चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Chennai International Airport
(Madras International Airport)

Meenambakkam Airport
சென்னை பன்னாட்டு வானூர்தி நிலையம்

ChennaiAirport.jpg

IATA: MAAICAO: VOMM
सार
विमानक्षेत्र प्रकार Public
स्वामी Government of India
संचालक Airports Authority of India
सेवि्त शहर Chennai Metropolitan Area
स्थिति Tirusulam, Chennai (Madras)
वायुसेवा केन्द्र
समुद्र तल से AMSL 52 फी. / 16 मी.
निर्देशांक 12°58′56″N 80°9′49″E / 12.98222°N 80.16361°E / 12.98222; 80.16361
उड़ानपट्टियाँ
दिशा लम्बाई सतह
फी. मी.
07/25 12,001 3,658 Asphalt
12/30 6,708 2,045 Asphalt–Concrete
सांख्यिकी (2007-08)
Passenger movements 10,659,754
Airfreight movements in tonnes 270,608
Aircraft movements 115,865
Source: DAFIF[1][2]

चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (IATA: MAAICAO: VOMM) (तमिल: சென்னை பன்னாட்டு வானூர்தி நிலையம் ), जो मद्रास इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नाम से भी विख्यात है, चेन्नई (मद्रास), भारत के दक्षिण में, तिरूसूलम 7 किमी (4.3 मील) में स्थित है। यह देश के सबसे बड़े अंतर्राष्ट्रीय प्रवेश द्वारों में से एक है और भारत में तीसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है (दिल्ली और मुंबई के बाद) और एक ऐसा अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र, जो 2007 से लगभग 12 करोड़ यात्रियों का संचालन कर रहा है और 25 से अधिक विभिन्न एयरलाइनों को सेवा प्रदान करता है। देश में मुंबई के बाद यह दूसरा सबसे बड़ा नौभार केंद्र है। यह मीनमबाक्कम और तिरूसूलम के पास स्थित है, जहां यात्री प्रवेश तिरूसूलम में और माल प्रवेश मीनमबाक्कम में होता है।

इतिहास[संपादित करें]

मीनमबाक्कम पर स्थित पुराना टर्मिनल

मद्रास (चेन्नई) का हवाई अड्डा भारत के पहले हवाई अड्डों में से एक है और 1954 में बॉम्बे (मुंबई) से बेलगाम के ज़रिए एयर इंडिया की पहली उड़ान का गंतव्य स्थान था। इसका पहला यात्री टर्मिनल हवाई अड्डे के उत्तर-पूर्व में बनाया गया था, जो मीनमबाक्कम उपनगर में आता है, इसी कारण मीनमबाक्कम एयरपोर्ट के रूप में इसका हवाला दिया जाता है। बाद में एक नया टर्मिनल परिसर तिरूसूलम में बनाया गया और उसके दक्षिण में पल्लावरम के समीप, यात्री संचालनों को स्थानांतरित कर दिया गया। पुराने टर्मिनल भवन का इस्तेमाल अब कार्गो टर्मिनल के रूप में किया जाता है और यह भारतीय कूरियर कंपनी ब्लू डार्ट का अड्डा है।

संरचना[संपादित करें]

रात में चेन्नई हवाई अड्डा

चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर तीन टर्मिनल हैं: मीनमबाक्कम में स्थित सबसे पुराने टर्मिनल का प्रयोग कार्गो के लिए किया जाता है, जबकि तिरूसूलम में यात्रियों के लिए बने नए टर्मिनल भवन का प्रयोग यात्री संचालनों के लिए किया जाता है। यात्री टर्मिनल परिसर में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल हैं जो एक संयोजक भवन द्वारा परस्पर जुड़े हैं, जिसमें प्रशासनिक कार्यालय और एक रेस्तरां हैं। हालांकि यह परिसर एक अखंड संरचना है, लेकिन इसका निर्माण वर्धमान तौर पर हुआ, जिसमें 1988 के दौरान कामराज और अन्ना टर्मिनल को पहले से मौजूद मीनमबाक्कम टर्मिनल के साथ जोड़ा गया।

