दरार (भूविज्ञान)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सुएज़ की खाड़ी एक भूवैज्ञानिक दरार में समुद्री पानी के भर जाने से बनी थी

दरार (अंग्रेज़ी: rift, रिफ़्ट) भूविज्ञान में ऐसे क्षेत्र को कहते हैं जहाँ प्लेट विवर्तनिकी (भौगोलिक तख़्तो की चाल) के कारण पृथ्वी के भूपटल (क्रस्ट) और स्थलमंडल (लिथोस्फ़ेयर) खिचने से फटकर अलग हो रहा हो। इस से अक्सर धरती पर वहाँ दरार घाटियाँ बन जाती हैं। इनमें अफ़्रीकामध्य पूर्व की महान दरार घाटी एक उदाहरण है जो अफ़्रीकी तख़्ते के दो भागों में टूटकर अलग होने की प्रक्रिया से बन गई है।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. When Did Plate Tectonics Begin on Planet Earth?, pp. 285, Geological Society of America, 2008, ISBN 9780813724409, ... Hence, continental rifts are part of the supercontinent cycle and thus part of plate tectonics ...