तुर्कमेनाबात

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
तुर्कमेनाबत का हवाई अड्डा

तुर्कमेनाबत (तुर्कमेनी: Türkmenabat, रूसी: Түркменабат) तुर्कमेनिस्तान के लेबाप प्रांत की राजधानी है। सन् २००९ की जनगणना में इसकी आबादी लगभग २,५४,००० थी। इस शहर को पहले चारझ़ेव (Чәрҗев, Charzhew) या 'चारजू' (چهارجوی) बुलाया जाता था (जिसका अर्थ फ़ारसी में 'चार नदियाँ या नहरें' है, इसमें 'झ़' के उच्चारण पर ध्यान दें)।

विवरण[संपादित करें]

तुर्कमेनाबत उज़बेकिस्तान की सीमा के नज़दीक आमू दरिया के किनारे बसा हुआ है। हालांकि यह अब एक आधुनिक औद्योगिक शहर है, इसका इतिहास २,००० साल से भी अधिक है। किसी ज़माने में यह आमूल (Amul) नाम का शहर हुआ करता था और कहा जाता है कि आमू दरिया का नाम भी शायद इसी शहर पर रखा गया हो। यह ऐतिहासिक रेशम मार्ग पर भी एक महत्वपूर्ण पड़ाव था। मध्यकाल में यह सदियों तक बुख़ारा ख़ानत का हिस्सा रहा और फिर रूसी साम्राज्य में शामिल कर लिया गया। १८८६ में रूसियों ने यहाँ से ट्रांस-कैस्पियन रेलवे नाम का रेलमार्ग निकला और बहुत से रूसी यहाँ आकर बस गए। उन्होंने अपनी बस्ती का नाम नया चारजू रखा। नया शहर वहीं से शुरू हुआ।[1] सोवियत संघ के बनाने के बाद उसकी सरकार ने उज़बेकों में स्वतंत्रता की तीव्र भावना को देखते हुए इस शहर को नवगठित तुर्कमेन सोवियत गणतंत्र में शामिल किया (जो सोवियत संघ का एक प्रांत था)। उज़बेक प्रभाव के कारण तुर्कमेनाबत शहर में उज़बेकों की बहुतायत रही है और वे अब इस शहर की आबादी के ७०% हैं।

तुर्कमेनाबत अपने बाज़ारों के लिए प्रसिद्ध है, जिनमें गोक बाज़ार, दुनिया बाज़ार और मरकज़ी बाज़ार सबसे जाने-माने हैं। दुनिया बाज़ार में चीन, तुर्की, उज़बेकिस्तान और रूस से लाया गया माल बिकता है। तुर्कमेनाबत से ७० किमी दक्षिण पर पूर्वी काराकुम रेगिस्तान शुरू हो जाता है और वहाँ रेपेतेक प्राकृतिक अरक्षित क्षेत्र स्थित है, जो अपने ज़ेमज़ेन (zemzen) नामक रेगिस्तानी मगरमच्छों के लिए मशहूर है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Historical dictionary of Turkmenistan, Rafis Abazov, Scarecrow Press, 2005, ISBN 978-0-8108-5362-1, ... Turkmenabat was founded as a small village in 1886 and known as Charjou ...