ऑनलाइन विज्ञापन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

साँचा:Ecommerce ऑनलाइन विज्ञापन प्रचार का एक ऐसा स्वरूप है जो ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए विपणन संदेशों के वितरण के निश्चित उद्देश्य से इंटरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग करता है. ऑनलाइन विज्ञापन के उदाहरणों में शामिल हैं खोज इंजन परिणामी पृष्ठों पर प्रासंगिक विज्ञापन, बैनर विज्ञापन, समृद्ध मीडिया विज्ञापन, सामाजिक नेटवर्क विज्ञापन, अंतरालीय विज्ञापन, ऑनलाइन वर्गीकृत विज्ञापन, विज्ञापन नेटवर्क और ई-मेल स्पैम सहित ई-मेल विपणन.

पारंपरिक विज्ञापन पर प्रतियोगी लाभ[संपादित करें]

ऑनलाइन विज्ञापन का एक प्रमुख लाभ है जानकारी और सामग्री का तत्काल o;'nbo'प्रकाशन, जोकि भौगोलिक या समय की सीमाओं से बंधा नहीं है. काफ़ी हद तक, संवादात्मक विज्ञापन का उभरता क्षेत्र उन विज्ञापनदाताओं के लिए नई चुनौतियां प्रस्तुत करता है जिन्होंने अब तक अवरोधात्मक रणनीति को अपनाया था.jp

एक अन्य लाभ विज्ञापनदाता के निवेश की कार्यकुशलता है. ऑनलाइन विज्ञापन, सामग्री और पोस्ट b'o';किए गए वेबसाइटों के अनुसार विज्ञापनों का अनुकूलन अनुमत करता है. उदाहरण के लिए, ऐडवर्ड्स (AdWords), याहू! सर्च मार्केटिंग (Yahoo! Search Marketing) और ऐडसे'bio'lन्स (AdSense) प्रासंगिक वेब पृष्ठों या संबंधित खोज-शब्दों के खोज परिणामों के साथ विज्ञापनों का प्रदर्शन संभव बनाते हैं.

नैतिकता[संपादित करें]

ऑनलाइन विज्ञापन में विज्ञापन के व्यापक प्रकार सम्मिलित हैं, जिनमें से कुछ नैतिक दृष्टि से नियोजित हैं और कुछ नहीं. कुछ वेबसाइट बड़ी संख्या में ऐसे विज्ञापनों का उपयोग करते हैं, जिनमें उपयोगकर्ता का ध्यान भंग करने वाले भड़कीले बैनर शामिल होते हैं, और कुछ में भ्रामक छवियां कुछ इस प्रकार बनी होती हैं कि वे विज्ञापन के बजाय ऑपरेटिंग सिस्टम से मिलने वाले त्रुटि संदेश जैसे दिखे. वेबसाइट जोकि अनैतिक रूप से राजस्व के लिए ऑनलाइन विज्ञापन का उपयोग करते हैं, अक्सर अपने वेबसाइट पर इस बात की निगरानी नहीं रखते हैं कि विज्ञापन किन लिंक पर ले जाते हैं, जिससे विज्ञापनों को दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर या वयस्कों की सामग्री वाले साइटों पर ले जाने की छूट मिल जाती है.

वेबसाइट ऑपरेटर जो नैतिक दृष्टि से ऑनलाइन विज्ञापन का उपयोग करते हैं, आम तौर पर कम संख्या में विज्ञापनों का उपयोग करते हैं जिनका इरादा उपयोगकर्ताओं का ध्यान भंग करना या खिजाना नहीं होता है, और वे अपने वेबसाइट के डिज़ाइन और विन्यास से विचलित नहीं होते.[1] कई वेबसाइट मालिक विज्ञापन देने की इच्छुक कंपनियों के साथ सीधे व्यवहार करते हैं, अर्थात् विज्ञापन के माध्यम से जुड़ने वाली वेबसाइट वैध होती है.

