कम्पोनेंट वीडियो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
YPbPr अनुरूप घटक वीडियो को जारी करने के लिए तीन केबल, जिसके दोनों सिर प्रत्येक आरसीए (RCA) प्लग के साथ जुड़ा होता है अक्सर किया जाता है

कम्पोनेंट वीडियो एक प्रकार का वीडियो सिग्नल है जिसे दो या अधिक घटकों में विभाजित कर दिया गया है. प्रचलित उपयोग में इसका आशय एक प्रकार की एनालॉग वीडियो सूचना से होता है, जो तीन भिन्न सिग्नलों के रूप में प्रसारित या संचित की जाती है. कम्पोनेंट वीडियो, कम्पोज़िट (एनटीएससी (NTSC), पीएएल (PAL) या एसईसीएएम (SECAM)) वीडियो से इस प्रकार भिन्न होता है कि इसमें समस्त वीडियो सूचना मात्र एक ही लाइन-लेवल सिग्नल में संयुक्त होती है. कम्पोज़िट के सामान ही, कम्पोनेंट वीडियो केबल भी ऑडियो नहीं होता और प्रायः इन्हें ऑडियो केबल के साथ युग्मित किया जाता है.

जब इस शब्द को अन्य किसी विशेषण के बिना प्रयोग किया जाता है तो कम्पोनेंट वीडियो का सामान्य अर्थ ल्युमा पर सिंक के साथ एनालॉग वायपीबीपीआर (YPbPr) कम्पोनेंट वीडियो से होता है.

एनालॉग कम्पोनेंट वीडियो[संपादित करें]

डिस्प्ले उपकरण (उदहारण के लिए, एक सीआरटी (CRT)) पर एक वीडियो सिग्नल को पुनरुत्पादित करना एक सीधी प्रक्रिया होती है जो सिग्नल स्रोतों के समूह द्वारा जटिल बना दी जाती है. डीवीडी (DVD), वीएचएस(VHS), कंप्यूटर और वीडियो गेम कंसोल, यह सभी भिन्न माध्यमों द्वारा सिग्नलों को संचित करते हैं, संसाधित करते हैं और संचारित करते हैं तथा प्रायः ही इनमें से प्रत्येक एक से अधिक सिग्नल विकल्प प्रदान करता है. सिग्नल स्पष्टता बनाये रखने का एक तरीका वीडियो सिग्नल के घटकों को अलग करना है जिससे कि वे एक दूसरे के साथ हस्तक्षेप ना करें. इस प्रकार से अलग किया गया सिग्नल "कम्पोनेंट वीडियो" कहलाता है. एस-वीडियो (S-Video), आरजीबी (RGB) और वायपीबीपीआर (YPbPr) सिग्नलों में दो या अधिक सिग्नल सम्मिलित होते हैं: अतः यह सभी कम्पोनेंट वीडियो सिग्नल हैं. अधिकांश प्रयोगकर्ताओं द्वारा उपयोग किये जाने वाले अनुप्रयोगों में, एनालॉग कम्पोनेंट वीडियो का प्रयोग होता है. धीरे-धीरे डिजिटल कम्पोनेंट वीडियो, कंप्यूटर और होम-थियेटर दोनों में ही प्रचलित होता जा रहा है. कम्पोनेंट वीडियो 480i, 480p, 576i, 576p, 720p, 1080i और 1080p जैसे सिग्नलों को संचारित करने में समर्थ होता है और नए हाई डेफिनेशन टीवी कम्पोनेंट वीडियो के प्रयोग को उनके मूल विभेदनों तक प्रयोग करने के लिये समर्थन प्रदान करते हैं.

आरजीबी (RGB) एनालॉग कम्पोनेंट वीडियो[संपादित करें]

आधुनिक पर्सनल कंप्यूटर के लिए एक 15-पिन वीजीए (VGA) संबंधक.
एक 21-पिन स्कार्ट (SCART) संबंधक.

