चार्ल्स लुई अल्फोंस लैवेरन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चार्ल्स लुई अल्फोंस लैवेरन

चार्ल्स लुई अल्फोंस लैवेरन (जन्म 18 जुन 1845 - मृत्यु 18 मई, 1922), एक फ्रांसिसि चिकित्सक थे। अल्जीरिया में एक सैन्य चिकित्सालय में कार्य करते हुए, उन्होंने खोज निकाला कि मलेरिया रोग का कारक एक प्रोटोज़ोआ है। यह पहली बार था, कि किसी ने कहा की मलेरिया एक प्रोटोज़ोआ के कारण होता है। बाद के दिनों में उन्होने ट्रिपनोजोम्स तथा स्लिपींग सीकनेस पर भी शोध कीया। उनके इन कार्यों तथा प्रोटोज़ोआ के द्वारा होनें वाले रोगों पर किये गये शोधों के लियें उन्हें 1907 में चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार दिया गया।