जे. आर. आर. टोल्किन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जॉन रोनल्ड राउल टोल्किन (John Ronald Reuel Tolkien, जनवरी 3, 1882—सितम्बर 2, 1973) अंग्रेज़ी भाषा के एक मशहूर लेखक और कहानीकार थे। वो एक रोमन कैथोलोक ब्रिटिश थे। उनके सबसे प्रसिद्ध कार्य उनका उपन्यास समूह है, जिसमें द हॉबिट (The Hobbit), द लॉर्ड ऑफ़ द रिंग्स (The Lord of the Rings), और द सिल्मैरिलॉन (The Silmarillon) शामिल हैं। हॉलिवुड की अब तक की सबसे मशहूर फ़िल्मों में से एक फ़िल्मी शृंखला द लॉर्ड ऑफ़ द रिंग्स उन्हीं के उपन्यास का फ़िल्मांकन है।

टोल्किन जर्मनिक, ऐंग्लो सैक्सन और नॉर्स मिथकों से बहुत प्रभावित थे और वो ब्रिटिश लोगों के लिये एक अच्छी पौराणिक कहानी लिखना चाहते थे। अपनी जवानी में वो प्रथम विश्वयुद्ध में ब्रिटिश सिपाही बन कर लड़े थे, और उनको अपने कई दोस्तों के युद्ध में मौत का दुख सहना पड़ा था। इन बातों की झलक टोल्किन के कार्यों में भी दिखती है। युद्ध के बाद उन्होंने एक वृहत काल्पनिक कहानी लिखना शुरु किया, जिसने सबसे पहले द हॉबिट नाम के उपन्यास का रूप लिया। उसका सिलसिला द लॉर्ड ऑफ़ द रिंग्स में जारी रहा। उनकी मौत के बाद उनके पुत्र क्रिस्टोफ़र टोल्किन ने सिलसिला जारी रखते हुए कुछ अन्यौपन्यास भी प्रकाशित किये।