विभिन्न आरजीबी (RGB) (लाल, हरा, नीला) एनालॉग कम्पोनेंट वीडियो मानक (जैसे, आरजीबीएस (RGBS), आरजीबीएचवी (RGBHV), आरजी एंड एसबी (RG&SB)) किसी भी प्रकार के संपीडन का प्रयोग नहीं करते और रंगों की गहराई या रिज़ॉल्युशन के लिए कोई वास्तविक सीमा अधिरोपित नहीं करते, लेकिन सिग्नल के संचरण के लिए इन्हें वृहत बैंडविड्थ की आवश्यकता होती है और ये अधिकांश अतिरिक्त आंकड़ों का वहन करते हैं क्योंकि सामान्यतया प्रत्येक माध्यम एक ही ब्लैक एंड व्हाइट चित्र का प्रयोग करता है. अधिकांश आधुनिक कंप्यूटर वीजीए (VGA) पोर्ट के माध्यम से यह सिग्नल प्रदान करते हैं. अधिकांश टेलीविज़न, विशेषकर यूरोप में, एससीएआरटी (SCART) संयोजक के द्वारा आरजीबी (RGB) का प्रयोग करते हैं. प्रारंभिक वेक्टर और ब्लैक एंड व्हाइट गेम्स को छोड़कर सभी आरकेड गेम आरजीबी (RGB) मॉनीटरों का प्रयोग करते हैं.

धीरे-धीरे एनालॉग आरजीबी (RGB) का प्रचलन कम होता जा रहा है क्योंकि कंप्यूटर डिस्प्ले पोर्ट और डिजिटल वीडियो (DVI) के द्वारा अधिक अच्छी स्पष्टता प्राप्त कर रहे हैं, जबकि होम थियेटर में अब अधिकतर एचडीएमआई (HDMI) का प्रयोग हो रहा है. गुणवत्ता और उपयुक्तता के बावजूद भी एनालॉग आरजीबी (RGB) की अधिकतर अवहेलना ही की गयी है, क्योंकि डिजिटल अधिकार प्रबंधन से समायोजन हेतु इसका निर्माण सरल नहीं है. उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए उत्तरी अमेरिका में आरजीबी (RGB) कभी भी बहुत प्रचलित नहीं था क्योंकि एस-वीडियो (S-Video) को उपभोक्ता प्रयोग के लिए पर्याप्त समझा जाता था, हालांकि व्यापारिक, व्यावसायिक और उच्च इन्सटॉलेशंनों में आरजीबी (RGB) का प्रयोग व्यापक स्तर पर हो रहा था.

आरजीबी (RGB) को वीडियो डिस्प्ले के साथ सामंजस्य स्थापित करने के लिए अतिरिक्त सिग्नल की आवश्यकता होती है. इसके लिए कई तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है:

  • कम्पोजिट सिंक, जहां एक अलग तार (आरजीबीएस (RGBS) में S) पर क्षैतिज और लम्बवत सिग्नल मिश्रित किये जाते हैं
  • सेपरेट सिंक, जहां क्षैतिज और लम्बवत दोनों ही अपने अलग अलग तारों (आरजीबीएचवी (RGBHV) में एच (H) और वी (V)) पर होते हैं
  • ग्रीन पर सिंक, जहां हरे तारों (SoG or RGsB) पर एक कम्पोजिट ग्रीन सिग्नल डाला जाता है

यूरोपीय एससीएआरटी (SCART) संपर्क स्कीम (जिसमे pin 17 [gnd] तथा 19 [out] या 20 [in] का प्रयोग होता है) में कम्पोजिट सिंक अत्यंत सामान्य है. कभी-कभी एक पूर्णतया कम्पोजिट वीडियो एक सिंक सिग्नल के रूप में भी कार्य कर सकता है, हालांकि कंप्यूटर मॉनिटर प्रायः अतिरिक्त वीडियो डेटा को संभाल पाने में असमर्थ होते हैं. एक पूर्ण कम्पोज़िट सिंक वीडियो सिग्नल को चार तारों की आवश्यकता होती है - लाल, हरा, नीला, सिंक. यदि अलग-अलग तारों का प्रयोग किया जाये, तो आमतौर पर सिंक तार सफ़ेद रंग का रखा जाता था (या पीला, कम्पोजिट वीडियो के लिए जो भी मानक हो).

