जनरल मोहन सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अप्रैल १९४२ में कैप्टन मोहन सिंह का स्वागत करते हुए मेजर फ्यूजीवारा

मोहन सिंह (1909–1989) भारतीय सेना के अधिकारी एवं भारतीय स्वतंत्रता के महान सेनानी थे। वे द्वितीय विश्वयुद्ध के समय दक्षिण-पूर्व एशिया में प्रथम भारतीय राष्ट्रीय सेना (Indian National Army) संघटित करने और इसका नेतृत्व करने के लिए प्रसिद्ध हैं। भारत के स्वतंत्र होने पर राज्य सभा के सदस्य रहे।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]