की सबसे बड़ी रिकार्ड कंपनी " शिर्केली कुल्तुर वेर्क्स्तेद " ने दिया को रिकॉर्ड बनाने के लिए साइन किया. और " I Alt Slags Lys " के नाम से उनका. [3] यह एलबम पूर्वी और पश्चिमी संगीत का सुंदर संयोजन था, और इसकी तैयारी में नॉर्वे के प्रसिद्ध संगीतकारों के अलावा पाकिस्तान के तबला वादक स्वर्गीय उस्ताद शौकत हुसैन खान और भारत के सारंगी वादक उस्ताद सुल्तान खान ने भाग लिया था. [4] दया का दूसरा एलबम सितंबर १९९५ में " बी एम जी " (BMG ) नाम की अंतरराष्ट्रीय रिकॉर्डिंग कंपनी ने दिया के जन्म नाम दीपिका के तहत जारी किया.[5] इस एलबम की तैयारी में नार्वेजियन संगीत निर्माता Tor Erik Hermansen , Tommy Tee और ब्रिटिश संगीत निर्माता Nick Sillitoe ने भाग लिया. इसके बाद दिया ब्रिटेन चली गईं. [6]

ब्रिटेन में दिया का सिंग्ले " प्लान ऑफ़ माई ओन "(Plan of My Own) था जो ब्रिटेन के टीवी चैनल दी बॉक्स के टॉप ३० में पहले स्थान पर आया. दिया का अगला सिंग्ले " वट्ट विल इट बी " (What WIll It Be) ब्रिटेन में रहने वाले रूढ़िवादी मुस्लिम क्षेत्रों की वजह से बहुत विवादास्पद हो गया. [7] दंगों के डर और धमकी भरे पत्र मिलने के कारण ब्रिटेन में एशियाई टीवी B4U, ज़ी टीवी और अन्य चैनलों ने दिया के वीडियो के प्रसारण पर रोक लगा दी. दिया के खिलाफ अभियान अभी यहाँ पर खत्म नहीं हुआ बल्कि यह अफ़वाह भी फैलाई गई कि क्योंकि दिया का जन्म नाम दीपिका थथाल है इसलिए दिया एक हिंदू लड़की है जो प्रसिद्ध होने के लिए मुसलमान होने का नाटक कर रही है.[8] दिया इन परिस्थितियों से निराश हो कर अमेरिका के शहर अटलांटा चली गईं, [9] जहां २००७ में उन्हों ने दो बार ग्रैमी पुरस्कार प्राप्त करने वाले पियानू वादक "बोब जमेस" ( Bob James ), प्रसिद्ध समूह " दी पुलिस " ( The Police ) के ग्रैमी पुरस्कार प्राप्त करने वाले गिटार वादक "अनद्य सुम्मेर्स" ( Andy Summers ) और नॉर्वे के तुरही वादक " नील्स पेट्टर मोल्वाएर " ( Nils Petter Molvær ) के सहयोग से "अत्रक्सिस " (Ataraxis) नाम क एलबम जारी किया. [10] यह एलबम भारतीय शास्त्रीय संगीत, पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान के लोक संगीत और " इलेक्ट्रोनिका " का संयोजन था. इस प्रयोगिक एलबम को संगीत के क्षेत्रों में बहुत सराहना मिली. [11] कई कलाकारों, संगीतकारों और संगीत निर्माता ने दिया के संगीत से सहायता ली है, और दिया के संगीत के छोटे टुकड़ों को अपने संगीत से संबंधित परियोजनाओं में इस्तेमाल किया है.इनमें नील्स पेट्टर मोल्वाएर, सेब तैलोर, नूवाल,बोने क्रुशेर, लीकूड स्त्रन्गेर, मसाला डोसा, मार्क स्मिथ, फुतिलिटी ओर्चेस्त्र, गुय चम्बेर्स, पुल ओकेंफोल्ड और काया प्रोजेक्ट के नाम शामिल हैं.

अब दिया ने व्यावहारिक रूप से संगीत छोड़ दिया है, उन्हों ने खुद मंच पर प्रदर्शन भी बंद कर दिया है. इस के बजाय वह खुद को मंच के पीछे रखते हुए कई परियोजनाओं पर काम कर रही हैं. उनकी कोशिश है कि वह उन लोगों की आवाज़ बनें जिन्हें अपने व्यक्त का अवसर उपलब्ध नहीं है.

सिस्टरहुड(Sisterhood)[संपादित करें]

दिया ने २००७ में सिस्टरहुड के नाम से एक नेटवर्क स्थापित किया,[12] जिसका उद्देश्य पश्चिमी देशों में रहने वाले मुसलमान महिला कलाकारों और संगीतकारों को एक ऐसा मंच प्रदान करना था. जहाँ उनकी रचनात्मक और कलात्मक क्षमताओं को सुधार लाने और उसके व्यक्त करने केलिए अवसर उपलब्ध हूँ. सिस्टरहुड इसके अलावा मुस्लिम महिलाओं को पश्चिमी समाज में पैदा होने वाले मुद्दों, जैसे महिलाओं के अधिकार, नस्लवाद, प्यार, सेक्स, और ११ सितंबर के बाद की दुनिया जैसे विषयों पर चर्चा के अवसर भी प्रदान करता है. सिस्टरहुड ने २००८ में " सिस्टरहुड ऑनलाइन म्क्स टेप " जारी किया था. इस टेप में ब्रिटेन में रहने वाली, विभिन्न मुस्लिम देशों से संबंध रखने वाली महिला गायकों और कवियों ने भाग लिया.