वीजीए (VGA) में सफ़ेद सिंक सर्वाधिक प्रचलित है, यह एनालॉग कंप्यूटर मॉनीटरों पर विश्वव्यापी स्तर पर प्रयोग की जाती है. इसे कभी-कभी आरजीबीएचवी (RGBHV) के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि क्षैतिज और लम्बवत तुल्यकालन (सिंक्रोनाइज़ेशन) स्पंदन अलग-अलग माध्यम द्वारा भेजे जाते हैं. इस मोड के लिए पांच सुचालकों की आवश्यकता होती है. यदि अलग-अलग तारों का प्रयोग किया जाये तो, सिंक लाइन आमतौर पर पीली (H) और सफ़ेद (V),[1] या पीली (H) और काली (V), या ग्रे (H) और काली (V) होती है.[2]

ग्रीन पर सिंक (SoG) सर्वाधिक कम प्रचलित हैं और हालांकि कुछ वीजीए (VGA) मॉनिटर इसके समायोजन का समर्थन करते हैं, लेकिन अधिकांश नहीं करते. सोनी SoG का एक बड़ा समर्थक है और उनके अधिकांश मॉनिटर (तथा उनके प्लेस्टेशन 2 (PlayStation 2) वीडियो गेम कंसोल) इसका प्रयोग करते हैं. उन उपकरणों के सामान जो कम्पोज़िट वीडियो या एस-वीडियो (S-Video), SoG उपकरणों में भी सिंक सिग्नल को हरी रेखा से हटाने के लिए अतिरिक्त परिपथ की आवश्यकता होती है. एक मॉनिटर जो SoG समंजन के अनुकूल नहीं है उसे SoG इनपुट दिए जाने पर, यदि वह किसी चित्र का प्रदर्शन करेगा तो वह चित्र भी अत्यधिक हरी रंग की छाया से युक्त होगा.

वायपीबीपीआर (YPbPr) एनालॉग कम्पोनेंट वीडियो[संपादित करें]

एक उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण पर YPbPr घटक वीडियो प्रकाशित हुआ.

कम्पोनेंट एनालॉग वीडियो सिग्नल के अन्य प्रकार R, G और B कम्पोनेंट्स का प्रयोग नहीं करते बल्कि एक रंगहीन कम्पोनेंट का प्रयोग करते हैं, जिसे ल्यूमा कहते हैं, जोकि दीप्ति के सम्बन्ध में जानकारी देती है (जैसे कि ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो में). यह एक या अधिक रंग-संचारित करने वाले कंपोनेंट के साथ जुड़ जाता है, जिसे क्रोमा कहते हैं और जो सिर्फ रंग के विषय में जानकारी देता है. डीवीडी प्लेयर पर दिखायी पड़ने वाले, एस-वीडियो (S-Video) कंपोनेंट वीडियो आउटपुट (दो भिन्न सिग्नल) और वायपीबीपीआर (YPbPr) कम्पोनेंट वीडियो आउटपुट (तीन भिन्न सिग्नल), दोनों ही इस माध्यम के उदहारण हैं.

वीडियो को ल्यूमा और क्रोमा में बदलने से क्रोमा का उप-प्रतिचयन (subsampling) हो जाती है, जो कि चित्रों और वीडियो की संचय आवश्यकताओं को घटने के लिए जेपीईजी (JPEG) चित्रों और डीवीडी (DVD) प्लेयरों द्वारा प्रयोग किया जाने वाला एक तरीका है. आज जब लोग कम्पोनेंट वीडियो के विषय में बात करते हैं तो सामान्यतया उनका आशय YPbPr स्कीम से होता है. अनेकों उपभोक्ता डीवीडी प्लेयर, हाई-डेफिनेशन डिस्प्लेज़, वीडियो प्रोजेक्टर्स और ऐसे ही अन्य उपकरण, रंग-नियमावली (कलर कोडिंग) के इस प्रारूप का प्रयोग करते हैं.

आमतौर पर, गलती से यह कनेक्शन "YUV", "Y/R-Y/B-Y" and Y, B-Y, R-य जैसे शब्दों द्वारा चिन्हित होते हैं. यह अशुद्ध होता है क्योंकि YUV, YPbPr और Y B-Y R-Y अपने मापन संबंधी घटकों में भिन्न-भिन्न होते हैं.[3]

जब इसका प्रयोग किसी वीडियो स्रोत को वीडियो डिस्प्ले से जोड़ने के लिए किया जाता है, जहां कि दोनों ही 4:3 और 16:9 डिस्प्ले प्रारूप के अनुसार समंजित हों, पीएएल (PAL) टेलिविज़न मानक स्पंदनों का सिग्नल प्रदान करता है जो स्वचालित रूप से डिस्प्ले को एक प्रारूप से दूसरे प्रारूप में बदल देगा.

