कोकचा नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सन् २००७ में फैज़ाबाद, बदख़्शान के शहर में कोकचा नदी पर पुल के लिए नीव डालने का काम जारी है

कोकचा नदी (फ़ारसी और पश्तो: کوکچا, अंग्रेज़ी: Kokcha)उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान की एक नदी है। यह आमू दरिया की एक उपनदी है और बदख़्शान प्रान्त में हिन्दू कुश पहाड़ों में बहती है। बदख़्शान प्रान्त की राजधानी फैज़ाबाद इसी नदी के किनारे बसी हुई है। कोकचा नदी की घाटी में सर-ए-संग खान स्थित है जहाँ से हज़ारों सालों से लाजवर्द (लैपिस लैज़्यूली) निकाला जा रहा है।[1] २००० ईसापूर्व में अपने चरम पर सिन्धु घाटी सभ्यता ने भी यहाँ के शोरतुगई इलाक़े के पास एक व्यापारिक बस्ती बनाई थी जिसके ज़रिये लाजवर्द भारतीय उपमहाद्वीप के अलावा प्राचीन मिस्र और मेसोपोटामिया की सभ्यताओं तक भी पहुँचाया जाता था।[2][3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी जोड़[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Afghanistan: Lonely Planet guidebooks, Paul Clammer, Lonely Planet, 2007, ISBN 978-1-74059-642-8, ... It's thought that the mines of Sar-e Sang have been worked for over 7000 years, the most important source of lapis lazuli in the world ...
  2. Ancient Mesopotamian Materials and Industries: the Archaeological Evidence, Peter Roger Moorey, Eisenbrauns, pp. 86-87, 1999, ISBN 978-1-57506-042-2
  3. The Ancient Indus Valley: New Perspectives, Jane McIntosh, pp. 167-168, ABC-CLIO, 2008, ISBN 978-1-57607-907-2, ... The importance to the Harappans of resources from the north is indicated by the fact that, rather than merely sending traders to the region, they established an Indus trading outpost at Shortugai, at the confluence of the Kokcha and Amu Darya Rivers in Afghanistan, to facilitate their procurement of local resources. As well as lapis lazulim these resources included tin and gold ...