लिस्सें तो दी बन्नेद (Listen To The Banned)[संपादित करें]

दिया ने फ्रीमुज़ (FREEMUSE) के सहयोग से " लिस्सें तो दी बन्नेद " नाम के एलबम से उन गायकों को प्रस्तुत किया है, जिनकी आवाज़ को ख़ामोश कर दिया गया था. [13] इस संग्रहण में मध्य पूर्व, अफ्रीका और एशिया के उन कलाकारों को प्रस्तुत किया गया है जो अपने देशों में प्रतिबंध का शिकार हैं, राज्य या गैर राज्य उत्पीड़न के कारण विदेशी देशों में शरण ले चुके हैं या जेलों के अंदर बंद पड़े हैं. [14] [15] इस एलबम ने जहां दिया को शोषण के शिकार कलाकारों के समर्थक के रूप में प्रस्तुत किया है, वहीं यह एलबम यूरोप के विश्व संगीत चार्ट पर कई महीनों तक छठे स्थान पर विराजमान रहा. [16]

फिल्म निर्माण[संपादित करें]

दिया अभिमान के नाम पर किए जाने वाली महिलाओं की हत्या के विषय पर जागरूकता पैदा करने के लिए कई सालों से काम कर रही हैं. वह पिछले कुछ समय से इस विषय पर एक दस्तावेज़ी फ़िल्म बना रही हैं. यह फिल्म पूरी होने को है और २०१२ मैं इसका प्रदर्शन संभावित है.

सम्मान[संपादित करें]

  • १९९६ में नॉर्वे के शाइब्लेर्स लगत ने दिया को विदेशी और नार्वेजियन संस्कृति के बीच संगीत से पुल और सहिष्णुता का माहौल बनाने की कोशिश पर पुरस्कार दिया. [17]
  • २००६ में नीदरलैंड की राजधानी ऐम्स्टर्डैम के म्युनिसिपल संग्रहालय में कला प्रदर्शनी का भाग के रूप में दिया का एक संगीत वीडियो इस्तेमाल किया गया था. यहां अग्रणी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतकारों, आलोचकों और कलाकारों ने समकालीन दृश्य संस्कृति में प्रमुख मुद्दों पर चर्चा करनी थी.
  • २००९ में दीया को जिम्बाब्वे के नाटककार " कोंत म्हल्न्गा "(Cont Mhlanga), बेलारूस के " बेलारूस फ्री ठेअतरे " (Belarus Free Theatre) के साथ अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार " फ्रीदोम तो क्रेअते प्रिजे " (Freedom to Create Prize) से सम्मानित किया गया. दीया को यह पुरस्कार " वत विल इत बे " (What Will It Be) नाम के संगीत वीडियो और " सिस्टरहुड " (Sisterhood) पर दीया गया था.[18]

विविध[संपादित करें]

  • दिया अभिमान के नाम पर हत्या के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय अभियान (International Campaign Against Honour Killings) की मुखर समर्थक हैं.
  • दिया ब्रिटेन के शहर बर्मिंघम में "आश्रम" नाम के महिलाओं के आश्रय की संरक्षक हैं.
  • दिया " फ़रहत तूंच " ( Ferhat Tunç ) नाम के कुर्द गायक के लिए तुर्की के प्रधानमंत्री से " फ्रीमुज़ " द्वारा की जाने वाली अनुरोध की समर्थक हैं. [19]
  • दिया महिला अधिकार के लिए अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन, ईरान में महिलाओं की मुक्ति की घोषणा पत्र की एक समर्थक हैं. [20]
  • दीया " ईरान एकजुटता आंदोलन " (Iran Solidarity Movement) की समर्थक हैं. [21]
  • दिया " सभी के लिए एक कानून अभियान " की समर्थक और हस्ताक्षरकर्ता हैं ( आस्था आधारित और शरीयत परिवार कानून नहीं चाहिए ).
  • दीया "अमेरिकी सैनिक शासन और इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ तीसरे शिविर के घोषणा पत्र " (Manifesto of the Third Camp Against US Militarism and Islamic Terrorism) की समर्थक और हस्ताक्षरकर्ता हैं. [22]
  • दिया मरियम नमाज़ी ( Maryam Namazie ) के "सभी कला के लिए एक कानून" (One Law For All Art) प्रतियोगिता की न्यायाधीश थीं. दिया के साथ अन्य न्यायाधीशों में दार्शनिक " आय सी ग्रेलिंग (AC Grayling) और पत्रकार और स्तंभकार " पोली तोय्न्बी (Polly Toynbee) के नाम शामिल थे. [23]

संदर्भ[संपादित करें]

बाह्य कड़ीयां[संपादित करें]