चिआंग माई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Chiang Mai
เชียงใหม่
Chiang Mai
चिआंग माई is located in Thailand
Chiang Mai
निर्देशांक : 18°47′43″N 98°59′55″E / 18.79528°N 98.99861°E / 18.79528; 98.99861Erioll world.svgनिर्देशांक: 18°47′43″N 98°59′55″E / 18.79528°N 98.99861°E / 18.79528; 98.99861
Country Flag of Thailand.svg Thailand
Province Chiang Mai Province
शासन
 • प्रणाली City municipality
 • Mayor Tatsanai Puranupakorn
क्षेत्र
 • City 40.216
 • शहर 2,905
आबादी (2008)
 • City 1,48,477
 • घनत्व 3,687
 • शहरी 960
 • शहरी घनत्व 315.42
समय मण्डल Thailand (यूटीसी +7)

चिआंग माई थाई: IPA: [tɕʰiəŋ màj]लन्ना ) जिसे कभी कभी "चिएंगमाई" अथवा "चियांगमाई" भी लिखा जाता है, उत्तरी थाईलैंड का सबसे बड़ा और सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण शहर है, और चिआंग माई प्रांत की राजधानी है. देश के सबसे ऊँचे पहाड़ों के बीच,यह बैंकॉक के उत्तर में 700 किमी (435 मील) पर स्थित है. यह शहर पिंग नदी के किनारे पर स्थित है, जो कि चाओ फ्राया नदी की एक मुख्य उपनदी है.

हाल ही के वर्षों में, चिआंग माई तेजी से एक आधुनिक शहर के रूप में उभरा है, और लगभग 1 मिलियन पर्यटकों को प्रत्येक वर्ष आकर्षित करता है. जब मई 2006 में आसियान देशों और "+3" देशों (चीन, जापान, और दक्षिण कोरिया के बीच में चिआंग माई पहल संपन्न हुई, तब चिआंग माई ने राजनीतिक क्षेत्र में प्रसिद्धि प्राप्त की. चिआंग माई का ऐतिहासिक महत्व इसके पिंग नदी जैसे महवपूर्ण स्थान पर स्थित होने की वजह से और प्रमुख व्यापारिक मार्गों से जुड़े रहने के कारण है. यह शहर दस्तकारी के सामान का, छातों का, गहनों (विशेषकर चांदी के गहनों का) और लकड़ी में नक्काशी के काम का काफी समय से एक प्रमुख केंद्र रहा है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]


हालांकि आधिकारिक तौर पर चिआंग माई का शहर (थेसबान नेकहोन) 150,000 की आबादी के साथ मुईआंग चिआंग माई जिले के अधिकांश भागों में ही पड़ता है परन्तु,शहर का फैलाव अब कई पड़ोसी जिलों में भी फ़ैल गया है. इस चिआंग माई मेट्रोपोलिटन एरिया की आबादी लगभग दस लाख है, जो कि चिआंग माई प्रांत की आबादी की आधे से अधिक है.

शहर चार वार्डों में उपविभाजित है(ख्वाएंग) : नाखों पिंग, श्रीविजय ,मेंगारी, और कवीला. इनमें से पहले तीन पिंग नदी के पश्चिमी तट पर हैं, और कवीला पूर्वी तट पर स्थित है. शहर के उत्तर में नाखों पिंग जिला शामिल है. श्रीविजय, मेंगराई, और कवीला क्रमशः पश्चिम, दक्षिण, और पूर्व में स्थित है. शहर का केंद्र-शहर की चारदीवारी के भीतर-मुख्य रूप से श्रीविजय वार्ड के भीतर है.[1]

इतिहास[संपादित करें]

वाट चियांग मन, शहर में सबसे पुराना बौद्ध मंदिर
शहर की दीवार का उत्तर पश्चिमी कोना

1296 में मेंगराई राजा ने चिआंग माई शहर की स्थापना की थी (जिसका अर्थ है "नया शहर"), और लन्ना राज्य की राजधानी के रूप में इसने चियांग राई की जगह ली. राजा को चाओ के नाम से जाना जाता था. शहर एक रक्षात्मक दीवार और खाई से घिरा हुआ था, क्योंकि समीप में स्थित देश, बर्मा से निरंतर ख़तरा बना रहता था. लन्नाथाई राज्य के पतन के साथ, शहर ने अपना महत्व खो दिया और शहर अक्सर बर्मीज लोगों अथवा अयूथया के थाई लोगों के कब्जे में रहने लगा. अप्रैल 1767 में बर्मी युद्ध के कारण अयूथया का पतन हुआ, और चिआंग माई को 1776 और 1791 के बीच छोड़ दिया गया. लन्नाथाई शहर के जो हिस्से बचे उसकी राजधानी लैम्पैंग बना. 1774 में जब थाई राजा ताक्सिन ने बर्मी लोगों को बाहर निकालने में चाओ कवीला की सहायता की तब चिआंग माई सियाम का औपचारिक रूप से हिस्सा बन गया. चिआंग माई फिर धीरे धीरे सांस्कृतिक, व्यापारिक और आर्थिक महत्व का शहर उस स्तर पर बन गया जिस पर वह आज है और साथ ही उत्तरी थाईलैंड की अनौपचारिक राजधानी बन गया, और आज वह बैंकॉक के बाद दूसरा महत्वपूर्ण शहर है.

यहाँ के निवासी आपस में ख़म मुआंग बोलते हैं (जिसे उत्तरी थाई अथवा लन्ना भी कहा जाता है), हालांकि केंद्रीय थाई भाषा का प्रयोग शिक्षा के क्षेत्र में किया जाता है और यह सबके द्वारा समझी भी जाती है. अंग्रेजी भाषा का प्रयोग होटलों में और यात्रा से संबंधित व्यवसायों में किया जाता है और कई शिक्षित लोग अंग्रेजी बोलते हैं.[2] ख़म मुआंग वर्णमाला का अध्ययन अब विद्वान् लोग ही करते हैं, और उत्तरी थाई को सामान्यतः मानक थाई वर्णमाला के साथ लिखा जाता है.

