क्षणिक परिमाण परिमाप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

क्षणिक तीव्रता परिमाप (Moment magnitude scale) भूकम्पज्ञों द्वारा उपयोग में लाया जाने वाला परिमाप है जो किसी भूकंप को नापने के लिए प्रयुक्त किया जाता है। इसमें किसी भूकंप द्वारा छोड़ी गई ऊर्जा के संबंध में भूकंप को मापा जाता है।

इसका विकास थॉमस सी हैंक्स और हिरो कानामोरी द्वारा सत्तर के दशक के अंत में रिक्टर परिमाप के अद्यतन स्वरूप किया गया था जो की तीस के दशक में भूकम्पों को मापने के लिए विकसित किया गया था।

रिक्टर परिमाप के ही समान यह भी लघुगणकीय परिमाप है, अर्थात प्रति एक इकाई की वृद्दि वाला भूकम्प पिछली इकाई के भूकम्प से √१००० या ३१.६ गुणा अधिक शक्तिशाली होता है: उदाहरणार्थ, ५ की तीव्रता वाला भूकम्प ४ की तीव्रता वाले भूकम्प से तीस गुणा अधिक शक्तिशाली होगा और ६ की तीव्रता वाला ४ वाले से लगभग १००० (३१.६x३१.६) गुणा अधिक शक्ति शाली होगा और ७ की तीव्रता वाला भूकम्प तो ४ वाले से ३१,५५५ (३१.६x३१.६x३१.६) गुणा अधिक शक्तिशाली होगा।

क्षणिक तीव्रता परिमाप एक इकाईहीन संख्या है जो गणितकीय रूप से इस प्रकार है: M_\mathrm{w} = {2 \over 3}\left(\log_{10} \frac{M_0}{1\,\mathrm{N}\cdot \mathrm{m}} - 9.1\right) = {2 \over 3}\left(\log_{10} \frac{M_0}{1
\,\mathrm{dyn}\cdot \mathrm{cm}} - 16.1\right)

M0 भूकम्पीय गतिविधि है।

क्षणिक तीव्रता परिमाप को Mw से दर्शाया जाता है।

यहा भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]