ऑनलाइन विज्ञापन में अडोब फ्लैश (Adobe Flash) जैसी प्रौद्योगिकियों के अधिक उपयोग ने कुछ उपयोगकर्ताओं को अपने ब्राउज़र में इसे अक्षम करने या Adblock अथवा NoScript जैसे ब्राउज़र प्लग-इन का उपयोग करने के लिए बाध्य किया है. कई साइट केंद्रीकृत विज्ञापन सेवाओं का उपयोग करते हैं, जिनके विज्ञापन सुरक्षा और गोपनीयता उपायों के अतिरिक्त प्रभाव के रूप में अवरुद्ध किए जा सकते हैं, क्योंकि सेवाओं को कार्य करने के लिए JavaScript और क्रॉस साइट अनुरोध की ज़रूरत होती है, जबकि साइटों का उपयोग करने के लिए अक्सर ऐसी सुविधाओं की आवश्यकता नहीं होती है और ये असुरक्षा के संभाव्य स्रोत हैं.

अक्सर वैध विज्ञापनों में देखने या न देखने के चयन का स्पष्ट विकल्प होता है, जो उसे स्पैम से अलग करता है.

मालवेयर[संपादित करें]

विज्ञापन पद्धतियों का एक और वर्ग है जिसे अनैतिक माना जाता है और जो अवैध भी हो सकता है. इनमें शामिल हैं बाह्य अनुप्रयोग जो सिस्टम सेटिंग को (जैसे कि ब्राउज़र का मुख पृष्ठ) परिवर्तित करते हैं, पॉप-अप उत्पन्न करते हैं, और असंबद्ध वेबपृष्ठों में विज्ञापन शामिल करते हैं. ऐसे अनुप्रयोगों को सामान्यतः स्पाईवेयर या एडवेयर के रूप में उल्लिखित किया जाता है. वे सामान्य सेवा प्रदान करने की आड़ में अपनी संदिग्ध गतिविधियों पर परदा डाल सकते हैं, जैसे कि मौसम के बारे में प्रदर्शन करना या एक खोज पट्टी प्रदान करना. ये प्रोग्राम उपयोगकर्ता को धोखा देने के लिए परिकल्पित हैं, जो प्रभावी रूप से ट्रोजन हार्स के रूप में कार्य करते हैं. इन अनुप्रयोगों को आम तौर पर इस तरह डिजाइन किया जाता है कि उनको हटाना या स्थापना रद्द करना मुश्किल हो जाए. ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं की सदा बढ़ती संख्या, जिनमें से कई लोग कंप्यूटर संबंधी अधिक जानकारी नहीं रखते, उनमें इस प्रकार के प्रोग्रामों से ख़ुद को बचाने का ज्ञान या तकनीकी क्षमता की कमी रहती है.

गोपनीयता[संपादित करें]

इन्हें भी देखें: HTTP cookie#Privacy and third-party cookies

ऑनलाइन विज्ञापन के उपयोग से उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता और गुमनामी पर प्रभाव पड़ता है. यदि किसी विज्ञापन कंपनी ने बैनर को दो वेब साइटों पर रखा है, तो अपने सर्वर पर बैनर छवियों को होस्ट करते हुए और तीसरे पक्ष के कुकीज़ का उपयोग करते हुए, विज्ञापन कंपनी इन दो साइटों पर उपयोगकर्ताओं की ब्राउज़िंग का पता लगा सकती है.

अधिकतर ब्राउज़रों द्वारा उपयोगकर्ता के वेब अनुभव को प्रभावित किए बिना तीसरे पक्ष के कुकीज़ को अवरुद्ध करते हुए, गोपनीयता बढ़ाया जा सकता है और विज्ञापन और ट्रैकिंग कंपनियों द्वारा की जाने वाली ट्रैकिंग को अवरुद्ध किया जा सकता है. कई विज्ञापन ऑपरेटरों के पास ब्राउज़र में व्यवहारपरक विज्ञापन रोकने वाली एक सामान्य कुकी की सहायता से व्यवहारपरक विज्ञापन को चुन कर बाहर करने का एक विकल्प होता है.[2]

राजस्व मॉडल[संपादित करें]

CPM, CPC, और CPA, ऑनलाइन विज्ञापन खरीदने के तीन सबसे आम तरीके हैं.

