जकार्ता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जकार्ता इंडोनेशिया की राजधानी एवं सबसे बड़ा नगर है। जकार्ता जावा के उत्तर-पश्चिमी तट पर स्थित है| इसका कुल क्षेत्रफल ६६१कि.मी. है एवं २०१० की जनगणना के अनुसार यहाँ की जनसँख्या लगभग ९५,८०,००० है| जकार्ता देश का आर्थिक, सांस्कृतिक एवं राजनीतिक केंद्र है| जकार्ता जनसँख्या के मामले में इंडोनेशिया एवं दक्षिण-पूर्वी एशिया में प्रथम एवं विश्व में दसवें स्थान पर है| जकार्ता की स्थापना चौथी शताब्दी में हुई और यह एक महत्वपूर्ण व्यापारिक बंदरगाह गया| जकार्ता डच ईस्ट इंडीज़ की राजधानी था और १९४५ में स्वतंत्रता मिलने के बाद भी यह इंडोनेशिया की राजधानी बना रहा|

प्रशासन[संपादित करें]

अधिकारिक रूप से, जकार्ता एक नगर नहीं, एक प्रान्त है, जिसे इंडोनेशिया की राजधानी होने का विशेष दर्जा प्राप्त है| यहाँ महापौर के स्थान पर राज्यपाल होते हैं| जकार्ता को कई उपक्षेत्रों में विभाजित किया गया है, जिनके अपने प्रशासनिक तंत्र हैं| जकार्ता को पांच कोटा अथवा कोटामाद्य( नगरपालिका ) में विभाजित किया गया है, जिनके अध्यक्ष महापौर होते हैं| जकार्ता की पांच नगरपालिकाएं:

  • मध्य जकार्ता
  • पश्चिमी जकार्ता
  • दक्षिणी जकार्ता
  • पूर्वी जकार्ता
  • उत्तरी जकार्ता

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

जकार्ता की अर्थव्यवस्था वित्तीय सेवाओं, व्यापार और विनिर्माण पर आश्रित है| यहाँ के उद्योगों में इलेक्ट्रानिक, ऑटोमोटिव, रसायन, यांत्रिक अभियांत्रिकी और जैव चिकित्सा मुख्य है| २००९ में,करीब १३% आबादी की आय १०००० डॉलर से अधिक है| २००७ में, जकार्ता की आर्थिक वृद्धि दर ६.४४% थी, जो २००६ में ५.९५% थी| २००७ में, सकल घरेलू उत्पाद ५६६ ट्रिलियन रूपिया(५६ बिलियन डॉलर) था| सकल घरेलू उत्पाद में सर्वाधिक योगदान वित्तीय एवं व्यापारिक सेवाओं (२९%) का है, इसके बाद होटल एवं रेस्त्रां(२०%) और विनिर्माण उद्योग(१६%) का है|

२००७ में लागू कानून ने भीख देना, नदियों एवं हाईवे के किनारों पर झुग्गी बस्तियों का निर्माण करना एवं सार्वजनिक यातायात के साधनों में थूकना और धूम्रपान करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया|अनाधिकृत लोगों द्वारा कार की सफाई करने पर और चौराहों पर यातायात निर्देशन के लिए धन लेने वालों पर जुर्माना लगाया जायेगा|

पर्यटन[संपादित करें]

जकार्ता मुख्य रूप से प्रशासनिक एवं व्यापारिक नगर है| इसे, पुराने शहर को छोड़कर, पर्यटन केंद्र के रूप में कम ही देखा जाता है| पुराना शहर एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थान है| हालाँकि, जकार्ता प्रशासन की इसे सेवा एवं पर्यटन केंद्र के रूप में स्थापित करने की कोशिश है| नगर में कई नए पर्यटन बुनियादी सुविधाएँ, मनोरंजन केंद्र और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के होटल एवं रेस्त्रां का निर्माण किया जा रहा है| जकार्ता में कई ऐतिहासिक स्थल एवं सांस्कृतिक विरासतें हैं|

राष्ट्रीय स्मारक, नगर के मध्य में स्थित सेंट्रल पार्क, मर्डेका स्क्वायर, के मध्य में स्थित है| राष्ट्रीय स्मारक के पास महाभारत पर आधारित अर्जुन विजय रथ मूर्ति एवं फुव्वारा स्थित है| मध्य जकार्ता में स्थित विस्मा ४६ इमारत, जकार्ता एवं इंडोनेशिया की सबसे ऊँची इमारत है| ज्यादातर विदेशी पर्यटक पड़ोसी आसियान देशों,जैसे मलेशिया और सिंगापुर, के होते हैं, जो जकार्ता ख़रीददारी करने के उद्देश्य से आते हैं| जकार्ता सस्ते परन्तु उचित गुणवत्ता के सामान जैसे कपड़े, शिल्प एवं फैशन उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है|

शिक्षा[संपादित करें]

जकार्ता में कई विश्वविद्यालय हैं, जिनमे इंडोनेशिया विश्वविद्यालय सबसे बड़ा है| इंडोनेशिया विश्वविद्यालय सरकारी स्वामित्व वाला विश्वविद्यालय है| इसकी स्थापना २ फरवरी १९५० को हुई थी| यह बारह संकायों में विभाजित है: चिकित्सा संकाय, दन्त चिकित्सा संकाय, गणित एवं प्राकृतिक विज्ञान संकाय, विधि संकाय, मनोविज्ञान संकाय, अभियांत्रिकी संकाय, अर्थशास्त्र संकाय, जन स्वास्थ्य संकाय, समाज एवं राजनीति शास्त्र संकाय, मानविकी संकाय, अभिकलित्र विज्ञान संकाय और उपचर्या संकाय| सबसे बड़ा नगर एवं राजधानी होने के कारण, जकार्ता में इंडोनेशिया के सभी हिस्सों से विद्यार्थी आते हैं| आधारभूत शिक्षा के लिए कई प्राथमिक एवं माध्यमिक शालायें हैं, जो सार्वजनिक, निजी एवं अंतर्राष्ट्रीय विद्यालय में वर्गीकृत की गई हैं|