कल्हण गोत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कल्हन या कल्हण चन्द्रवंशी जाटों की एक गोत्र है जो पंजाब और गुजरात में पायी जाती है।[1][2]

उद्भव[संपादित करें]

कल्हण नाम संस्कृत के एक प्राचीन, प्रसिद्ध कवि का भी है । उन्होंने राजतरंगिणी नामक ग्रन्थ लिखा है जिसमें कश्मीर के राजाओं का इतिहास है। कुछ इतिहासकारों के अनुसार इस गोत्र का उद्भव वहाँ से हुआ है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. प्रो॰ बी॰ एस॰ ढ़िल्लों. History and study of the Jats [जाटों का अध्ययन एवं इतिहास]. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1895603026. 
  2. डॉ॰ महेन्द्र सिंह आर्य, धर्मपाल सिंह डूडी, किशन सिंह फौजदार और विजेन्द्र सिंह नारवार (1998). आधुनिक जाट इतिहास. आगरा. प॰ 229.