जासूसी दुनिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जासूसी दुनिया (جاسوسى دنيا) इब्न-ए-साफ़ी द्वारा लिखित उर्दू के जासूसी उपन्यासों की एक शृंखला है। इसका पहला उपन्यास, 'दिलेर मुजरिम', मार्च १९५२ में प्रकाशित हुआ और यह विक्टर गन (Victor Gunn) द्वारा लिखित 'आयरनसाइड्ज़ लोन हैंड​' (Ironside's Lone Hand) नामक अंग्रेज़ी उपन्यास द्वारा प्रेरित था। लेकिन इसमें इब्न-ए-साफ़ी ने दो मुख्य पात्रों की स्वयं कृति करी जो पाठकों को बहुत भाए - कर्नल फ़रीदी और कप्तान हमीद।[1] कुल मिलकर इस शृंखला में उन्होंने १२५ उपन्यास लिखे।

खलनायक[संपादित करें]

जासूसी दुनिया शृंखला के उपन्यास अपने दिलचस्प खलनायकों के लिए जाने जाते थे, मसलन सिंग हई, जो एक चीनी खलनायक था। उसे 'जोंक' के नाम से भी बुलाया जाता था क्योंकि वह अपने प्रतिद्वंदी का गला दबोचकर उसकी सांस रोकने में माहिर था। उसका बदन बहुत लचकीला था - अगर उसपर गोली चलाई जाए तो चलने वाले का हाथ देखकर वह गोली का मार्ग भांप लेता था और अपना शरीर हिलाकर गोली से बच जाता था। स्त्रियाँ उसकी बड़ी कमजोरी थीं और वह हमेशा किसी नई स्त्री से शारीरिक सम्बन्ध बनाने की ताक में रहता था।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Indian review of books, Volume 9, Acme Books Pvt. Ltd., 1999, ... In the series Jasoosi Duniya (Spy World), Ibn-e-Safi had created two detectives, Colonel Fareedi and Captain Hameed along with a whole gallery of fascinating villains ...
  2. Encyclopaedic Dictionary Of Urdu Literature, Abida Samiuddin, pp. 563, Global Vision Publishing Ho, 2007, ISBN 978-81-8220-191-0, ... One of the most persistent, clever, daring, and disgusting villains created by Ibn-e-Safi, Sing Hi is the only villain who has the honour of appearing and duelling with the heroes of both Jasoosi Duniya and Imran ...