क्रोध का नियंत्रण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

क्रोध पर नियंत्रण (anger management) से अभिप्राय उन मनोचिकित्सकीय विधियों से है जिनका उपयोग करके एवं जिनके अभ्यास से क्रोधी स्वभाव के व्यक्ति लाभान्वित हो सकते हैं। क्रोध को नियंत्रण में रखने से बहुत से लाभ होते हैं। इसके लिये कुछ प्रसिद्ध विधियाँ हैं -

  • विश्रांति तकनीक (relaxation techniques),
  • संज्ञानात्मक पुनर्रचना (cognitive restructuring),
  • समस्या समाधान (problem solving), तथा
  • संचार रणनीति को उन्नत बनाना (improving communication strategies)

हिन्दू धर्म में 'अक्रोध' को धर्म के दस लक्षणों में सम्मिलित किया गया है। गीता में कहा गया है-

क्रोधात भवति सम्मोहः सम्मोहात स्मृतिविभ्रमः ।
स्मृतिभ्रंशात बुद्धिनाशो बुद्धिनाशात प्रणश्यति ॥ (गीता 2.63)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]