निर्मित पहला हिस्सा था अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल, जिसमें दो एयरोब्रिड्ज (जेटवेज़) थे, जिसके बाद में तीन एयरोब्रिड्ज के साथ एक घरेलू टर्मिनल बनाया गया। घरेलू टर्मिनल का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद मीनमबाक्कम के पुराने टर्मिनल का इस्तेमाल विशेष रूप से कार्गो के लिए किया गया। हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल को दक्षिण की ओर विस्तृत किया गया और एक नए ब्लॉक को जोड़ा गया, जिसमें तीन एयरोब्रिड्ज शामिल हैं। इस समय, नए अंतर्राष्ट्रीय खंड का प्रयोग प्रस्थान के लिए और पुराने भवन का प्रयोग आगमन के लिए किया जाता है।

टर्मिनल, एयरलाइन और गंतव्य स्थान[संपादित करें]

कामराज घरेलू टर्मिनल (KDT) से घरेलू उड़ानों को संचालित किया जाता है, जबकि अन्ना अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल (AIT) अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए है। मीनमबाक्कम पर स्थित पुराने टर्मिनल का इस्तेमाल कार्गो ऑपरेशन के लिए किया जाता है।


गैलरी से दिखाई देता एक एयर मॉरीशस बोइंग 767-300ER
रैंप दृश्य
वायु सेवाएं गंतव्य Terminal
Air Arabia Sharjah International
AirAsia Kuala Lumpur [begins 17 May], Penang[3] International
Air India Dammam International
Air India operated by Indian Airlines Mumbai, Singapore International
Air-India Express Abu Dhabi, Colombo, Dubai, Kuala Lumpur, Mumbai, Singapore, Tiruchirapalli, Thiruvananthapuram International
Air India Regional Bagdogra[4],Bangalore, Delhi, Nagpur, Visakhapatnam Domestic
Air Mauritius Mauritius International
British Airways London-Heathrow International
Cathay Pacific Airways Hong Kong International
Emirates Dubai International
Etihad Airways Abu Dhabi International
Gulf Air Bahrain International
Indian Airlines Ahmedabad, Bangalore, Bhubaneswar, Cochin, Delhi, Goa, Hyderabad, Kolkata, Madurai, Mumbai, Port Blair, Thiruvananthapuram Domestic
Indian Airlines Colombo, Dubai, Kuala Lumpur, Kuwait International
IndiGo Bangalore, Delhi, Hyderabad, Kolkata, Mumbai, Pune Domestic
Jet Airways Ahmedabad, Bangalore, Cochin, Coimbatore, Delhi, Hyderabad, Kolkata, Madurai, Mumbai, Port Blair, Pune, Thiruvananthapuram Domestic
Jet Airways Brussels, Colombo, Dubai, Kuala Lumpur, New York-JFK, Singapore International
JetLite Colombo International
JetLite Delhi, Mumbai, Visakhapatnam Domestic
Kingfisher Airlines Ahmedabad, Bangalore, Coimbatore, Delhi, Hyderabad, Khajuraho, Kochi, Madurai, Mangalore, Mumbai, Port Blair, Pune, Salem, Tiruchirapalli, Thiruvananthapuram, Tuticorin, Varanasi, Visakhapatnam Domestic
Kingfisher Airlines Colombo International
Kuwait Airways Kuwait International
Lufthansa Frankfurt International
Malaysia Airlines Kuala Lumpur International
Oman Air Muscat International
Paramount Airways Ahmedabad, Agartala, Bangalore, Cochin, Coimbatore, Delhi, Goa, Guwahati, Hyderabad, Kolkata, Madurai, Pune, Thiruvananthapuram, Tiruchirapalli Domestic
Qatar Airways Doha International
Saudi Arabian Airlines Jeddah, Riyadh International
SilkAir Singapore [begins 14 June][5] International
Singapore Airlines Singapore International
SpiceJet Ahmedabad, Bagdogra, Coimbatore, Delhi, Hyderabad, Jaipur, Kolkata, Mumbai, Pune Domestic
Sri Lankan Airlines Colombo International
Thai Airways International Bangkok-Suvarnabhumi, Dubai International
Tiger Airways Singapore International

कार्गो टर्मिनल[संपादित करें]