आधुनिक नगर निगम की स्थापना 1915 में उस समय हुई थी जब एक सैनिटरी जिले(सुखफिबन) का निर्माण किया गया था. इस जिले को 29 मार्च 1935 को रॉयल राजपत्र, किताब संख्या 52 सैक्शन 80 के अनुसार नगरपालिका (थेस्बन) के रूप में अपग्रेड कर दिया गया. शुरुआत में यह17.5 किमी2 (7 वर्ग मील) मात्र शहर का कार्य देखती थी परन्तु बाद में अप्रैल 5,1983 को इसका कार्य क्षेत्र बढ़ा40.216 किमी2 (16 वर्ग मील) दिया गया.[3]

जलवायु[संपादित करें]

चिआंग माई की जलवायु उष्णकटिबंधीय गीली और सूखी है (कोपेन एडब्लू(Aw) ), जो कि कम अक्षांश और मध्यम ऊँचाई से प्रभावित होता है, और पूरे साल मौसम गर्म से बहुत गर्म रहता है, हालांकि शुष्क दिनों में रात के समय का मौसम दिन के मौसम के मुकाबले काफी ठंडा होता है.

साँचा:Chiang Mai weatherbox

A panoramic view of the city of Chiang Mai during the rainy season, September 2010
Magnify-clip.png
A panoramic view of the city of Chiang Mai during the rainy season, September 2010

प्रतीक[संपादित करें]

शहर का प्रतीक केंद्र में वात दोई सुथेप पर चेडी को दर्शाता है. इसके नीचे बादल बनाए गए हैं, जो उत्तरी थाईलैंड के पहाड़ों की मध्यम श्रेणी की जलवायु का प्रतिनिधित्व करते हैं. साथ ही वहाँ पर एक नाग बना हुआ है, यह एक पौराणिक सांप है जिसे पिंग नदी का स्रोत कहा जाता है, और चावल के डंठल बने हुए हैं जो, जमीन की उर्वरता को दर्शाते हैं.[4]

धार्मिक स्थल[संपादित करें]

विस्तारित लोई क्रथोंग उत्सव के दौरान चिआंग माई में वाट फनटाओ पर आतिशबाजी
वाट फ्रात्हत दोई सुथेप में चेडी
बान हौ मस्जिद.

चिआंग माई में 300 से अधिक बौद्ध मंदिर हैं (जिन्हें थाई में "वाट" कहा जाता है). जो निम्नलिखित हैं:

वाट फ्रथात दोई सुथेप , यह शहर का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है, जो दोई सुथेप पर बना हुआ है, यह पहाड़ी शहर के उत्तर-पश्चिम में स्थित है. यह मंदिर 1383 में बना था. परंपरा के अनुसार, मंदिर के स्थान का चयन एक हाथी की सहायता से हुआ. उस हाथी की पीठ पर भगवान् बुद्ध की प्रतिमा के अवशेष रख कर उसे तब तक के लिए घूमने छोड़ दिया जब तक कि उसने जोर जोर से चिल्ला कर, गोल गोल चक्कर लगाने शुरू नहीं कर दिए. उसके बाद वह अंततः गिर गया और मर गया. एक साफ़ दिन में, मंदिर के स्थान से खूबसूरत नजारों के दर्शन होते हैं.

वाट चियांग मन, जो कि चिआंग माई का सबसे पुराना मंदिर है, 13वी सदी का है. शहर के निर्माण के दौरान राजा मेंगराई यहां रहते थे. इस मंदिर में बुद्ध की दो महत्वपूर्ण और आदरणीय प्रतिमाएं रखी हुई है, संगमरमर की फ्र सिला और क्रिस्टल की फ्र सतंग मन.

वाट फ्र सिंह शहर की चारदीवारी में स्थित है, इसका निर्माण 1345 में हुआ था और यह मंदिर पारंपरिक उत्तरी थाई शैली की वास्तुकला का उदहारण प्रस्तुत करता है. इस मंदिर में फ्र सिंह बुद्ध की प्रतिमा रखी हुई है, जो कि काफी सम्मानीय प्रतिमा है और जिसे कई सालों पहले चियांग राइ से लाया गया था. आगंतुक यहाँ पर ध्यान की कक्षाओं में भी भाग ले सकते हैं.

वाट चेडी लुआंग की स्थापना 1401 में हुई थी और इसमें एक वृहत लाना शैली के चेडी का प्रभुत्व है जिसका निर्माण पूरा होने में कई वर्षों का समय लगा था. 16 वीं शताब्दी में एक भूकंप ने चेडी को क्षतिग्रस्त कर दिया और अब इसका केवल दो तिहाई हिस्सा बचा है.

वाट चेट योट शहर के बाहरी इलाके में स्थित है. 1455 में निर्मित, इस मंदिर में 1977 में आठवीं विश्व बौद्ध परिषद का आयोजन किया गया था.

वियांग कुम कम चिआंग माई के दक्षिणी सरहद पर एक पुराने शहर का स्थल है. राजा मेंगराई चिआंग माई की स्थापना से पहले दस साल तक यहाँ रहे थे. इस स्थल पर कई खंडित मंदिर हैं.

वाट उमोंग शहर के पश्चिम में चिआंग माई विश्वविद्यालय के समीप तलहटी में एक जंगल और गुफा वाट है. वाट ऊ-मोंग उपवास करते हुए बुद्ध की प्रतिमा के लिए जाना जाता है,इसमें आत्मज्ञान प्राप्ति से पहले बुद्ध के लम्बे समय तक किये गए निरर्थक उपवास के अंत का चित्रण किया गया है. इसमें एक सैद्धांतिक मूल ग्रन्थ की सचित्र व्याख्या की गई है जिसमें बुद्ध अपने भिक्षुओं को यह चेतावनी देते हैं कि वे आत्म-यातना ना करें, क्योंकि यह अतिभोग की तरह ही "निरर्थक" है.