  • CPM (मूल्य प्रति सहस्र) , जो "मूल्य प्रति हज़ार (CPT) भी कहलाता है, जब विज्ञापनदाता विशिष्ट दर्शक वर्ग को अपने संदेश प्रदर्शित करने के लिए भुगतान करता है. "प्रति सहस्र का अर्थ है प्रति हज़ार इम्प्रेशंस, या एक विज्ञापन का भार. कुछ इम्प्रेशंस गिने नहीं जा सकते हैं, जैसे एक रीलोड या प्रयोक्ता की आंतरिक क्रिया.
  • CPV (मूल्य प्रति आगंतुक) जब विज्ञापनदाता, वेबसाइट पर नियत आगंतुक को विज्ञापनदाता के वेबसाइट पर पहुंचाने के आधार पर भुगतान करता है.
  • CPV (मूल्य प्रति अवलोकन) जब एक विज्ञापनदाता, विज्ञापन या वेबसाइट`के प्रत्येक विशिष्ट प्रयोक्ता अवलोकन के आधार पर भुगतान करता है (आम तौर पर पॉप-अप्स, पॉप-अंडर्स और अंतरालीय विज्ञापनों के साथ प्रयुक्त).
  • CPC (मूल्य प्रति क्लिक)) जिसे प्रति क्लिक भुगतान (PPC) के रूप में भी जाना जाता है. विज्ञापनदाता, प्रयोक्ता द्वारा अपनी लिस्टिंग पर क्लिक किये जाने और उनके वेबसाइट पर पुनः निर्देशित होने पर प्रत्येक बार भुगतान करता है. वे वास्तव में लिस्टिंग के लिए नहीं, अपितु जब लिस्टिंग पर क्लिक किया जाता है, केवल तब भुगतान करते हैं. यह प्रणाली, विज्ञापन विशेषज्ञों को खोजों को परिष्कृत करने और उनके बाज़ार के बारे में जानकारी हासिल के लिए छूट प्रदान करती है. प्रति क्लिक भुगतान की मूल्य निर्धारण प्रणाली के अंतर्गत, विज्ञापनदाता लक्ष्य-समृद्ध शब्दों की श्रेणी में सूचीबद्ध होकर क्लिक किये जाने के अधिकार के लिए भुगतान करता है, ये शब्द प्रासंगिक यातायात को उनके वेबसाइट पर निर्देशित करते हैं. CPV से CPC इस तरह से अलग है कि इस मामले में प्रत्येक क्लिक के लिए भुगतान किया जाता है चाहे वह उपयोगकर्ता को लक्ष्य साइट से जोड़े या ना जोड़े.
  • CPA (मूल्य प्रति क्रिया) या (मूल्य प्रति अधिग्रहण) विज्ञापन उपलब्धि आधारित है और यह व्यापार के सम्बद्ध विपणन क्षेत्र में आम तौर पर प्रचलित है. इस भुगतान योजना में, प्रकाशक विज्ञापन चलाने के सभी जोखिम लेता है, और विज्ञापनदाता केवल उन उपयोगकर्ताओं के लिए भुगतान करता है जो सौदे (जैसे खरीद या साइन-अप) को पूरा करते हैं. यह बैनर विज्ञापनों के लिए सबसे अच्छे प्रकार की भुगतान दर है, और प्रभारित करने के लिए सबसे खराब क़िस्म की दर.
    • इसी प्रकार, CPL (मूल्य प्रति लीड) विज्ञापन CPA विज्ञापन के समान है और उपयोगकर्ता द्वारा प्रारूप पूरी तरह भरने, न्यूज़लेटर के लिए पंजीकृत करने या ऐसी किसी अन्य कार्रवाई से जिससे व्यापारी को लगता है कि बिक्री होगी.
    • इसके अलावा, CPO (मूल्य प्रति आदेश) विज्ञापन आदेश के लेन-देन के प्रत्येक मौक़े पर आधारित है.
    • CPE (मूल्य प्रति अनुबंध) मार्च 2008 में पहली बार प्रवर्तित एक प्रकार का मूल्य प्रति कार्य है. मूल्य-प्रति-इम्प्रेशंस या मूल्य-प्रति-क्लिक मॉडल से भिन्न, CPE मॉडल का मतलब है विज्ञापन इम्प्रेशंस मुफ्त हैं और विज्ञापनदाता केवल तब भुगतान करते हैं जब प्रयोक्ता उनकी विशिष्ट विज्ञापन इकाई के साथ जुड़ता है. अनुबंध को प्रयोक्ता द्वारा विज्ञापन के साथ किसी भी तरीके से परस्पर क्रिया करने के रूप में परिभाषित किया जाता है.[3]
  • मूल्य प्रति रूपांतरण यह एक ग्राहक प्राप्त करने की कीमत को परिभाषित करता है, जिसे आम तौर पर विज्ञापन अभियान की लागत को उससे प्राप्त किये गए ग्राहकों की संख्या से विभाजित करके परिकलित किया जाता है. "रूपांतरण" की परिभाषा परिस्थिति पर निर्भर करती है. इसे कभी मार्गदर्शक, कभी बिक्री, तो कभी खरीद माना जाता है.

