कांचीपुरम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कांचीपुरम
—  नगर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य तमिल नाडु
ज़िला कांचीपुरम्
जनसंख्या 28,77,468 (2001 के अनुसार )

Erioll world.svgनिर्देशांक: 12°49′N 79°43′E / 12.82°N 79.71°E / 12.82; 79.71

कांचीपुरम, कांची, भारत के तमिल नाडु राज्य का एक नगरमहापालिका क्षेत्र है। यह मन्दिरों का शहर है। यह कांचीपुरम् जिला का मुख्यालय भी है। इसे पूर्व में कांची या काचीअम्पाठी भी कहते थे।

यह पलार नदी के किनारे स्थित है, एवं अपनी रेशमी साडि़यों एवं मन्दिरों के लिये प्रसिद्ध है। यहां कई बडे़ मन्दिर हैं, जैसे वरदराज पेरुमल मन्दिर भगवान विष्णु के लिये, भगवान शिव के पांच रूपों में से एक को समर्पित एकाम्बरनाथ मन्दिर, कामाक्षी अम्मा मन्दिर, कुमारकोट्टम, कच्छपेश्वर मन्दिर, कैलाशनाथ मन्दिर, इत्यादि। यह नगर अपनी रेशमी साडि़यों के लिये भी प्रसिद्ध है। ये साडि़याँ हाथोम से बुनी होती हैं, एवं उच्च कोटि की गुणवत्त होती है। इसीलिये, प्रायः सभी तमिल संभ्रांत परिवार की महिलाओं की साडि़यों केएक ना एक तो कांजीवरम होती ही है। इनकी उत्तर भारत में भी खूब मूल्य होता है। उत्तरी तमिलनाडु में स्थित कांचीपुरम भारत के सात सबसे पवित्र शहरों में एक माना जाता है। हिन्दुओं का यह पवित्र तीर्थस्थल हजार मंदिरों के शहर के रूप में चर्चित है। आज भी कांचीपुरम और उसके आसपास 126 शानदार मंदिर देखे जा सकते हैं। यह शहर चैन्नई से 45 मील दक्षिण पश्चिम में वेगवती नदी के किनार बसा है। कांचीपुरम प्राचीन चोल और पल्लव राजाओं की राजधानी थी। मंदिरों के अतिरिक्त यह शहर हैंडलूम इंडस्ट्री और खूबसूरत रेशमी साड़ियों के लिए सर्वविख्यात है।

मुख्य पर्यटन स्थल[संपादित करें]

कैलाशनाथ मंदिर[संपादित करें]

शहर के पश्चिम दिशा में स्थित यह मंदिर कांचीपुरम का सबसे प्राचीन और दक्षिण भारत के सबसे शानदार मंदिरों में एक है। इस मंदिर को आठवीं शताब्दी में पल्लव वंश के राजा राजसिम्हा ने अपनी पत्नी की प्रार्थना पर बनवाया था। मंदिर के अग्रभाग का निर्माण राजा के पुत्र महेन्द्र वर्मन तृतीय के करवाया था। मंदिर में देवी पार्वती और शिव की नृत्य प्रतियोगिता को दर्शाया गया है।

बैकुंठ पेरूमल मंदिर-[संपादित करें]

भगवान विष्णु को समर्पित इस मंदिर का निर्माण सातवीं शताब्दी में पल्लव राजा नंदीवर्मन पल्लवमल्ला ने करवाया था। मंदिर में भगवान विष्णु को बैठे, खड़े और आराम करती मुद्रा में देखा जा सकता है। मंदिर की दीवारों में पल्लव और चालुक्यों के युद्धों के दृश्य बने हुए हैं। मंदिर में 1000 स्तम्भों वाला एक विशाल हॉल भी है जो पर्यटकों को बहुत आकषित करता है। प्रत्येक स्तम्भ में नक्काशी से तस्वीर उकेरी गई हैं जो उत्तम कारीगर की प्रतीक हैं।

कामाक्षी अम्मन मंदिर-[संपादित करें]

कामाक्षी अमां मंदिर

यह मंदिर देवी शक्ति के तीन सबसे पवित्र स्थानों में एक है। मदुरै और वाराणसी अन्य दो पवित्र स्थल हैं। 1.6 एकड में फैला यह मंदिर नगर के बीचोंबीच स्थित है। मंदिर को पल्लवों ने बनवाया था। बाद में इसका पुनरोद्धार 14 वीं और 17वीं शताब्दी में करवाया गया।

वरदराज मंदिर-[संपादित करें]

भगवान विष्णु को समर्पित इस मंदिर में उन्हें देवराजस्वामी के रूप में पूजा जाता है। मंदिर में 100 स्तम्भों वाला एक हाल है जिसे विजयनगर के राजाओं ने बनवाया था। यह मंदिर उस काल के कारीगरों की कला का जीता जागता उदाहरण है।

एकमबारानाथर मंदिर-[संपादित करें]

यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। इस मंदिर को पल्लवों ने बनवाया था। बाद में इसका पुर्ननिर्माण चोल और विजयनगर के राजाओं ने करवाया। 11 खंड़ों का यह मंदिर दक्षिण भारत के सबसे ऊंचे मंदिरों में एक है। मंदिर में बहुत आकर्षक मूर्तियां देखी जा सकती हैं। साथ ही यहां का 1000 पिलर का मंडपम भी खासा लोकप्रिय है।

