गुजरात विश्वविद्यालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Gujarat University
Gujarat University logo
ध्येय चित्र:YogaFinal.png, "Diligence leads to Excellence" (A Sanskrit quotation from the Bhagavad Geeta).
स्थापना 23rd November 1949
प्रकार Public
कुलाधिपति S. C. Jamir
उपकुलपति Dr. Parimal H. Trivedi
अवस्थिति Ahmedabad, Gujarat, India
परिसर Urban
सम्बन्धता UGC
जालस्थल www.gujratuniversity.org.in

गुजरात विश्वविद्यालय राज्यव्यापी संस्थान है जिससे भारत के गुजरात राज्य के कई प्रतिष्ठित कॉलेज सम्बद्ध (affiliated) हैं. इसे राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं मान्यता परिषद (एनएएसी) (National Assessment and Accreditation Council (NAAC)) द्वारा बी++ रैंकिंग दी गई है. यह भारत के सबसे श्रेष्ठ और बहुमुखी उच्च शिक्षा संस्थानों में से एक है. इसके अलावा, यह अपने कैंपस (परिसर) के 2,24,000 से अधिक छात्रों और विभिन्न संबद्ध कॉलेजों के साथ उपमहाद्वीप की सबसे बड़ी विश्वविद्यालय प्रणालियों में से एक है. यह विशेष रूप से अपनी चिकित्सा, इंजीनियरिंग व टैक्नोलॉजी, फार्मेसी, वाणिज्य और प्रबंधन कॉलेजों के लिए प्रसिद्ध है. विश्वविद्यालय पोर्ट मैनेजमैंट, नैनो प्रौद्योगिकी, टिशु कल्चर में क्षेत्रीय/विशेष कार्यक्रम चलाता है.

अनुक्रम

इतिहास[संपादित करें]

गुजरात विश्वविद्यालय की कल्पना उन्नीस सौ बीस के दशक में गांधी जी, सरदार पटेल, आचार्य आनंदशंकर बी. ध्रुव, दादा साहेब मावलंकर और कस्तूरभाई लालभाई जैसे सार्वजनिक उत्साही और समझदार लोगों ने की थी. विश्वविद्यालय की स्थापना भारत की आजादी के बाद की गई थी. 1949 में, राज्य सरकार के गुजरात विश्वविद्यालय अधिनियम के अंतर्गत शिक्षण और मान्यता प्रदान करने वाले विश्वविद्यालय के रूप में विश्वविद्यालय की स्थापना की गई. इसकी स्थापना तत्कालीन बंबई प्रांत के विकेन्द्रीकरण और विश्वविद्यालय में शिक्षा के पुनर्गठन के एक उपाय के रूप में की गई थी. अपने जीवन काल के दौरान, विश्वविद्यालय ने ऐसे अनेक विश्वविद्यालयों को स्थापित होते देखा है जिनका निर्माण गुजरात विश्वविद्यालय के क्षेत्राधिकार से हुआ है, जैसे, सरदार पटेल विश्वविद्यालय, सौराष्ट्र विश्वविद्यालय, भावनगर विश्वविद्यालय, वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय, गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय, क्रांतिगुरु श्यामजी कृष्ण वर्मा कच्छ विश्वविद्यालय, नवसारी कृषि विश्वविद्यालय, जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय, आनंद कृषि विश्वविद्यालय, सरदार कृषिनगर दान्तिवाड़ा कृषि विश्वविद्यालय, धर्मसिंह देसाई विश्वविद्यालय निरमा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हेमचंद्राचार्य उत्तर गुजरात विश्वविद्यालय और गुजरात प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पर्यावरण योजना और टैक्नोलॉजी केंद्र, धीरूभाई अंबानी सूचना और संचार तकनीक संस्थान, गणपत विश्वविद्यालय, कड़ी सर्वा विश्वविद्यालय, पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय, अहमदाबाद विश्वविद्यालय, ICFAI विश्वविद्यालय और नवरचना विश्वविद्यालय. फिर भी, गुजरात विश्वविद्यालय 235 कॉलेजों, 15 मान्यता प्राप्त संस्थानों और 24 स्वीकृत संस्थानों में फैले 200000 से अधिक छात्रों की शैक्षिक आवश्यकताओं को पूरा करने वाला राज्य का सबसे बड़ा विश्वविद्यालय है. यहां 34 से अधिक स्नातकोत्तर विश्वविद्यालय विभाग और 221 पी. जी. केन्द्र हैं. अंडर ग्रेजुएट स्तर पर गुजरात विश्वविद्यालय एक सम्बद्ध (affiliating) विश्वविद्यालय है, जबकि स्नातकोत्तर स्तर पर यह अध्यापन विश्वविद्यालय है. निःसंदेह, स्नातकोत्तर शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय को सांविधिक जिम्मेदारी दी गई है, और तदनुसार कुशल और विविध अनुदेश सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय के प्रत्यक्ष नियंत्रण और पर्यवेक्षण के अंतर्गत समन्वित शिक्षा की एक योजना विकसित की गई है. इस विश्वविद्यालय की एक महत्वपूर्ण सुविधा स्नातक और स्नातकोत्तर, स्तर पर आर्ट्स और कॉमर्स दोनों संकायों में बाह्य परीक्षा प्रणाली है. बाह्य परीक्षाएं कामकाजी छात्रों तथा अन्य लोगों, जो अपने सपने को पूरा करने के लिए विश्वविद्यालय की उच्च शिक्षा का खर्चा वहन नहीं कर सकते, की मदद के उद्देश्य से शुरू की गईं थीं. अपनी स्थापना के बाद से ही गुजरात विश्वविद्यालय ने अलग हट कर अपनी पहचान स्थापित की है जिसके कारण वर्तमान में पूरे देश में यह एक प्रमुख विश्वविद्यालय के तौर पर जाना जाता है. यह लगभग 2,00,000 से भी अधिक छात्रों को शिक्षा के लिए विषयों की विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है.

