तापानुशीतन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तापानुशीतन या 'अनीलन' या एनिंलिंग (Annealing) धातुकर्म और पदार्थ विज्ञान में एक प्रकार का ऊष्मा उपचार है। इसका उपयोग किसी वस्तु या पदार्थ में आवश्यक गुण (जैसे कठोरता, नम्रता आदि) लाने के लिए किया जाता है। इस प्रक्रिया में एक क्रान्तिक ताप से अधिक ताप तक वस्तु को गरम किया जाता है तत्पश्चात कुछ समय तक एक नियत ताप पर बनाए रखते हैं और अन्ततः नियंत्रित रूप में उसे ठण्डा कर दिया जाता है। तापानुशीतन का उपयोग तन्यता बढ़ाने, पदार्थ को मुलायम बनाने, पदार्थ में किसी कारण उत्पन्न प्रतिबलों को समाप्त करने, पदार्थ की संरचना को बदलने आदि के लिए किया जाता है।

तापानुशीतन का उपयोग निम्नलिखित में से किसी एक या अधिक लक्ष्यों की पूर्ति के लिए किया जाता है-

  • रासायनिक साम्य : सूक्ष्म क्रिस्टलीय संरचनात्मक त्रुटियों को समाप्त करने के लिए
  • संरचनात्मक साम्य : मेटास्टेबल फेजेज को बदलने के लिए
  • यांत्रिक साम्य : वस्तु के आन्तरिक प्रतिबलों (stresses) को समाप्त करने हेतु

तापानुशीलन का उपयोग मुख्यतः इस्पात और ताँबे पर किया जाता है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]