किस्में[संपादित करें]

यद्यपि, जैसा कि ऊपर देखा गया, अधिकांश ऑनलाइन विज्ञापनों की कीमत होती है जो विज्ञापन के उपयोग या पारस्परिक क्रिया द्वारा लागू की जाती है, ऑनलाइन विज्ञापन के कुछ अन्य तरीके हैं जिनमे केवल एक बार भुगतान की आवश्यकता होती है. मिलियन डॉलर मुखपृष्ठ इसका एक बहुत ही सफल उदाहरण है. आगंतुकों के लिए विज्ञापन की जगह के लिए $1 प्रति पिक्सेल अदा करना पड़ता और उनका विज्ञापन, मुखपृष्ठ पर तब तक बना रहता है जब तक वेबसाइट मौजूद रहे, वह भी बिना किसी अतिरिक्त कीमत के.

  • चल विज्ञापन: एक ऐसा विज्ञापन जो उपयोगकर्ता के स्क्रीन पर या सामग्री के ऊपर चलता रहता है.
  • विस्तार विज्ञापन: एक ऐसा विज्ञापन जो आकार बदलता है और जो वेबपेज की सामग्री को बदल सकता हैं.
  • विनम्र विज्ञापन: एक ऐसी पद्धति जिसके द्वारा एक बड़े विज्ञापन को छोटे टुकड़ों में डाउनलोड किया जाता है ताकि दृश्य सामग्री में कम से कम व्यवधान आए.
  • वॉलपेपर विज्ञापन: एक ऐसा विज्ञापन, जो देखे जा रहे पृष्ठ की पृष्ठभूमि को परिवर्तित करता है.
  • चालाक बैनर: एक ऐसा बैनर विज्ञापन, जो बटनों के साथ एक संवाद बॉक्स की तरह दिखता है. यह एक त्रुटि संदेश या चेतावनी का रूप धारण करता है.
  • पॉप अप: एक नई विंडो, जो एक विज्ञापन या पूरे वेबपेज को प्रदर्शित करती हुई मौजूदा विंडो के सामने खुलती है.
  • पॉप अंडर: यह पॉप-अप के समान होता है सिवाय इसके कि यह मौजूदा विंडो के पीछे से लोड होता है, ताकि उपयोगकर्ता इसे तब तक ना देख पाए जब तक कि वे एक या अनेक सक्रिय विंडो बंद ना कर दें.
  • वीडियो विज्ञापन: यह बैनर विज्ञापन के समान ही होता है, सिवाय इसके कि एक स्थिर या एनिमेटेड छवि की जगह वास्तविक चलती हुई वीडियो क्लिप प्रदर्शित होती है. यह टेलीविज़न पर सर्वाधिक प्रचलित क़िस्म का विज्ञापन है, और कई विज्ञापनदाता टेलीविज़न और ऑनलाइन विज्ञापन, दोनों के लिए एक ही क्लिप का प्रयोग करते हैं.
  • मानचित्र विज्ञापन: किसी पाठ या ग्राफ़िक्स से जुड़ा विज्ञापन, जो Google Maps जैसे इलेक्ट्रॉनिक नक्शे में या उस पर प्रदर्शित होता है.
  • मोबाइल विज्ञापन: सेल फ़ोन को प्रेषित एक SMS पाठ या मल्टी मीडिया संदेश.
  • अन्तरालीय विज्ञापन: एक पूरे पृष्ठ का विज्ञापन जो एक उपयोगकर्ता के मूल गंतव्य तक पहुंचने से पहले दिखता है.

