गणतंत्र-अधीन ज़िले

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ताजिकिस्तान के गणतंत्र-अधीन ज़िले (ख़ाक़ी रंग में) देश के मध्य में स्थित है

गणतंत्र-अधीन ज़िले (ताजिकी: Ноҳияҳои тобеи ҷумҳурӣ, ناحیه های تابع جمهوری, नोहियाहो-इ तोबे-इ जुम्हूरी) ताजिकिस्तान का एक प्रशासनिक विभाग है। देश के मध्य भाग में स्थित यह १३ ज़िलें हैं जो किसी ताजिक प्रान्त का भाग नहीं हैं बल्कि जिनपर ताजिकी केन्द्रीय सरकार सीधा शासन करती है।[1]

विवरण[संपादित करें]

मध्यकाल में गणतंत्र-अधीन ज़िलों का क्षेत्र 'कारोतेगिन' (Karotegin) के नाम से जाना जाता था।[2] जब ताजिकिस्तान को सोवियत संघ का भाग बनाया गया तो सन् १९३९ में यह क्षेत्र ग़र्म ओब्लास्त (Гармская область) का हिस्सा बना। सन् १९५५ में इस ओब्लास्त को ख़त्म कर दिया गया।[3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Central Asia, Bradley Mayhew, Greg Bloom, Paul Clammer, Lonely Planet, 2010, ISBN 978-1-74179-148-8
  2. Appletons ̕annual cyclopædia and register of important events. v. [1-15, 1861-75; v. 16-35], Appleton, 1876, ... It is far more likelv that for long years Kulab, Darwar, and Karotegin, will be virtually independent, and that, whatever may happen to the westward, we shall thus, at any rate, escape the inconvenience of direct Russian contact ...
  3. Understanding violent conflict: A comparative study of Tajikistan and Uzbekistan, Idil Tuncer Kilavuz, Indiana University. Central Eurasian Studies, ProQuest, 2007, ISBN 978-0-549-22419-8, ... For example, when the oblast Garm (comprised of Tavildara, Komsomolabad, Tajikabad, Faizabad and Jirgital rayons) was abolished, Garm became a rayon ...