समूचे मैदान में सैकड़ों पेड़ों पर अंग्रेजी और थाई में बौद्ध कहावतें चिपकाई हुई हैं. वे एक जर्मन साधु, जो 1980 के दशक में वहाँ रहते थे, के द्वारा एकत्रित की गई थी. विडंबना यह है कि, अंग्रेज़ी में जिन कहावतों का उल्लेख है उनमें से कुछ ही बुद्ध के द्वारा कही गई हैं, बाकी एक वेदांत हिन्दू संत के द्वारा कही गई, जिन्होंने प्रारम्भिक ब्रह्मविद्यावादियों को प्रेरित किया.

वाट रामपोइंग (तपोतरम), जो कि वाट ऊ-मोंग के समीप है, अपने ध्यान केंद्र के लिए जाना जाता है (उत्तरी इनसाइट ध्यान केंद्र). यह मंदिर पारंपरिक विपशना तकनीक सिखाता है और छात्र यहाँ 10 दिनों से लेकर एक महीने से भी अधिक समय के लिए रहते हैं, क्योंकि वे कम से कम 10 घंटों के लिए ध्यान करते हैं. वाट रामपोइंग में त्रिपिटक का सबसे बड़ा संग्रह है, इसमें कई उत्तरी बोलियों में सम्पूर्ण थेरावाद कैनन का संग्रह है.

वाट सुअन डोक एक 14 वीं सदी का मंदिर है जो पुराने शहर की दीवार के पश्चिम में स्थित है. यह राजा ने एक श्रद्धेय साधु के लिए बनवाया था जो सुखोथाय से वर्षा के दिनों में एकांतवास के लिए आए थे. मंदिर का वृहत साला कण प्रिआन (प्रवचन कक्ष) ना सिर्फ अपने आकार के वजह से अनोखा है, बल्कि इसलिए भी कि यह संलग्न के बजाय पक्षों पर खुला है. वहाँ कई चेडी ऐसे हैं जिनमे चिआंग माई के पुराने शासकों की राख रखी हुई है. इस मंदिर में महाछुलालोंगकॉर्न राजविद्यालय बौद्ध विश्वविद्यालय भी है, जहां भिक्षु अध्ययन करते हैं.

चिआंग माई में करीब 20 ईसाई चर्च हैं[5], 13 मस्जिदें, [6]2 गुरुद्वारे(सिख मंदिर)[7] और एक हिन्दू मंदिर है.[7] 13 मस्जिदों में से, 7 मस्जिद चीनी या चिन हौ मुसलामानों की हैं.[8] गुरुद्वारों के नाम हैं सिरी गुरु सिंह सभा और नामधारी सिख मंदिर, हिन्दू मंदिर का नाम है देवी मंदिर.[7]

संस्कृति[संपादित करें]

लोई क्रतोंग के दौरान मॅई जो में हजारों खोम फाई
चिआंग माई में पानी से चोट लगने के बाद एक ट्रक भर के लोग.
चिआंग माई में एक गली

चिआंग माई कई थाई त्योहारों का आयोजन करता है, जिनमें शामिल हैं:

  • लोई क्रतोंग(जिसे स्थानीय भाषा में यी पेंग के नाम से जाना जाता है):पारंपरिक थाई चन्द्रमा संबंधी कैलेंडर के अनुसार, यह साल के बारहवे महीने में पूर्णिमा के दिन होता है, और यह दिन पुराने लाना कैलेंडर के अनुसार दूसरे महीने की पूर्णिमा होती है.

पश्चिमी कैलेंडर में यह आमतौर पर नवंबर में पड़ता है. हर साल हज़ारों लोग इकट्ठे हो कर केले की पत्तियों के पात्रों को (क्रथोंग) फूलों और मोमबत्तियों से सजा कर शहर के जलमार्गों पर जल देवी की पूजा करने के लिए बहाते हैं. लाना शैली के आकाश लालटेन (खोम फाई) हवा में चलाए जाते हैं. ऐसा माना जाता है की इससे स्थानीय लोगों को मुसीबतों से छुटकारा मिलता है और साथ ही इससे घर और सड़कें सजाई भी जाती हैं.

  • सोंगक्रं: यह अप्रैल के मध्य में पारंपरिक थाई नए साल का जशन मनाने के लिए आयोजित किया है. इस त्यौहार को मनाने के लिए चिआंग माई सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक बन गया है. प्रत्येक वर्ष कई तरह की धार्मिक और मनोरंजन से सम्बंधित गतिविधियाँ (विशेष रूप से पूरे शहर में व्यापक अच्छे इरादों से खेली जाने वाली पानी की लड़ाई) आयोजित की जाती हैं, जिनमें परेड और मिस सोंगक्रं सौंदर्य प्रतियोगिता शामिल है.
  • चिआंग माई फूल महोत्सव: एक तीन दिवसीय त्यौहार जो फरवरी के पहले सप्ताहांत में आयोजित किया जता है, यह कार्यक्रम तब आयोजित किया जाता है जब चिआंग माई के समशीतोष्ण और उष्णकटिबन्धीय फूल अपने पूरे यौवन पर होते हैं. उत्सव में फूलों का बेड़ा, परेड, पारंपरिक नृत्य कार्यक्रम, और एक सौंदर्य प्रतियोगिता शामिल है.
  • टैम बून खान डोक, इन्थाकिन (सिटी स्तंभ) समारोह, छठे महीने में चन्द्रमा के घटाव के दिन प्रारम्भ होता है और 6-8 दिन चलता है. 2009 में, यह 20-27 मई को पड़ता है. यह त्यौहार वाट चेडी लुआंग के आसपास केन्द्रित होता है क्योंकि वहाँ पर नगर स्तम्भ रखा हुआ है, यह त्यौहार मूल रूप से ब्राह्मिक उत्सव है. नगर स्तम्भ और अन्य कई बौद्ध और लाना-युग की प्रतिमाओं को प्रसाद चढ़ाया जाता है. नृत्य, संगीत प्रदर्शन, आनंदोत्सव खेल, और सर्वत्र पाए जाने वाले थाई भोजन विक्रेता मौजूद होते है. यह एक बहुत बड़ा उत्सव है जिसमें चिआंग माई के सभी नागरिक भाग लेते हैं.