चित्र:Chennaiairport9.jpg
चेन्नई हवाई अड्डे पर खड़ी एक कार्गोलक्स बोइंग 747-4R7F/SCD.
कार्गो एयरलाइंस
एयर इंडिया कार्गो एटलस एयर एयर चाइना कार्गो
ब्लू डार्ट एविएशन ब्रिटिश एयरवेज वर्ल्ड कार्गो कार्गोलक्स
कैथे पैसिफिक एयरवेज कार्गो चैंपियन एयर क्रेसेंट एयर कार्गो DHL एविएशन
डेक्कन 360 इस्टर्न कैरेबियन एयरलाइंस एमिरेट्स स्काई कार्गो
इथियोपियन एयरलाइंस कार्गो इतिहाद क्रिस्टल कार्गो
फेडएक्स एक्सप्रेस ग्लोबल सप्लाई सिस्टम ग्रेट वॉल एयरलाइंस
गल्फ़ एयर कार्गो जेड कार्गो इंटरनेशनल जेट8 एयरलाइंस कार्गो
कोरियन एयर कार्गो लूफ्थांसा कार्गो मार्टिनएयर कार्गो
MAS कार्गो मिडेक्स एयरलाइंस नाइस हेलीकॉप्टर
पोलर एयर कार्गो कतार एयरवेज़ कार्गो सैन जुआन एयरलाइंस
सिंगापुर एयरलाइंस कार्गो सादर्न एयर श्रीलंकन कार्गो
थाई एयरवेज़ कार्गो ट्रांस्माइल एयर सर्विसज़

MRO हैंगर सुविधा[संपादित करें]

वे एयरलाइन जिनके लिए चेन्नई में हैंगर की सुविधा उपलब्ध है
'
एयरलाइंस
एयर इंडिया
इंडियन एयरलाइंस
किंगफिशर एयरलाइंस

तथ्य और आंकड़े[संपादित करें]

इस समय, चेन्नई हवाई अड्डा हर घंटे लगभग 25 विमान उड़ानों को संचालित करता है, जो वर्ष 2014-15 में पूरी तरह से भर जाएगा. लेकिन, व्यस्ततम समय में यातायात को संभालने की क्षमता उससे भी बहुत पहले समाप्त हो जाएगी. अन्ना अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल ने 2007-08 में 3,410,253 यात्रियों को संभाला था और उसके पास 3 करोड़ यात्रियों को प्रतिवर्ष संभालने की क्षमता है और इसने पहले ही यात्रियों को संभालने की क्षमता को पार कर दिया है। इसी तरह कामराज घरेलू टर्मिनल, जिसने 2007-08 में 7,249,501 यात्रियों को संभाला था और उसके पास सालाना 6 करोड़ यात्रियों को संभालने की क्षमता है। यहां फिर से टर्मिनल की क्षमता की तुलना में मांग बहुत अधिक है। कुल मिलाकर वर्ष 2007 - 08 में चेन्नई हवाई अड्डे ने 10,659,754 यात्रियों को संभाला था। 2007 - 08 में हवाई अड्डे ने 270,608 टन कुल कार्गो को संभाला था[कृपया उद्धरण जोड़ें].

  • 2007-08 में मौजूदा हवाई अड्डे ने 1,15,865 विमान उड़ानो को संभाला था और उसके विमानों को संभालने की क्षमता 2014-15 तक भर जाने की संभावना है।
  • मौजूदा हवाई अड्डा करीब 25 विमान प्रति घंटा संभाल सकता है और इसके विस्तार के बाद भी, 2014-15 तक हवाई अड्डा पूरी तरह से भर जाएगा और तब तक ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे को तैयार हो जाना चाहिए. यही तर्क मुंबई के लिए भी लागू किया गया है, जहां नवी मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा तब तक तैयार हो जाना चाहिए, जिस समय तक वर्तमान हवाई अड्डा भर जाएगा.
  • AAI का विचार है कि तर्कसंगत बात यह होगी कि एक नए घरेलू टर्मिनल का निर्माण किया जाए और वहां पारगामी दौड़ पथों का एक साथ इस्तेमाल अनुमत हो. इस तरीके से हम वर्ष 2015 तक गुज़ारा कर सकते हैं।

सम्मान[संपादित करें]