इसके अलावा, स्ट्रीमिंग वीडियो या स्ट्रीमिंग ऑडियो वाले विज्ञापन, विज्ञापनदाताओं के बीच बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं.

ई-मेल विज्ञापन[संपादित करें]

वैध ई-मेल विज्ञापन या ई-मेल विपणन को स्पैम से भिन्नता के लिए अक्सर "ऐच्छिक ई-मेल विज्ञापन" के रूप में जाना जाता है.

सहबद्ध विपणन[संपादित करें]

सहबद्ध विपणन एक प्रकार का ऑनलाइन विज्ञापन है, जहां विज्ञापनदाता सशक्त रूप से छोटे (और बड़े) प्रकाशकों के एक बड़े समूह के साथ अभियान चलाता है, जिसे केवल मीडिया की फीस का भुगतान, विज्ञापनदाता के लिए यातायात एकत्र होने पर किया जाता है, और यह आम तौर पर एक विशिष्ट श्रेणी के मापने योग्य अभियान निष्कर्ष (फार्म, बिक्री या पंजीकरण, आदि) पर प्रयुक्त होता है. आजकल, यह सामान्यतः एक सहबद्ध नेटवर्क के साथ करार के माध्यम से पूरा किया जाता है.

सहबद्ध विपणन का आविष्कार 1994 में CDNow.com द्वारा किया गया था, जिसे Amazon.com द्वारा उत्कृष्ट बनाया गया, जब उसने 1996 में एसोसिएट प्रोग्राम नामक सहबद्ध प्रोग्राम को प्रवर्तित किया. ऑनलाइन खुदरा विक्रेता ने इसके प्रोग्राम को कम लागत ब्रांड प्रदर्शन के लिए इस्तेमाल किया और साथ ही, इसने छोटे वेबसाइटों को कुछ पूरक आय उत्पन्न करने का मौक़ा भी प्रदान किया.

व्यवहार लक्ष्यीकरण[संपादित करें]

प्रासंगिक लक्ष्यीकरण के अलावा, ऑनलाइन विज्ञापन को उपयोगकर्ता के क्लिकस्ट्रीम अतीत के आधार पर लक्षित किया जा सकता हैं. उदाहरण के लिए, यदि किसी उपयोगकर्ता ने हाल ही में कई मोटर-वाहन खरीदारी/ तुलनात्मक साइटों को देखा हो, तो उपयोगकर्ता के कंप्यूटर पर संग्रहीत कुकीज़ से उसके क्लिकस्ट्रीम के विश्लेषण द्वारा, उस उपयोगकर्ता को दूसरी गैर ऑटोमोटिव साइटों पर जाने के लिए मोटर वाहन संबंधी विज्ञापन भेजे जा सकते हैं.