चिआंग माई के संग्रहालयों में से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • चिआंग माई शहर कला और सांस्कृतिक केंद्र.
  • चिआंग माई राष्ट्रीय संग्रहालयक्षेत्र के इतिहास और लन्ना के साम्राज्य पर प्रकाश डालते हैं.
  • आदिवासी संग्रहालय पहाड़ों पर रहने वाली स्थानीय जनजातियों के इतिहास पर प्रकाश डालता है.

चिआंग माई में कई विश्वविद्यालय हैं, जिनमें चिआंग माई विश्वविद्यालय,चिआंग माई राजाभात विश्वविद्यालय, राजमंगला प्रौद्यौगिकी विश्वविद्यालय,पेयप विश्वविद्यालय, सुदूर पूर्वी विश्वविद्यालय, और मेजो सुदूर पूर्वी विश्वविद्यालय प्रमुख है और कई तकनीकी और अध्यापक महाविद्यालय शामिल हैं. चिआंग माई विश्वविद्यालय बैंकॉक के बाहर स्थापित होने वाला पहला सरकारी विश्वविद्यालय था. पेय़प विश्वविद्यालय थाईलैंड की पहली निजी संस्था है जिसे विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया है.

  • खानतोके खाना चिआंग माई में एक पुरानी लन्ना थाई परंपरा है. यह एक विस्तृत रात्रिभोज या दोपहर का भोजन होता है जो एक मेजबान के द्वारा मेहमानों को विभिन्न समारोह या पार्टियों में जैसे शादी में, गृहप्रवेश, समारोह, नवदीक्षित दीक्षा, अथवा अन्त्येष्टि में दिया जाता है. यह मंदिर समारोह के लिए भी आयोजित किया जा सकता है जैसे थाई मंदिर में किसी विशिष्ट इमारत के लिए और बौद्ध समारोहों में जैसे खाओ पांसा, लॉय क्रथोंग, और थाई नव वर्ष (सौंगक्रं).

प्रकृति[संपादित करें]

  • आसपास के राष्ट्रीय पार्कों में दोई इन्थानोन, थाईलैंड का सर्वोच्च पर्वत, दोई पुई सुथेप और ओब्खान शामिल हैं.
    • दोई पुई सुथेप राष्ट्रीय उद्यान शहर के बिलकुल बाहर है. सम्पूर्ण चिआंग माई में से कहीं से भी वाट दोई सुथेप बौद्ध मंदिर देखा जा सकता है जो कि दोई सुथेप मंदिर से नीचे की ओर देख रहा है, यह पर्यटकों और स्थानीय लोगों का पसंदीदा पर्यटक स्थल है. चिआंग माई लंबी पैदल यात्रा समूह साप्ताहिक मुफ्त लम्बी यात्रा का आयोजन करता है जो कि अक्सर दोई सुथेप राष्ट्रीय पार्क में होती है और उनकी वेबसाईट पर भी एक पैदल यात्रा के रास्ते का नक्शा है.
  • हाथी प्रकृति उद्यान: लगभग 60 किमी (37 मील) शहर के उत्तर में या तकरीबन एक घंटे की यात्रा के बाद पड़ने वाला हाथी प्रकृति उद्यान बचाए गए 30 हाथियों का घर है. आप उद्यान घूमने के लिए या तो एक दिन की यात्रा पर जा सकते हैं अथवा स्वयं सेवक बन सकते हैं.
  • पहाड़ी जनजाति पर्यटन और ट्रैकिंग: कई सारी टूर कंपनियाँ पैदल अथवा हाथी की पीठ पर स्थानीय पहाड़ियों और जंगलों में सुनियोजित यात्राओं का आयोजन करती हैं. उनमें से अधिकांश विभिन्न स्थानीय पहाड़ी जनजातियों का दौरा भी कराती हैं. इन जनजातियों में आखा, हमोंग, करेन और लिसू जनजातियाँ प्रमुख हैं.
  • सैन खाम्पेंग के आगे, तकरीबन शहर के बाहर 45 मिनट की यात्रा करने के बाद मॅई कोन फोंग गांव है. यहाँ कई चाय और कॉफ़ी के बागान हैं और एक पर्यावरण के अनुकूल जिपलाइन टूर भी चलता है, जिसका नाम फ्लाइट ऑफ दा गिब्बन है, और जो अपने लाभ का 10% गिब्बन की पुनः प्रस्तुति और वर्षा वन के संरक्षण के लिए देता है. आप वर्षा वन की 3 किमी से अधिक की छत्री का दौरा इस जिप-लाइन टूर की सहायता से 3 घंटे में पूरा कर सकते है.[9]

रात्रि जीवन[संपादित करें]

चिआंग माई का रात्रि-जीवन इतना केंद्रित या इतना बेहिसाब नहीं है जितना की बैंकॉक का कुख्यात नाना प्लाजा क्षेत्र या पट्टाया का रात्रि-जीवन. वहाँ पर कई ऐसी बार हैं जिनमे आप जा कर आराम कर सकते हैं, कईं डिस्कोथेक, संगीत के सीधे प्रसारण के लिए स्थान और एक सड़क ऐसी है जिस पर कई परिचिकाओं वाली बार हैं, जो पर्यटकों की जरूरतों को पूरा करती है. यहीं पर एक पैदल चल कर आने वाला आच्छादित मार्ग है जिसमें एक मुआय थाई मुक्केबाजी रिंग शामिल है और जो शाही मॅई पिंग होटल के निकट है. यह शहर अपना उदार और शांत रवैया बनाए हुए है जिसमें कई सारे स्थान और क्षेत्र ऐसे हैं जहां महिला और पुरुष समलैंगिक द्रश्य आसानी से देखे जा सकते हैं. चिआंग माई का रात का जीवन बड़ा जीवंत है और यह जीवन सुबह के कुछ घंटे तक चलता हैं. बार और देर रात तक चलने वाले रेस्तरां वैसे तो शहर भर में स्थित हैं, लेकिन कई सारे खाई के पूर्व दिशा में किनारों पर पाए जाते हैं (थापाई गेट क्षेत्र में), कई उत्कृष्ट लाइव संगीत के स्थल पिंग नदी के किनारे पर बसे हुए हैं और जो नवारत पुल के पास पड़ते हैं अथवा जो रात्रि बाज़ार के निकट पड़ते हैं. गलारी केंद्र में, थाई सांस्कृतिक नृत्य और संगीत का मुफ्त प्रदर्शन होता है. चिआंग माई और लोई क्रोह सड़क को मिलानी वाली सड़क के निकट कई सारे बार, अमेरिकन फास्ट फ़ूड और कॉफ़ी के आउटलेट और कई सारे मिले जुले रेस्तरां हैं. कराओके लाउंज (जो बेशक एक राष्ट्रीय और वास्तव में एशियाई जुनून है) शहर भर में देखे जा सकते है. उनमे से कई चिआंग माई भूमि रोड पर पाए जाते हैं, और चांग क्लान रोड पर कई बड़े लाउंज हैं जो कि प्रसिद्ध रात बाजार से दक्षिण की ओर फैले हुए हैं. चिआंग माई में केवल दो चार ही गो गो बार हैं.