  • यात्रियों के संबंध में यह देश में तीसरा सबसे बड़ा और कार्गो की दृष्टि से दूसरा सबसे बड़ा है
  • ISO 9000 प्रमाणित देश में पहला हवाई अड्डा है, जो इसे 2001 में प्राप्त हुआ
  • एक दूसरे के निकट अंतर्राष्ट्रीय, घरेलू और कार्गो टर्मिनल वाला पहला हवाई अड्डा है
  • एयरोब्रिड्ज वाला पहला हवाई अड्डा (घरेलू टर्मिनल में)
  • वाकलेटर वाला पहला हवाई अड्डा (अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल पर)
  • पहियों पर अंतर्राष्ट्रीय उड़ान के लिए घरेलू टर्मिनल का उपयोग करने वाला पहला हवाई अड्डा
  • कामराज घरेलू टर्मिनल और अन्ना अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल में नामित पानी के कूलरों के माध्यम से मुफ्त मिनरल वाटर की आपूर्ति करने वाला पहला हवाई अड्डा
  • हवाई अड्डे पर उसे पर्यावरण अनुकूल बनाने के लिए काग़ज़ के कप को लागू करने वाला पहला हवाई अड्डा
  • विशिष्ट उप-शहरी हवाई अड्डा रेलवे स्टेशन हवाई अड्डा, जो जल्द ही एक मेट्रो रेल टर्मिनस में भी एकीकृत हो जाएगा.
  • निजी भारतीय विमान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय परिचालन करने वाला पहला हवाई अड्डा (जेट एयरवेज से कोलंबो)
  • नदी के ऊपर पार करने वाले दौड़ पथ सहित दूसरा हवाई अड्डा (अड्यार नदी पर सहायक दौड़ पथ) (निर्माणाधीन)

आधुनिकीकरण और विस्तार[संपादित करें]

चित्र:Chennai Upgraded Terminal.jpg
अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल पर उन्नत बैगेज क्लेम स्थल

चेन्नई हवाई अड्डे का आधुनिकीकरण और विस्तार होना तय हुआ है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा यह कार्य किया जाना है, जिसमें समानांतर दौड़ पथ, टैक्सी पथ, पट्टियां और नए यात्री टर्मिनल इमारतों का निर्माण शामिल है। विस्तार कार्यों में आस-पास के इलाक़ों की ज़मीन का अधिग्रहण भी शामिल होगा. मौजूदा हवाई अड्डे का विस्तारण श्रीपेरूमबदूर तालुका में मनपक्कम, कोलापक्कम, गेरूगमबक्कम और थारापक्कम में, सरकार द्वारा इस आशय का संकल्प पारित होने के बाद किया जाएगा.

सरकार इन क्षेत्रों के 947 घरों के लिए उपयुक्त मुआवजा प्रदान करेगी और उनके पुनर्वास की भी व्यवस्था करेगी.[कृपया उद्धरण जोड़ें] विस्तारण के पहले चरण में ही परिवारों का पुनर्वास कार्य संपन्न किया जाएगा.

आधुनिकीकरण और पुनर्संरचना में करीब 2,350 करोड़ रुपए के खर्च होने की संभावना है जिसमें दौड़ पथ, टैक्सी पथ और पट्टियों के निर्माण की लागत लगभग 1,100 करोड़ रुपए हो सकती है, जबकि टर्मिनल भवन, कार्गो भवन, कार पार्किंग और फेस अपलिफ्ट के निर्माण में 1,250 करोड़ रुपये की लागत होगी.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

आधुनिकीकरण योजना के अनुसार सहायक दौड़ पथ का निर्माण एक पुल के ज़रिए अड्यार नदी पर निर्मित किया जाएगा. अड्यार नदी के उस पार तक रनवे का विस्तार होगा. नदी के ऊपर एक पुल का निर्माण किया जाएगा, जिसमें दौड़ पथ और टैक्सी पथ शामिल होंगे. यह चेन्नई हवाई अड्डे को भारत का एकमात्र ऐसा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बना देगा, जिसके पास नदी के उस पार तक एक दौड़ पथ होगा[कृपया उद्धरण जोड़ें]. मुंबई में केवल दौड़ पथ का अंत मीठी नदी के ऊपर है। सहायक दौड़ पथ के विस्तार में 430 करोड़ रुपये खर्च होंगे और 2010 के आस-पास यह पूरा किया जाएगा[कृपया उद्धरण जोड़ें]. [6]

प्रस्तावित चेन्नई मेट्रो रेल परियोजना, चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से शहर के विभिन्न भागों को जोड़ेगी. अस्थायी तौर पर इस परियोजना को वित्तीय वर्ष 2013-2014 में पूरा किए जाने का कार्यक्रम बनाया गया है।[7]

