जलमण्डल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जलमण्डल , पर्यावरणीय संघटकों में जल का महत्वर्पूण स्थान हैं, क्योकी इसके बिना किसी भी जीव का आस्तित्व ही संभव नहीं | जलमण्डल से अर्थ जल की उस परत से हें, जो प्रथ्वी की सतह पर महासागरों, झीलों, नदियों, तथा अन्य जलाशयों के रुप में फेली हैं । प्रथ्वी कि सतह के कुल क्षेत्रफल के ७१ % भाग में जल का विस्तार हैं, इसलिए प्रथ्वी को जलीय ग्रह भी कहते हें ।