वेदानथंगल और किरीकिरी पक्षी अभ्यारण्य-[संपादित करें]

यह दोनों पक्षी अभ्यारण्य कांचीपुरम के अंदरूनी भाग में स्थित हैं। वेदानथंगल 30 हेक्टेयर और किरीकिरी 61 हेक्टेयर में फैला हुआ है। यह अभ्यारण्य बबूल और बैरिंगटोनिया पेड़ो से भर हुए हैं। इन अभ्यराण्य में पाकिस्तान, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और साइबेरियन पक्षियों को देखा जा सकता है। पिन्टेल्स, स्टिल्ट्स, गारगानी टील्स और सैंडपाइपर जसी पक्षियों की प्रजातियां यह नियमित रूप से देखी जा सकती हैं। इन दोनों अभ्यराण्य में तकरीबन 115 पक्षियों की प्रजातियां पाई जाती हैं।

भ्रमण[संपादित करें]

वायु मार्ग-

कांचीपुरम का निकटतम एयरपोर्ट चैन्नई है जो लगभग 75 किमी. दूर है। चैन्नई से कांचीपुरम लगभग 2 घंटे में पहुंचा जा सकता है।

रेल मार्ग-

कांचीपुरम का रेलवे स्टेशन चैन्नई, चेन्गलपट्टू, तिरूपति और बैंगलोर से जुड़ा है।

सड़क मार्ग-

कांचीपुरम तमिलनाडु के लगभग सभी शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा है। विभिन्न शहरों से कांचीपुरम के लिए नियमित अंतराल में बसें चलती हैं।

कांचीपुरम मन्दिर 1811.

History[संपादित करें]

पुष्पेशु जाति, पुरुषेशु विष्णु, नारीशु रम्भा, नगरेशु कांची

—कालिदास


मन्दिरों की सूची[संपादित करें]

चित्र:Ekambareshwar Gopuram.jpg
एकाम्बरेश्वर मन्दिर का एक गोपुरम

कांचीपिरम तमिल नाडु का मन्दिर नगरी है। यहां कांची के लगभग सभी मुख्य मन्दिरों की सूची दी गयी है।

वैष्णव मन्दिरों की सूची

  • Varadharaja Perumal Temple
  • Ashtabujakaram - Sri Adhikesava Perumal Temple
  • Tiruvekkaa - Sri Yathothkari Temple
  • Tiruththanka - Sri Deepa prakasa Perumal Temple
  • Tiruvelukkai - Sri Azhagiya Singar Temple
  • Tirukalvanoor - Sri Adi Varaha Swami Temple
  • Tiru oorakam - Sri Ulaganatha Swami Temple
  • Tiru neeragam - Sri Jagadeeshwarar Temple
  • Tiru kaaragam - Sri Karunagara Perumal Temple
  • Tirukaarvaanam - Sri Tirukaarvarnar Temple
  • Tiru paramechura vinnagaram - Sri Vaikunda Perumal Temple
  • Tiru pavala vannam - Sri Pavala Vanar Temple
  • Tiru paadagam - Sri Pandava thoodar Temple
  • Tiru nilaaththingal thundam - Sri Nilathingal Thundathan Perumal Temple
  • Tirupputkuzhi - Sri Vijaya Raghava Perumal Temple
  • Parithiyur-Kalyana Varadharaja Perumal Temple

शैव मन्दिरों की सूची

  • Kailasnatha temple
  • Ekambareshwarar temple
  • Kachi Metrali
  • Onakanthan Tali
  • Kachi Anekatangapadam
  • Kachi Nerikkaaraikkadu
  • Kuranganilmuttam
  • Tiru Maakaral
  • Tiruvothur
  • Panankattur
  • Sangupani Vinayakar Temple-Sangupani vinayakar Temple
  • Vazhakarutheeswarar Temple
  • Thirumetrali Temple

संस्थाएं[संपादित करें]

विद्यालय

  • Anderson Higher Secondary School
  • Pachaiyappa's Higher Secondary School
  • S.S.K.V Boys Higher Secondary School
  • S.S.K.V Girls Higher Secondary School
  • Mamallan Matriculation School
  • Victoria Matriculation School
  • Sangford Schools
  • Annie Besant Matriculation School

महाविद्यालय

  • Pachaiyappa's College for Men
  • Pachaiyappa's College for Women
  • Pallavan Engineering College
  • Bhaktavatsalam Polytechnic College

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

कांचीपुरम तमिल नाडु की राजधानी चेन्नई का एक क्षेत्र है। यहां चेन्नई उपनगरीय रेलवे-दक्षिण लाइन का एक स्टेशन है।

बाहरी कडि़यां[संपादित करें]


सन्दर्भ[संपादित करें]



कांचीपुरम
उत्तर को अगला स्टेशन:
[[{{{2}}}]]
चेन्नई उपनगरीय रेलवे : दक्षिण लाइन दक्षिण को अगला स्टेशन:
[[{{{3}}}]]
स्टॉप संख्या:{{{4}}} आरंभ से दूरी:{{{5}}} कि.मी.