प्रस्तावित नवीन यात्री टर्मिनल[संपादित करें]

वर्तमान विकास परियोजनाओं में एक नवीन घरेलू टर्मिनल का निर्माण और मौजूदा अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल का विस्तार शामिल है। यह डिजाइन चार व्यावसायिक कंपनियों का सहयोगी प्रयास है। जबकि हर्ग्रीव्स एसोसिएट्स ने परिदृश्य डिजाइन तैयार किया है, जेंसलर और फ्रेडरिक शवार्ट्ज आर्किटेक्ट्स यात्री टर्मिनल भवनों, पार्किंग गराज संरचना और सड़क अभिगम प्रणाली के डिजाइन के लिए जिम्मेदार हैं। परियोजना के लिए क्रिएटिव समूह स्थानीय आर्किटेक्ट होगा. प्रस्तावित डिजाइन को मौजूदा टर्मिनल डिजाइन तत्वों के साथ जोड़ा जाएगा. यह पहले बताया गया कि नवीन टर्मिनल भवन के पास करीब 10 करोड़ यात्रियों को संभालने की क्षमता होगी और मौजूदा टर्मिनलों के साथ एकीकृत करने के बाद यह सालाना 23 करोड़ यात्रियों को संभालने की क्षमता प्रदान करेगा. नवीन टर्मिनल भवनों के लिए करीब 1,40,000 वर्ग मीटर क्षेत्र होने की संभावना है जिसमें 140 जांच काउंटर और 60 अप्रवासन काउंटर और टैक्सी पथों के नेटवर्क से जुड़े दो दौड़ पथ होंगे. इस टर्मिनल परिसर में एक फ्लाईओवर ट्रेवेलेटर होगा, जो घरेलू टर्मिनल और अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल का संयोजक होगा और इसकी लम्बाई करीब 1 कि.मी. होगी. इसमें ऊंची सड़क का निर्माण किया जाएगा और ऊपर एक ट्यूब के नीचे दो वाकलेटर्स होंगे.[8]

दौड़ पथ के डिज़ाइन विवरण भारत के विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा संभाले जा रहे हैं, जबकि वास्तुकला कंपनियां दौड़पथ के ज़मीनी इमारतों की डिज़ाइनिंग तक ही सीमित रहेंगी. वर्तमान प्रस्ताव मौजूदा दौड़पथ के समानांतर है। पूरी डिजाइन को "दो हरे-भरे निर्वाह योग्य बग़ीचों" के आस-पास व्यवस्थित किया जा रहा है और पंखों के आकार वाली छतें बारिश के पानी को एकत्रित करने में मदद करेंगी और उद्यान का हिस्सा होगी.[9]

प्रस्तावित नवीन एकीकृत कार्गो परिसर[संपादित करें]

चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के कार्गो परिसर में एक एकीकृत कार्गो परिसर का निर्माण किया जाएगा. इस परिसर का निर्माण 15 महीनों में 145 करोड़ रुपयों की लागत पर किया जाएगा. जबकि निचली मंज़िल 21,000 वर्ग मीटर आकार की होगी, पहली मंज़िल का निर्माण 12,100 वर्ग मीटर पर किया जाएगा. नए भवन का प्रयोग विशेष रूप से आयात गतिविधियों के लिए किया जाएगा. एक बार सिविल कार्य पूरा होने के साथ ही, स्वचालित संग्रहण और पुनर्प्राप्ति प्रणाली स्थापित की जाएगी. इसकी लागत 75 करोड़ रुपये होगी.[10]

नवीन ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा[संपादित करें]

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि ने घोषणा की है कि तिरूसूलम में मौजूदा हवाई अड्डे के विस्तार के अलावा श्रीपेरूमबदूर और तिरूवल्लूर तालुका में एक नवीन ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे को स्थापित किया जाएगा.

ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का निर्माण 3,486.66 एकड़ (14.1100 किमी2) तक होगा, वहीं चेन्नई हवाई अड्डे का विस्तार 1,069.99 एकड़ (4.3301 किमी2) पर किया जाएगा, जिसकी अनुमानित लागत 2,000 करोड़ होगी.

