कुमाऊं के आदमखोर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कुमाऊं के आदमखोर (Man-Eaters of Kumaon) शिकारी और प्रकृतिवादी [ [ जिम कॉर्बेट ( शिकारी ) | जिम कॉर्बेट ] ] द्वारा लिखित एक पुस्तक है. इस पुस्तक में जिम कॉर्बेट के 1920 और 1930 के दशक में कुमाऊं क्षेत्र के आदमखोर बाघों और तेंदुओं के शिकार के अनुभवों का विवरण है। . इस पुस्तक में भारतीय हिमालय क्षेत्र के बीसवीं सदी के प्रारंभिक वर्षों की महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है, साथ ही इसमे वनस्पति , जीव और ग्रामीण जीवन के बारे मे भी प्रासंगिक जानकारी है . इस पुस्तक पर आधारित एक फिल्म का निर्माण भी सन १९४८ में मैन-इटर्स औफ़ कुमाऊँ के नाम से किया गया.