चिआंग माई नाइट सफारी शाम और रात के पर्यटक आकर्षण के लिए स्थापित किये गए थे. यह एक विश्व स्तरीय गंतव्य के रूप में जाना जाता है और लगातार अंतरराष्ट्रीय पर्यटन मानक के उन्नयन के लिए प्रतिबद्ध है .

खरीदारी, मालिश और पाकशास्त्र[संपादित करें]

  • खरीदारी: चिआंग माई में कला, हस्तशिल्प, और सभी प्रकार के आयातित उत्पादों के लिए एक मशहूर रात्रि बाज़ार है और कई सारे आधुनिक शॉपिंग सेंटर स्थित है. सिर्फ रात्रि बाज़ार ही कई सारे शहर के ब्लॉक में फुटपाथ पर, इमारतों और मंदिरों के अन्दर, और खुले चौराहों पर फैला हुआ है. रचादमनोइन सड़क पर प्रत्येक रविवार की दोपहर को एक हस्तशिल्प और भोजन का बाज़ार लगता है, जो देर शाम तक चलता है, यह ऐतिहासिक केन्द्र पर मुख्य सड़क है, जो मोटर यातायात के निकट है. वुआ लाइ सड़क पर हर शनिवार शाम एक हस्तकला बाजार लगता है, जो कि चियां माई की चांदी की सड़क है और जो चिआंग माई गेट के पार पड़ती है, और जो मोटर गाड़ियों के यातायात के निकट है. दोनों शनिवार और रविवार की घटनाएं कई स्थानीय निवासियों और पर्यटकों को आकर्षित करती है.
  • सस्ते दामों की वस्तुएं खरीदने के इच्छुक आगंतुक "चोर" बाज़ार में भी जा सकते हैं. यह पुरानी वस्तुएं बेचने वाला दिलचस्प बाज़ार शहर के पूर्व में नदी के पार पड़ता है जहां पर पेड़ों के नीचे कई दिलचस्प स्टाल लगी होती हैं. यह बाज़ार काईओ नवारत और रत्नाकोसिन सड़कों को मिलाने वाले चौराहे से प्रारम्भ होता है.
  • थाई मालिश: चिआंग माई के पीछे की सडकों और मुख्य सडकों पर कई प्रकार के मसाज पार्लर पाए जाते हैं जो कई प्रकार के मसाज देते हैं, जैसे आसान और शीघ्र होने वाले पैर और चेहरे के मसाज से लेकर, एक महीने तक चलने वाले थाई मसाज की कला के कोर्स भी.
  • थाई रसोई: चिआंग माई में कई सारे खाना पकाने के स्कूल स्थित हैं.(थाई फ़ूड भी देखें)
  • सेंट्रल प्लाजा चिआंग माई हवाई अड्डा: चिआंग माई के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास शहर के केंद्र से 10 मिनट के रास्ते पर एक अत्याधुनिक वातानुकूलित शॉपिंग मॉल स्थित है जिसमें पश्चिमी और थाई फैशन, इलेक्ट्रॉनिक्स, फूड फ्रेंचाइजी, कॉफी शॉप्स, एक बड़ा सारा सिनेप्लेक्स, जिसमें वैकल्पिक रूप से आराम से बैठने की सुविधा दी गयी है और जिसमें 3 डी स्क्रीन्स लगी हुई हैं. इस सिनेप्लेक्स में अंग्रेज़ी की नयी नयी फ़िल्में, जो हाल ही में रिलीज हुई हैं, दिखाई जाती हैं और तेजी से बढ़ते हुए थाई फिल्म उद्योग की फ़िल्में भी दिखाई जाती हैं. इस सिनेप्लेक्स के साथ ही एक कम लागत वाला भोजन कक्ष और रेस्तरां हैं.
  • प्लाजा के एक केंद्र में एक अद्वितीय लाना शैली का उत्तरी गांव बनाया गया है जो कि वास्तव में एक खरीदारी का स्थल है जो तीन मंजिलों में बना हुआ है और जिसमें उच्च गुणवत्ता वाले स्थानीय हस्तशिल्प और कपड़ों के सामान का भण्डार है. निचले तल पर मुँह में पानी लाने वाले ठेठ उत्तरी थाई भोजन की दुकाने हैं.
  • कड सुअन केव सेंट्रल मॉल, जो कि पुराने शहर की खाई से 100 -200 मीटर की दूरी पर हुआय केव सड़क पर स्थित है, और जो केन्द्रीय एअरपोर्ट प्लाज़ा से भी बड़ा है, समान श्रेणी की सेवाओं और खरीदारी/मनोरंजन के विकल्प प्रस्तुत करता है.
  • आईटी की शॉपिंग के लिए, रात्रि बाज़ार के दक्षिण में पानतिप प्लाज़ा है(जो कि बैंकॉक के प्लाज़ा से काफी छोटा है), और उत्तरी खाई के निकट एक कंप्यूटर प्लाज़ा है और कड सुअन केव मॉल में आईटी सिटी विभाग की दुकान है.
  • एक प्रमुख थाई शहर के रूप में, चिआंग माई में वे सभी हाइपर मार्केट स्थित हैं जिनके नेटवर्क का थाईलैंड में प्रतिनिधित्व है, जिसमें दो टेस्को के सुपरसेंटर (और तीन छोटे टेस्को लोटस एक्सप्रेस सुपरमार्केट) सम्मिलित हैं, दो बिग सी, एक कारीफौर, और एक मैक्रो शामिल है.