अर्थगत विज्ञापन[संपादित करें]

अर्थगत विज्ञापन वेब पृष्ठों पर अर्थगत विश्लेषण तकनीक को लागू करता है. यह प्रक्रिया पृष्ठ के मुख्य विषय और/या अर्थ की सही ढंग से व्याख्या और वर्गीकरण करने और फिर इसे लक्षित विज्ञापन स्थल पर स्थापित करने से संबंधित है. सामग्री को विज्ञापन से निकटता से जोड़ कर, यह माना जाता है कि दर्शक द्वारा विज्ञापित उत्पाद या सेवा में दिलचस्पी (अर्थात् अनुबंध के माध्यम से) दिखाने की संभावना होगी.

विज्ञापन सर्वर बाज़ार संरचना[संपादित करें]

नीचे एक विशेषता सर्वेक्षण में प्रकाशित लाखों की संख्या में दर्शकों के आंकड़ों सहित 2008 के शीर्ष विज्ञापन सर्वर विक्रेता ओं की सूची दी गई है. 2008 से ऑनलाइन विज्ञापन बाज़ार का Google नियंत्रण अनुमानित तौर पर 69% रहा है.[4]

विक्रेता विज्ञापन दर्शक (मिलियन)
Google 1,118
DoubleClick (गूगल) 1,079
Yahoo! 362
MSN (माइक्रोसॉफ्ट) 309
AOL (एओएल) 156
Adbrite 73
कुल योग 3,087

यह नोट किया जाए कि 2007 में Google ने 3.1 मिलियन डॉलर की लागत पर DoubleClick का अधिग्रहण किया था. उपरोक्त सर्वेक्षण 68 मिलियन डोमेन के नमूने पर आधारित था.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • उद्योग गणना:
    • प्रति क्लिक दर (CTR)
    • प्रति कार्य लागत (CPA)
      • (प्रभावी लागत प्रति कार्रवाईeCPA)
    • प्रति क्लिक लागत या प्रति क्लिक भुगतान (CPC या PPC)
    • प्रति छाप लागत (CPI)
      • प्रति सहस्र लागत (CPM), जो प्रति हज़ार लागत (CPT) के रूप में भी जाना जाता है
        • प्रभावी प्रति सहस्र लागत(eCPM)
  • वर्गीकृत विज्ञापन
  • वेब विज्ञापन:
    • विज्ञापन फ़िल्टरिंग
    • विज्ञापन नेटवर्क
    • आलेख विपणन
    • सहबद्ध विपणन
    • केंद्रीय विज्ञापन सर्वर
    • क्लिक धोखाधड़ी
    • डॉट इश्तेहार
    • इन-टेक्स्ट विज्ञापन
    • ऑनलाइन वर्गीकृत विज्ञापन
    • आवरण
    • प्रति क्लिक भुगतान
    • प्रति प्ले भुगतान
    • प्रदर्शन आधारित विज्ञापन
    • पॉप-अप विज्ञापन
    • अर्थगत विज्ञापन
    • जनजातीय फ्यूज़न (विज्ञापन नेटवर्क)
    • यूनिकास्ट विज्ञापन
    • वेब बैनर
  • ई-मेल विज्ञापन:
    • ई-मेल स्पैम
    • ऑप्ट-इन ई-मेल विज्ञापन
    • स्पैमिंग
  • खोज इंजन
    • खोज इंजन विपणन (SEM)
    • खोज इंजन अनुकूलन (SEO)
  • मोबाइल विज्ञापन
    • मोबाइल विपणन
    • मोबाइल विकास
    • WAP

संदर्भ[संपादित करें]

  1. http://modernl.com/article/ethical-blogging-101 आधुनिक जीवन: एथिकल ब्लॉगिंग 101
  2. http://taco.dubfire.net/ Taco, लक्षित विज्ञापन कुकी ऑप्ट आउट Firefox विस्तार
  3. ADWEEK
  4. 68 मिलियन डोमेन

बाह्य लिंक[संपादित करें]