कछारी खंडहर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कछारी खंडहर नागालैण्ड के दीमापुर क्षेत्र में स्थित कुछ ऐतिहासिक निर्माणों के खंडहर हैं। यह १०वीं सदी ईसवी में कछारी राज्य के ज़माने में बनाए गए थे और इनमें मुख्य रूप से स्तम्भों की दो शृंखलाएँ देखने को मिलती है। इन स्तम्भों को बनाने का उद्देश्य क्या था, इस प्रश्न को लेकर इतिहासकारों में एकमत नहीं है। १३वीं शताब्दी में अहोम लोगों के इस क्षेत्र पर आक्रमण करके यहाँ पर कछारी राज को हमेशा के लिए नष्ट कर दिया।[1] वर्तमान में स्तम्भों की दशा अच्छी नहीं है - कुछ खड़े हुए हैं लेकिन बहुत से ढह भी रहे हैं।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. DK Eyewitness Travel Guide: India, DK Publishing, pp. 339, Penguin, 2011, ISBN 9780756684440, ... It was founded by the Kachari rulers, a Tibeto-Burmese people who were displaced from their territories in Assam in the 13th century by the invading Ahoms ...
  2. Journal of Ancient Indian History, Volumes 17-18, D.C. Sircar, 1990, ... The Kachari capital city of Dimapur is now in ruins ... The most outstanding remains are two groups of carved sand stone pillars running parallel to each other ...