गुजरात विश्वविद्यालय के परिसर और क्षेत्राधिकार[संपादित करें]

अहमदाबाद में गुजरात विश्वविद्यालय क्लॉक टॉवर

गुजरात विश्वविद्यालय का शानदार मुख्य परिसर अहमदाबाद शहर के नवरंगपुरा क्षेत्र में स्थित है. गुजरात विश्वविद्यालय परिसर एक ही स्थान पर टिका हुआ नहीं है, बल्कि इसकी बजाए पूरे अहमदाबाद शहर में फैला हुआ है और इसके कॉलेज तथा संस्थान अहमदाबाद, कायरा (आनंद तालुका में वल्लभ विद्यानगर की सीमाओं तथा सरदार पटेल विश्वविद्यालय के कार्यालय की सीमा के 5-मील (8.0 कि.मी.) क्षेत्र को छोड़ कर), पंचमहल, साबरकंठ, बनासकंठ (आबू रोड तालुका को छोड़ कर जो कि राजस्थान राज्य का हिस्सा है) और वड़ोदरा (वड़ोदरा शहर के क्षेत्र तथा महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय, बड़ौदा के कार्यालय की सीमा के 10-मील (16 कि.मी.) क्षेत्र को छोड़ कर) के जिलों में फैले हुए हैं. विश्वविद्यालय से 250 से अधिक संबद्ध (affiliated) कॉलेज और 15 मान्यता प्राप्त संस्थान जुड़े हुए हैं.

परिसर में अन्य सुविधाएं[संपादित करें]

निम्नलिखित परिसरों में निर्माण कार्य जारी है[संपादित करें]

  • कन्वेंशन सेंटर
  • गुजरात विश्वविद्यालय डाकघर
  • गुजरात विश्वविद्यालय केन्द्रीय उपभोक्ता सहकारी स्टोर
  • विश्वविद्यालय की कैंटीन
  • गुजरात विश्वविद्यालय रोजगार कार्यालय केंद्र.

गुजरात विश्वविद्यालय के स्कूल एवं विभाग[संपादित करें]

अहमदाबाद के मुख्य परिसर में निम्नलिखित स्कूल और विभाग शामिल हैं:

शैक्षिक स्कूलों और विभाग[संपादित करें]

निम्नलिखित शैक्षणिक विभाग निर्माणाधीन हैं[संपादित करें]

  • सूक्ष्म जीव विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी विभाग
  • रक्षा अध्ययन विभाग
  • गृह विज्ञान विभाग
  • भूविज्ञान विभाग

प्रशासनिक विभाग[संपादित करें]

छात्र कल्याण विभाग[संपादित करें]

University Grants Commission of India's Centers at Gujarat University[संपादित करें]

पाठ्यक्रम[संपादित करें]

गुजरात विश्वविद्यालय के प्रसिद्ध संबद्ध कॉलेज[संपादित करें]

गुजरात विश्वविद्यालय के मान्यता प्राप्त संस्थान[संपादित करें]

अन्य प्रतिष्ठित और मुख्य परिसर के आसपास सहित अनुसंधान तथा शैक्षिक संस्थान[संपादित करें]

गांधीनगर

मुख्य कैम्पस के आसपास बनने वाले प्रस्तावित संस्थान[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

मशहूर पूर्व छात्र[संपादित करें]

बाह्य लिंक्स[संपादित करें]