कृषि मंत्रालय, भारत सरकार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भारत सरकार के कृषि मंत्रालय के अधीन निम्न संस्थान एवं विभाग कार्यरत हैं। यही मंत्रालय भारत की कृषि नीति तय करता है। इस मंत्रालय के विभिन्न विभाग हैं:-

ग्रामीण भारत में स्वास्थ्य की वर्त्तमान स्थिति[संपादित करें]

आज स्वस्थ भारत का निर्माण चुनौती बन गई है। जहाँ देश में स्वास्थ्य सुविधाएँ प्रदान करने के क्षेत्र में निजी अस्पतालों की भागीदारी बढ़ रही है वहीं महँगी स्वास्थ्य सेवाएँ गरीबों की पहुँच से दिनों-दिन दूर होती जा रही है। इस मामले में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य की स्थिति और ज्यादा चिंताजनक बनी हुई है। इसी स्थिति का सामना करने के लिए केन्द्र सरकार ने राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन की शुरुआत की है ताकि गाँव के गरीबों विशेषकर महिलाओं को उचित स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करायी जा सके। साथ ही, नवजात शिशुओं में बढ़ती कुपोषण व अपंगता की समस्या तथा बाल व मातृत्व मृत्यु दर को नियंत्रित किया जा सके।

सबसे अहम् बात यह कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता का भी अभाव पाया गया है। आई.एन.डी.जी अपने वेब पोर्टल एवं गेटवे पत्रिका के माध्यम से ग्रामीण समुदाय में स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता लाने का ही काम कर रही है। इसके माध्यम से यह स्वस्थ भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए स्थानीय भाषा में पोषाहार, बीमारी व उससे बचाव, परिवार नियोजन एवं सरकार द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न योजना व कार्यक्रमों तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने का कार्य कर रही है। इसी क्रम में हम यूनीसेफ (हैदराबाद केन्द्र) के सहयोग से मातृत्व स्वास्थ्य व शिशु समरक्षा पर एक बहुभाषीय परिचर्चात्मक सीडी भी उपलब्ध करा रहे हैं। इसके माध्यम से, आप गर्भ में पल रहे बच्चे किस प्रकार विभिन्न स्थितियों से गुज़रते हुए बड़े होते हैं और उसकी देखभाल आपको किस प्रकार करनी चाहिए, के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।[1]

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]