वे शहर के परिधीय क्षेत्रों में राजमार्गों पर स्थित हैं और स्थानीय लोगों और आप्रवासियों के बीच अत्यधिक लोकप्रिय हैं.

परिवहन[संपादित करें]

चित्र:SongthaewChiangMai.jpg
चिआंग माई में वुअलाई रोड पर सोंग्थेव
चिआंग माई में तापई गेट के पास यात्रियों के लिए इंतजार में खड़े हुए टुक-टुक.

चिआंग माई बस,ट्रेन और हवाई सेवाओं से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. कई सारे बस स्टेशन शहर को मध्य और उत्तरी थाईलैंड से अच्छी तरह से जोड़ते हैं. केन्द्रीय चांग फेऊआक टर्मिनल (चियांग पुअक गेट के उत्तर में स्थित) चिआंग माई प्रांत में स्थानीय सेवाएं प्रदान करता है और चिआंग माई आर्केड बस टर्मिनल जो कि शहर के उत्तर-पूर्व टर्मिनल में स्थित है (जहां पहुँचने के लिए सौंगथाव अथवा टुक-टुक की सवारी लेनी होती है, नीचे देखें) थाईलैंड के 20 अन्य गंतव्य स्थलों जैसे बैंकॉक, अयूथया, और फिट्सानुलॉक के लिए अपनी सेवाएं देता है. चिआंग माई आर्केड टर्मिनल से बैंकॉक तक जाने के लिए कई सेवाएं उपलब्ध हैं (यह एक 10-12 घंटे की यात्रा है).

राज्य रेलवे बैंकाक से चिआंग माई स्टेशन तक 14 रेल गाड़ियां चलाता है. अधिकांश यात्राएं रात भर चलती हैं और लगभग 12-15 घंटे लेती हैं. अधिकांश गाड़ियां प्रथम-श्रेणी (निजी केबिन) और द्वितीय श्रेणी (सीटों को खोल कर सोने लायक बर्थ बना लिया जाता है) की सेवाएं प्रदान करती हैं. तृतीय श्रेणी की सेवाएं सबसे किफायती होती है, परन्तु आराम की कमी के कारण यह कई पर्यटकों के लिए अनुपयुक्त रहती है.

मॅई हाँग सन या चियांग राय तक पहुँचने के लिए हवाई जहाज या बस की सेवाएं लेनी होती है. चिआंग माई के उत्तरी शहरों में जाने के लिए कोई ट्रेन उपलब्ध नहीं हैं.

चिआंग माई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर बैंकॉक से तकरीबन 28 उड़ानें प्रतिदिन आती हैं (उड़ान का समय है तकरीबन 1 घंटा और 10 मिनट) और यह अड्डा अन्य उत्तर में स्थित शहरों जैसे चिआंग राई, फ्रै और माई हौंग सन को भी सेवाएं देता है. अंतरराष्ट्रीय सेवाएं चिआंग माई को अन्य क्षेत्रीय सेवाएं, जैसे हांगकांग (चीन), जिन्घोंग (चीन), काऊशुंग, (ताइवान), कुआलालंपुर (मलेशिया), कुनमिंग (चीन), लुआंग प्रभांग (लाओस), मंडालय (म्यांमार), मनिला (फिलिपाईन्स) सीओल (कोरिया), सिएम रीप (कंबोडिया), सिंगापुर (सिंगापुर), और ताइपे(ताइवान) से भी जोडती हैं.

परिवहन के पसंदीदा स्थानीय साधन हैं व्यक्तिगत मोटरसाइकिल और अब तेजी से निजी कार भी अपना स्थान बना रही है. हाल ही के वर्षों में, सड़क पर निजी वाहनों की संख्या में बढ़ोतरी के कारण शहर की मुख्य सडकों पर सुबह और शाम काफी भीड़ रहती है. मोटरबाइक शहर में कई स्थानों पर भाड़े पर उपलब्ध होती है, और पर्यटक इस सेवा का लाभ लेते हैं.

स्थानीय सार्वजनिक परिवहन, चार रूपों में प्रदान किया जता है: टुकटुक, सौन्ग्थेव्स, कम चलने वाले रिक्शा, और यदा-कदा चलने वाली चिआंग माई बस सर्विस. स्थानीय सोंग्थेव का किराया आमतौर पर शहर में और शहर के आसपास के दौरे के लिए लगभग 20-50 थाई बाह्ट प्रति व्यक्ति होता है. अगर लोगों का समूह बड़ा है, तो प्रति व्यक्ति किराया कम होगा. टुकटुक का किराया आमतौर पर प्रति व्यक्ति कम से कम 20 बाह्ट होता है (दो के लिए सुविधाजनक है, लेकिन कई बार चार यात्री भी सिमट कर बैठ जाते हैं); दूरी के साथ किराया बढ़ जाता है. किराया गाडी पर चढ़ने से पहले चालक के साथ तय किया जा सकता है. सोंग्थेव्स और टुकटुक सामान्य रूप से रात के 11:00 बजे अथवा आधी रात तक चलते हैं, और उसके बाद कम हो जाते हैं या फिर उनकी सवारी महंगी हो जाती है. हवाई अड्डे से मीटर के जरिये चलने वाली टैक्सियाँ 50 बाह्ट में मिल जाती हैं जो कि हवाई अड्डे की फीस होती है और जिसका भुगतान काउंटर पर करना होता है, और साथ में ड्राइवर को मीटर का शुल्क देना होता है (मीटर पर 60 बाह्ट आप को खाई वाले क्षेत्र में पहुंचा देता है). टिप की उम्मीद ड्राइवर नहीं करते हैं. चिआंग माई के नवेली स्थानीय बस सेवा 2006 में फिर से प्रारम्भ हुई थी. यह शहर में और शहर के आसपास मार्गों में चलती है, हालांकि यह एक नियमित सेवा नहीं है और यह मार्ग बड़े पैमाने के रूप में अन्य प्रमुख शहरों में उपलब्ध है. बैंकॉक से असमान, जहां बैंकॉक में बैंकॉक मेट्रो और बैंकॉक आकाश रेल है, चिआंग माई में ऐसी कोई सार्वजनिक परिवहन सेवा नहीं है जो तेजी से चलती है.

