जुताई रहित कृषि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बिना जुताई के बोआई करने वाली मशीन

जुताई रहित कृषि या बिना जुताई के खेती (No-till farming) खेती करने का वह तरीका है जिसमें भूमि को बिना जोते ही बार-बार कई वर्षों तक फसलें उगायी जातीं हैं। यह कृषि की नयी विधि है जिसके कई लाभ हैं।

लाभ[संपादित करें]

  • जुताई न करने से समय और धन की बचत होती है।
  • जुताई न करने के कारण भूमि का अपरदन बहुत कम होता है।
  • इससे भूमि में नमी बनी रहती है।
  • भूमि के अन्दर और बाहर जैव-विविधता को क्षति नहीं होती है।

हानियाँ[संपादित करें]

  • अधिक खर-पतवार होते हैं, जिनकी रोकथाम के लिये अतिरिक्त उपाय करने पड़ सकते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]