प्रयुक्त संयोजित्र[संपादित करें]

  • डी टर्मिनल: अधिकतर जापानी इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए प्रयुक्त.
  • तीन बीएनसी (BNC) (व्यवसायिक) या आरसीए (RCA) संयोजित्र (उपभोक्ता): आमतौर पर लाल (Pr), हरा (Y) और नीला (Pb).
  • यूरोप में इस्तेमाल किया जाने वाला एससीएआरटी (SCART).
  • वीडियो इन वीडियो आउट (VIVO): 9-पिन वाले मिनी डीआईएन-संयोजित्र, जिन्हें कंप्यूटर वीडियो कार्ड में "टीवी आउट" कहते हैं, जिसमे कंपोनेंट आरसीए (RCA) के लिए आमतौर पर एक एडाप्टर भी होता है, आरसीए (RCA) और 4-पिन वाले एस-वीडियो-मिनी डीआईएन को कम्पोजिट करता है.

अंतर्राष्ट्रीय मानक[संपादित करें]

अंतर्राष्ट्रीय घटक वीडियो मानक के उदाहरण हैं:

  • आरएस-170 आरजीबी (RGB) (525 लाइनें, NTSC समय पर आधारित, अब EIA/TIA-343)
  • आरएस-343 आरजीबी (RGB) (525, 625 या 875 लाइनें)
  • एसटीएएनएजी 3350 (STANAG 3350) एनालॉग वीडियो स्टैण्डर्ड (RS-343 आरजीबी (RGB) का नाटो सैन्य संस्करण, अब EIA-343A)
  • सीईए-770.3 हाई डेफिनेशन टीवी एनालॉग कंपोनेंट वीडियो इंटरफेस कंज़्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसियेशन

कंपोनेंट बनाम कम्पोज़िट[संपादित करें]

भ्रम का एक संभावित स्रोत यह हो सकता है कि शब्दों कम्पोनेंट और कम्पोजिट (जो कि एक पुराना और काफी प्रचलित वीडियो प्रारूप है) के बीच मात्र कुछ ही अक्षरों का अंतर है.[4]

कम्पोनेंट वीडियो के संयोजित्र विशिष्ट नहीं होते हैं क्योंकि अनेकों भिन्न मानकों के लिए एक ही संयोजित्र का प्रयोग होता है; इसलिए, एक कम्पोनेंट वीडियो कनेक्शन बनाने से प्रायः वीडियो सिग्नल का संतोषजनक स्थानांतरण नहीं होता. अनेकों डीवीडी प्लेयरों और टीवी में प्रयुक्त इनपुट/आउटपुट के प्रकार को बताने के लिए उन्हें समायोजित किये जाने की आवश्यकता हो सकती है और यदि यह समायोजन गलत होगा तो चित्र ठीक प्रकार से दिखायी नहीं पड़ेंगे. उदहारण के लिए, कम्पोनेंट वीडियो आउट पुट के चयनित होने के बाद भी, क्रमिक स्कैन को डिफॉल्ट समायोजन के रूप में सक्रिय नहीं किया जाता.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • प्रदर्शन अंतरापृष्ठों की सूची

संदर्भ[संपादित करें]

  1. ऑडियो/वीडियो अवलोकन - संकेतों के प्रकार
  2. हाउ टू यूज़ द 9A65 कॉम्पोनेन्ट टू आरजीबी (RGB) वीडियो कन्वर्टर
  3. Poynton, Charles (November 28, 2006). "Color FAQ- Frequently Asked Questions about Color". http://www.poynton.com/ColorFAQ.html. अभिगमन तिथि: 2009-06-28. 
  4. "The DV Show Question and Answer Database". January 1, 2007. http://www.thedvshow.com/faq-pro/index.php?action=article&cat_id=004&id=470. अभिगमन तिथि: 2008-06-22. 

साँचा:Analogvideo