वायु प्रदूषण[संपादित करें]

एक सतत पर्यावरणीय समस्या जिसका चिआंग माई सामना कर रहा है वह है वायु प्रदूषण के बढ़ने की समस्या जो मुख्यतः अप्रैल से प्रारम्भ हो कर अगले कई हफ़्तों तक चलता है. इस मुद्दे को कुछ समय से स्वीकार किया जा रहा है. 1996 में, पर्यावरण अनुपालन और प्रवर्तन सम्मेलन के चौथे अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क, जो कि उस वर्ष चिआंग माई में आयोजित किया गया था, चिआंग माई के तत्कालीन राज्यपाल, विराचाई नैवबूनिएन ने अतिथि वक्ता डा. जकापन वोंग़बुरानावात्त, जो कि उस समय माई च्यांग विश्वविद्यालय में सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन थे, को आमंत्रित किया था, ताकि वे चिआंग माई में वायु प्रदूषण के लिए किये जा रहें प्रयासों पर विचार-विमर्श कर सकें. डा. वोंग़बुरानावात्त ने उस समय 1994 में कहा था कि, अस्पतालों में शहरी नागरिकों की संख्या बढ़ रही है जो वायु प्रदूषण के कारण उपजी श्वसन संबंधी समस्याओं के लिए आते हैं.[10] थाईलैंड का प्राकृतिक संसाधन और पर्यावरण मंत्रालय का प्रदूषण नियंत्रण विभाग जन जागरूकता अभियान और अन्य पहलों के साथ इस समस्या के समाधान के लिए सक्रिय हैं. इस अवधि के दौरान, वर्ष के बाकी महीनों के विपरीत, चिआंग माई में हवा की गुणवत्ता अक्सर मानक से नीचे रहती है क्योंकि यहाँ धूल के कण अपने मानक से दुगुने स्तर पर पहुँच जाते हैं.[11] मौसम विभाग के उत्तरी केंद्र ने बताया है कि चीन के कम दबाव के क्षेत्र थाई म्यांमार सीमा के आस-पास जंगलों की धुएं से प्रभावित होते हैं. चिआंग माई में वायु गुणवत्ता पिछले दस सालों में स्पष्ट रूप से खराब हुई है.[12] इस समस्या को कई तरह की पहल के द्वारा सुलझाए जाने का प्रयत्न चल रहा है, और कुछ हद तक, शहरों में आर्थिक विकास में वृद्धि के साथ, नकारात्मक पर्यावरणीय प्रभाव को रोकने के लिए किये जा रहे हैं. अक्सर इस अवधि के दौरान शहर में धुंध बनी रहती है और जिससे बरसात होने लगती है. सूक्ष्म धूल के कणों के स्तर का कभी कभी परीक्षण किया गया है जो कि प्रति घन मीटर 190 से 243 माइक्रोग्राम के बीच निकले हैं. (मानक स्वीकार्य स्तर 120 मिलीग्राम प्रति घन मीटर है.) चिआंग माई में धूल जनित प्रदूषण के मामूली स्रोतों में जलती हुई वस्तुएं भी हैं, जिसमें अंतिम संस्कार, कचरा जलना, या फिर खराब डीजल के कारण वाहनों में से निकलता हुआ धुंआ है. इन मामूली कारणों में निर्माण और खुदाई के दौरान उड़ती हुई धूल भी जुड़ जाती है.

मुख्य कारण[संपादित करें]

चिआंग माई के पश्चिम में मॅई हाँग सन प्रांत में पहाड़ों में जंगल की आग

जैसा की उपग्रह से लिए गए चित्र दर्शाते हैं, उनके अनुसार वायु प्रदूषण का मुख्य कारण पहाडी क्षेत्रों में सदीयों से चली आ रही प्रथा है, जिसके अंतर्गत जंगलों के झाड़-झंखाड़ जला कर साफ़ किये जाते हैं विशेषकर, थाई म्यांमार सीमा पर.

