कोंगुर ताग़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कोंगुर ताग़ का नज़ारा

कोंगुर ताग़ (उइग़ुर: قوڭۇر تاغ, मंगोल: Хонгор Таг, अंग्रेज़ी: Kongur Tagh) कुनलुन शान पर्वतमाला का सबसे ऊँचा पहाड़ है। वैसे तो यह ७,६४९ मीटर (२५,०९५ फ़ुट) ऊँचा पर्वत अपने समीपी मुज़ताग़ अता पहाड़ (जो कुनलुन शान का दूसरा सबसे ऊँचा पहाड़ है) के बहुत पास है, लेकिन अधिक दुर्गम स्थल में होने से कम जाना जाता है। आधुनिक काल में काराकोरम राजमार्ग के बन जाने से अब कोंगुर ताग़ तक पहुँचना आसान हो गया है। यह चीन के शिनजियांग प्रांत का सबसे ऊँचा पर्वत भी है। पामीर पर्वतों के नज़दीक होने से कोंगुर ताग़ को कभी-कभी उस पर्वतमाला का हिस्सा भी माना जाता है।[1] क्योंकि कभी-कभी यह विवाद का विषय होता है कि कोंगुर ताग़ और मुज़ताग़ अता कुनलुन शृंखला में गिने जाने चाहिए कि नहीं इसलिए अक्सर ७,१६७ मीटर ऊँचा कुनलुन देवी पर्वत को ही कुनलुन शान का सबसे ऊंचा पर्वत कहा जाता है।

नाम का उच्चारण[संपादित करें]

'ताग़' में 'ग़' अक्षर के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिन्दु वाले 'ग' से ज़रा भिन्न है। इसका उच्चारण 'ग़लती' और 'ग़रीब' शब्दों के 'ग़' से मिलता है। उइग़ुर जैसी तुर्की भाषाओँ में 'ताग़' का मतलब 'पर्वत' होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Footprint Tibet Handbook, Gyurme Dorje, Footprint Travel Guides, 1999, ISBN 978-1-900949-33-0, ... The Kunlun mountains forming Tibet's northem frontier extend 2000 kilometres ... Mount Kongur (7719 metres) and Mount Muztagh Ata (7546 metres) ...