टैप्रोबेन द्वीप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
टैप्रोबेन द्वीप कि स्थिति।

टैप्रोबेन द्वीप एक एतिहासिक लग्ज़री होटल है जो एक पथरीले द्वीप पर श्रीलंका के वैलिंगमा के निकट स्थित है। यह एक विश्व विरासत स्थल किले से थोडी ही दूर टैप्रोबेन द्वीप पर स्थित है। तट से बस फर्लाग भर दूर यह छोटा सा द्वीप है (कुल ढाई एकड इलाके में फैला) लेकिन यह श्रीलंका का अकेला निजी स्वामित्व वाला द्वीप है। समूचा द्वीप एक होटल में परिवर्तित है। टैप्रोबेन का नाम इसलिए पडा क्योंकि यह सीलोन का प्राचीन यूनानी नाम है। इस द्वीप का आकार सीलोन (वर्तमान श्रीलंका) से मिलता-जुलता होने के कारण ही इसे यह नाम मिल गया। यह द्वीप फुर्सत के कुछ दिन बिताने के लिए दुनिया की सबसे सुंदर स्थानों में से एक माना जा सकता है। विवाह, पार्टियों व विशेष अवसरों के लिए भी यह एक उपयुक्त स्थान है।

इतिहास[संपादित करें]

इस द्वीप को सबसे पहले खोजा था स्वयं को नेपोलियन के जनरलों में से एक का वंशज बताने वाले काउंट दी माउनी-तलवंडे ने, जो चाय के सम्राट थॉमस लिप्टन के साथ पहली बार १९१२ में सीलोन आए थे। श्रीलंका की सुंदरता से वह इतना प्रभावित हुए कि पहले विश्व युद्ध के बाद फिर वहां आए अपने लिए एक सपनों की दुनिया खोजने। इसमें उन्हें दस वर्ष लगे। १९३० में उन्होंने इस द्वीप को पाया और यहां एक भवन बनवाया जिसकी बनावट, यूरोपीय शैली के दृष्टि से अनूठी थी और यह किसी क्रूज नौका के समान दिखता था। काउंट माउनी तीस वर्ष वहां रहे और उस दौरान उन्होंने दुनिया की कई जानी-माने व्यक्तियों की मेजबानी वहां की। मजेदार बात यह है कि उससे पहले इस द्वीप को स्थानीय कोबरा-डंप माना जाता था क्योंकि श्रीलंका में लोग सांपों को मारते नहीं हैं, इसलिए जितने भी कोबरा पकडे जाते थे उन्हें इस द्वीप पर छोड दिया जाता था। काउंट की मौत के बाद भी कई लोगों को यह अपनी ओर खींचता रहा। कुछ-कुछ समय के लिए कई लोगों ने इसे अपना घर बनाया। लेकिन धीरे-धीरे लोग इसे भूलने लगे। वर्ष १९९५ में इसके वर्तमान मालिक ने इसे अपने हाथ में लिया और आज इसे दुनिया के सबसे रोमांटिक बसेरों में से एक माना जाता है।

द्वीप पर बने होटल का वास्तुशिल्प और बनावट[संपादित करें]

टैप्रोबेन द्वीप का हवाई दृश्य।

द्वीप पर बने सफेद फर्श और लकडी की ऊंची छतों वाले अष्टभुजाकार होटल में पांच विशालकाय स्वीट हैं। हर स्वीट में समुद्र का सीधा दृश्य देने वाले बेडरूम के अलावा बैठक, बरामदा और बहुत खुला स्थान है। हर बेडरूम का अपना छज्जा है जहां से हिंद महासागर की विशालता का दृश्य दिखता है। भवन का मध्य कक्ष तीस फुट ऊंचा है जिसमें प्राकृतिक रोशनी और हवा के आने की पूरी व्यस्था है। भवन का फर्नीचर आपको सौ वर्ष पहले के दौर में लेकर चला जाएगा। इनफिनिटी स्वीमिंग पूल एकदम अंतहीन समुद्र में नहाने जैसा है। पूल और पूल के पार सागर। भवन के चारों ओर दो एकड में फैला जंगलनुमा बगीचा है, जिसमें एक निर्जन द्वीप पर (अपने में) खो जाने जैसा आनंद भी उठाया जा सकता है।

कहां व कैसे[संपादित करें]

टैप्रोबेन द्वीप श्रीलंका के दक्षिणी सिरे से केवल २०० गज दूर वेलिगामा खाडी के ठीक मध्य में है। कोलंबो के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से सड़क मार्ग से साढे चार घंटे कि यात्रा है। लेकिन यदि आप थोडा और रोमांच का मजा लेते हुए हेलीकॉप्टर या सी-प्लेन से जाना चाहें तो यह रास्ता मात्र घंटेभर का रह जाता है। तट से द्वीप तक पानी गहरा नहीं है, इसलिए द्वीप पहुंचने का भी अलग मजा है-हाथी पर बैठकर जाएं तो बडा अद्भुत अहसास होता है। श्रीलंका का यह दक्षिणी तट दुनियाभर के पर्यटकों के लिए नया आकर्षण है क्योंकि यहां लगभग वही दृश्य, अनुभव और हवा मिलती है जो मालदीव या थाईलैंड में मिलती है। आपको यह जानकर भी आश्चर्य होगा कि इस द्वीप और दक्षिणी ध्रुव के बीच अथाह समुद्र के अतिरिक्त कुछ नहीं है। नवंबर से अप्रैल का समय यहां जाने के लिए सबसे बढिया है क्योंकि इन दिनों यहां बारिश नहीं होती। लेकिन कई लोग यहां बारिश का मजा लेने भी जाते हैं। यहां के स्वीट का किराया अगस्त के महीने और २१ जनवरी से ३० अप्रैल के बीच १,७५० डॉलर (८७,५०० रु) प्रति रात्रि है। वहीं १ सितंबर से १४ दिसंबर और फिर १ मई से ३१ जुलाई तक किराया कम होकर १,००० डॉलर (५०,००० रु) प्रति रात्रि रह जाता है। वर्ष के अंत में यह स्थान सबसे महंगा होता है जब १५ दिसंबर से २० जनवरी के बीच यहां का किराया २,२०० डॉलर (११,००० रु) प्रति रात्रि होता है

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

टैप्रोबेन द्वीप।