एरियल १

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
एरियल १
Thor Delta with Ariel 1 (Apr. 26, 1962).jpg
एक थोर डेल्टा रॉकेट पर एरियल १ का प्रक्षेपण
प्रमुख ठेकेदार नासा
लक्ष्य प्रकार आयनमंडलीय
लॉन्च तिथि २६ अप्रेल १९६२
१८:००:१६
धारक रॉकेट थोर डेल्टा
लॉन्च स्थल केप कैनावेरल वायु सेना स्टेशन / केप कैनावेरल वायु सेना स्टेशन अंतरिक्ष प्रक्षेपण परिसर १७
कक्षीय डिके २४ मई १९७६
कॉस्पर आई डी ओमिक्रोन १ १९६२ ओमिक्रोन १
द्रव्यमान ६२-किलोग्राम (१४० पौंड)
कक्षीय तत्व
व्यवस्था निम्न पृथ्वी कक्षा
कक्षीय अंतराल १००.९ मिनट
भू - दूरस्थ १,२०२-किलोमीटर (७४७ मील)
भू - समीपक ३९७ -किलोमीटर (२४७ मील)

एरियल १ को 'यूके १' तथा 'एस ५१' के नाम से भी जाना जाता है | यह ब्रिटेन द्वारा अपने 'एरियल' कार्यक्रम के तहत अंतरिक्ष में भेजा गया पहला उपग्रह था | इसे २६ अप्रैल १९६२ को अमेरिका में स्थित केप केनावेरल एयरफोर्स स्टेशन से अमेरिकी थोर डेल्टा रॉकेट के जरिए अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया था | इसके साथ ही ब्रिटेन दुनिया में सोवियत रूस और अमेरिका के बाद अंतरिक्ष में उपग्रह भेजने वाला तीसरा देश बन गया | इस उपग्रह को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी 'नासा' द्वारा वर्ष १९५९ व १९६० में ब्रिटेन व अमेरिका के मध्य हुई राजनीतिक चर्चाओं के बाद एक अनुबंध के तहत निर्मित किया गया था | यह अंतरराष्ट्रीय सहभागिता के तहत अंतरिक्ष में भेजा गया पहला उपग्रह भी था | ६२ किलोग्राम वजनी इस बेलनाकार उपग्रह का व्यास ५८ सेमी और उंचाई २२ सेमी थी | इसमे एक टेप रिकॉर्डर के अलावा कॉस्मिक किरणों, सौर-विकिरणों और आयनमंडल संबंधी प्रयोग व अध्ययन के लिए वैज्ञानिक उपकरण लगे थे | चौदह साल तक पृथ्वी की कक्षा में रहने के बाद यह उपग्रह २४ मई १९७६ को वहां से विस्थापित हो गया |