झोऊ एन्लाई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
झोऊ एन्लाई

झोऊ एन्लाई (Zhou Enlai, 周恩来, जन्म: ५ मार्च १८९८; देहांत​: ८ जनवरी १९७६) जनवादी गणतंत्र चीन के सबसे पहले प्रधान मंत्री थे जिन्होनें अक्तूबर १९४९ से जनवरी १९७६ तक इस ओहदे पर काम किया। चीनी साम्यवादी पार्टी के सर्वोच्च नेता माओ ज़ेदोंग के अधीन काम करते हुए उन्होंने साम्यवादी दल के चीन पर क़ब्ज़े में और उसके बाद चीन की विदेश नीति और आर्थिक विकास के क्षेत्रों में अहम भूमिका निभाई। १९४९-१९५८ काल में वे चीन के विदेश मंत्री रहे। १९७२ में अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन के चीन के दौरे और फिर चीनी-अमेरिकी संबंधों में सुधार के पीछे भी उनका काफ़ी हाथ था। भारत, ताइवान, सोवियत संघ और वियतनाम के साथ कटु-संबंधों में भी विदेशी नीति बनाने में झोऊ की बड़ी भूमिका रही थी।

समीक्षकों ने अक्सर माओ और झोऊ के अलग व्यक्तित्वों पर टिपण्णी करी है। अमेरिका के भूतपूर्व विदेश सचिव हेनरी किस्सिंजर दोनों को जानते थे और उन्होंने लिखा है कि:

माओ हर सभा पर छाकर उसे नियंत्रित करते थे जबकि झोऊ उसमें घुल-मिलकर फैल जाते थे। माओ का जोश अपने विरोधियों को तबाह करने पर आमादा होता था, झोऊ की बुद्धि अपने विरोधियों को बात मनवाने या दांव-पेच से मात देने की कोशिश करता था। माओ खिल्ली उड़ाता था, झोऊ तीख़ापन​ दिखाता था। माओ स्वयं को दार्शनिक या फ़िल्सफ़ाई समझता था, झोऊ अपने आप को प्रशासक या वार्ताकार मानता था। माओ इतिहास को धक्के मारकर आगे बढ़ाने को उत्सुक था, झोऊ इतिहास की लहरों से फ़ायदा उठाकर संतुष्ट था। [1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. On China, Henry Kissinger, pp. 207, Penguin, 2011, ISBN 978-1-101-44535-8, ... Mao dominated any gathering; Zhou suffused it. Mao's passion strove to overwhelm opposition; Zhou's intellect would seek to persuade or outmaneuver it ...