प्रारम्भ में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों का निर्माण कार्य भारत के विमानपत्तन प्राधिकरण (AAI) को सौंपा जाना था। लेकिन चेन्नई के करीब श्रीपेरूमबदूर में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का विकास एक सार्वजनिक-निजी भागीदारी के तहत किया जाएगा. प्रधानमंत्री की समिति ने भी इस हवाई अड्डे के लिए पूर्व व्यवहार्यता रिपोर्ट की मांग की है।

ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे में चार दौड़पथ होंगे. चेन्नई हवाई अड्डे पर नज़रें गढ़ाए अग्रणी वैश्विक हवाई अड्डों के विकासक इस परियोजना के लिए बोली लगाने के लिए भारतीय सहभागियों के साथ गठजोड़ कर रहे हैं। इस परियोजना में रुचि रखने वाली कंपनियों में शामिल हैं सिंगापुर चांगी हवाई अड्डा, मैक्वेरी समूह, GMR समूह, GVK इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड और टाटा समूह.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने स्पष्ट किया है कि "चेन्नई के करीब ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के विकास में AAI की कोई भूमिका नहीं है।"

नए हवाई अड्डे का निर्माण कार्य शुरू होने पर 28 महीने के भीतर पूरा होने की संभावना है।

ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट प्रोजेक्ट स्थगित?[संपादित करें]

श्रीपेरूमबदूर में बहु-प्रतीक्षित दूसरे हवाई अड्डे का निर्माण कार्य बंद किया जा सकता है, चूंकि केन्द्र और राज्य सरकार इस परियोजना को स्थगित करने की तैयारी कर रही हैं।

जहां अंतर्राष्ट्रीय नागर विमानन संगठन (ICAO) ने इस परियोजना के लिए तकनीकी आर्थिक व्यवहार्यता के अध्ययन की शुरूआत की है, वहीं केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार क़ायल है कि तत्काल इस शहर में दूसरे हवाई अड्डे की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि मीनमबाक्कम में मौजूदा हवाई अड्डे का विस्तार किया जा रहा है।[11]

=== ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा प्रस्ताव - अभी त्यागा नहीं गया

===

हाल ही में राज्य विधानसभा को जानकारी दी गई कि चेन्नई हवाई अड्डे का विस्तार और आधुनिकीकरण अगले वर्ष तक पूरा हो जाएगा और सरकार भी ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट की स्थापना को लेकर 'आवश्यक कार्रवाई' कर रही है।

मंत्री के.एन. नेहरू द्वारा विधानसभा में प्रस्तुत परिवहन विभाग की नीति संबंधी नोट में कहा गया है कि सरकार इस तथ्य की पुष्टि करती है कि दक्षिणी महानगर तेजी से एक निवेश गंतव्य बनता जा रहा था और इसलिए वर्तमान आधुनिकीकरण के प्रयास किए जा रहे हैं।

"हवाई अड्डे का आधुनिकीकरण 2011 तक पूरा हो जाएगा."

उन्होंने कहा कि "पहले ही सरकार ने 127.06 करोड़ रुपए की लागत पर 126 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर लिया है और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को सौंप चुकी है।"

नीति नोट के अनुसार AAI कार्यान्वयन एजेंसी थी और इसने 1,808 करोड़ रुपयों की अनुमानित लागत पर (18.08 बिलियन) इस परियोजना को हाथ में लिया था। इसके अलावा, राज्य सरकार श्रीपेरूमबदूर में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा स्थापित करने के लिए 'आवश्यक कार्रवाई' कर रही है, जो इसके निकट का एक औद्योगिक केंद्र है।

परिवहन संपर्क[संपादित करें]

यह हवाई अड्डा व्यस्त ग्रैंड सदर्न ट्रंक रोड (नेशनल हाईवे 45) पर स्थित है और उपनगरीय रेलवे नेटवर्क पर एयरपोर्ट स्टेशन (तिरूसूलम) भी इसको सेवा देती है। प्रस्तावित मेट्रो रेल प्रणाली (चेन्नई मेट्रो) हवाई अड्डे से चेन्नई के महत्वपूर्ण स्थानों को जोड़ेगी.

घटनाएं और दुर्घटनाएं[संपादित करें]

1984 अगस्त में हवाई अड्डे से 1,200 मीटर की दूरी पर एक बम विस्फोट हुआ था, जिसमें 33 लोगों की मौत और 27 अन्य लोग घायल हो गए थे।[12]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]


सन्दर्भ[संपादित करें]

बाह्य लिंक[संपादित करें]


साँचा:Chennai Topics