चिआंग माई की समस्या इसलिए भी बढ़ जाती है क्योंकि यह शहर, लॉस एंजिल्स और साल्ट लेक शहर की तरह ही, पहाड़ियों से घिरा हुआ एक प्राकृतिक भौगोलिक कटोरा है. परिणामतः हवा की आवाजाही धीमी पड़ जाती है, और वह कारों और जलते हुए कचरे से जो धूल कण निकलते हैं उन्हें भी उठा लेती है. इस व्युत्क्रम प्रभाव की वजह से, जब कटोरे में हवा उडती है, तब यह फिर से पलटती है और फिर से शहर में ही बैठ जाती है. ऐसा तब तक चलता रहता है जब तक हवाओं के रुख में बदलाव नहीं होता है या बरसात की फुहार हवा साफ़ नहीं कर देती. थाईलैंड के प्राकृतिक संसाधन और पर्यावरण मंत्रालय का थाईलैंड प्रदूषण नियंत्रण विभाग इस खतरनाक समस्या का समाधान ढूँढने का सक्रिय रूप से प्रयास कर रहा है और कई वर्षों से यह प्रयास करते हुए वह चिआंग माई का वायु गुणवत्ता सूचकांक संख्या कम करने में सफल भी हुआ है. इस समस्या को, चियांड माई और थाईलैंड में चलने वाले विभिन्न रंग के सार्वजनिक परिवहनजो सवारियों को बहुत सस्ते किराए पर लेते हैं और जिन्हें सोंगथेव कहते हैं, तीव्र कर देते हैं. लाल रंग के सोंगथेव (लाल कारें या रॉड डेंग) यात्रियों को उनके अनुरोध पर शहर में हर जगह ले जाते हैं जबकी अन्य रंगों के सोंगथेव निर्धारित मार्गों पर चलते हैं. लोग इन ट्रकों के पीछे की तरफ सवारी करते हैं और इनमे डीजल के इंजन लगे होते हैं. इन वाहनों की हॉर्स पावर बढाने के लिए इनकी निकास प्रणाली को हटा दिया जाता है जिससे उन कार्बन उत्सर्जन और भारी धातुओं की मात्रा बढ़ जाती है जो वाहनों के पीछे से निकलते हैं. नतीजतन, चिआंग माई की सड़कों पर मोटर साइकिल चलाना तेजी से कठिन होता जा रहा है. मोटरसायकल सवारों को इन ट्रकों के पीछे जाते हुए अपनी श्वास नलिका को बचाते हुए आसानी से देखा जा सकता है. यही बात प्रसिद्द टुक-टुक के विषय में भी कही जा सकती है जो थाईलैंड में सर्वत्र पाए जाते हैं. शहर के अधिकारी इस मुद्दे से भली भांति परिचित हैं और उन्होंने एक अभियान प्रारम्भ किया है, जिसके अंतर्गत सभी पुराने और खराब वाहनों की जगह, आधुनिक पीली और नीली मीटर वाली टैक्सियाँ लगाई जायेगी. जैसे जैसे धीरे धीरे, ये पुरानी गुणवत्ता के वाहन हटाये जा रहे हैं, ये अभी भी देखना बाकी है की क्या विनिमयन निकाय चिआंग माई में, इन वाहनों के चालकों के प्रतोरोध का सामना करते हुए परिवर्तन कर पायेंगे या नहीं, क्योंकि इन वाहन चालकों ने परम्परागत रूप से पिछले कई सालों से इसी तरह से अपनी जीविका चलाई है. यह कहा जा सकता है कि चिआंग माई ही केवल ऐसा शहर नहीं है जो इस समस्या से जूझ रहा है क्योंकि सम्पूर्ण थाईलैंड में टुक-टुक और सोंगथेओव ही कम लागत वाले परिवहन के मुख्य साधन हैं. दुर्भाग्य से, क्योंकि चिआंग माई की स्थिति एक उलटे हुए कटोरे की तरह है वाहनों में से जो कार्बन पदार्थ उत्सर्जित होते हैं, वे समस्या को और गंभीर करते हैं.

पिछले कई सालों से, क्योंकि चिआंग माई का वायु गुणवत्ता सूचकांक अन्य क्षेत्रों के मुकाबले अधिक से अधिक खराब हो गया है, इसलिए इस समस्या को अब स्थानीय स्तर पर पहचाना जा रहा है. चिआंग माई में डॉक्टरों ने उन्हें ऊपरी श्वास कठिनाइयों के साथ आने वाले लोगों में वृद्धि देखी है. चिआंग माई में अब सभी वाहनों के लिए उत्सर्जन मानकों के कड़े नियम बनाए हैं. 2008 से, पुलिस कभी कभी सड़क पर सड़क बंद करने वाले ब्लॉक्स लगा कर स्थल पर ही वाहनों के उत्सर्जन का परीक्षण करती है और अधिकारी खराब वाहनों का निषेध करने के कानूनों को अधिनियमित करेंगे, क्योंकि चिआंग माई में एक स्वच्छ वातावरण बनाने की दिशा में सक्रिय रूप से काम जारी है.

सिस्टर सिटीज (जुड़वां शहर)[संपादित करें]

  • Flag of चीनी जनवादी गणराज्य कुनमिंग, युन्नान , चीन

गैलरी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • चिआंग माई मेट्रोपोलिटन एरिया
  • चिआंग माई विश्वविद्यालय
  • राजकुमार रॉयल कॉलेज
  • चिआंग माई पहल
  • चिआंग माई में बौद्ध मंदिर
  • चिआंग माई के रोमन कैथोलिक धर्माध्यक्ष का स्थान

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Chiang Mai Municipality" (Thai में). Chiang Mai City. 2008. Archived from the original on 2013-01-13. http://archive.is/doE2W. अभिगमन तिथि: 2008-10-04. 
  2. "Mandarin Oriental Hotel Chiang Mai — Local Info". Mandarin Oriental Hotel Group. 2008. http://www.mandarinoriental.com/chiangmai/destination/local_info/. अभिगमन तिथि: 2008-11-17. 
  3. "Chiang Mai Municipality — History". Chiang Mai City. 2008. Archived from the original on June 28, 2008. http://web.archive.org/web/20080628045801/http://www.cmcity.go.th/english/history.php. अभिगमन तिथि: 2008-10-04. 
  4. "Chiang Mai Municipality — Emblem". Chiang Mai City. 2008. Archived from the original on June 30, 2008. http://web.archive.org/web/20080630001047/http://www.cmcity.go.th/english/emblem.php. अभिगमन तिथि: 2008-10-04. 
  5. "Churches". Chiang Mai Info. http://www.chiangmaiinfo.com/directory/categories/churches. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 
  6. [1][मृत कड़ियाँ]
  7. "Chiang Mai — A Complete Guide To Chiangmai". Chiangmai-thai.com. 2008-07-06. http://www.chiangmai-thai.com/introduction.htm. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 
  8. "ประวัติการอพยพของจีนมุสลิม". oknation.net. http://www.oknation.net/blog/hidayatool/2008/04/10/entry-2. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 
  9. Gerardpu, Tripadvisor Chiang Mai (2008-07-13). "Chiang Mai Holiday Adventure Flight of the Gibbon Zipline Tour | Thailand Holiday". Treetopasia.com. http://www.treetopasia.com/thailand-holiday/chiang-mai. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 
  10. चिआंग माई में पर्यावरण संबंधी चुनौतियां, पर्यावरणीय अनुपालन और प्रवर्तन पर चौथा अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
  11. "Air pollution in Chiang Mai: current air quality & PM-10 levels". Earthoria. 2008-02-27. http://www.earthoria.com/air-pollution-levels-in-chiang-mai-rising.html. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 
  12. "Chiang Mai's air pollution still high". Nationmultimedia.com. 2007-03-11. http://www.nationmultimedia.com/2007/03/11/national/national_30029004.php. अभिगमन तिथि: 2010-04-15. 

बाह्य लिंक[संपादित करें]