ताई पर्वत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ताई पर्वत की एक ढलान पर एक मंदिर का दृश्य

ताई पर्वत (चीनी: 泰山, ताई शान; अंग्रेजी: Mount Tai) चीन के पूर्वी शानदोंग प्रान्त में ताईआन शहर के उत्तर में स्थित एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व वाला पहाड़ है। यह चीन के 'पांच सबसे पवित्र पर्वतों' में से एक है और ताओ धर्म में इसकी बहुत अहमियत है। कम-से-कम पिछले ३,००० वर्षों से इस पहाड़ पर पूजा की जा रही और और आज भी इसकी बहुत मान्यता है।[1] इसकी ऊँचाई १,५३२ मीटर (५,०२९ फ़ुट) है।

नाम का अर्थ[संपादित करें]

'ताई' (泰) शब्द का मतलब चीनी भाषा में 'शांत' या 'शान्ति' होता है। इसके इर्द-गिर्द बसे 'ताईआन' शहर का नाम इसके नाम 'ताई' (泰) और 'आन' (安) शब्द को जोड़कर बना है। 'आन' का भी अर्थ 'शान्ति' या 'स्थिरता' ही निकलता है, जिसके आधार में एक कहावत है कि 'अगर ताई पर्वत शांत है, तो पूरा देश भी शांत है'।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. China's sacred sites, Shun-xun Nan, Nan Shunxun, Beverly Foit-Albert, Himalayan Institute Press, 2007, ISBN 978-0-89389-262-3, ... At a height of 1545 meters above sea level, the tallest peak of Mount Tai rises 1360 meters above its surroundings ... among China's five major Taoist mountains ...