एरिक ड्रेक्स्लर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
एरिक ड्रेक्स्लर

१९८० में नैनोतकनीक की परिभाषा का बखान और गहराई सें एरिक ड्रेक्स्लर ने किया, जिन्होंने नैनो स्केल के विज्ञान और यंत्रों को लोकप्रिय बनाया अपने व्याख्यानों से और अपनी किताबें, Engines of Creation: The Coming Era of Nanotechnology (1986) और Nanosystems: Molecular Machinery, Manufacturing, and Computation[1], से।

  1. Nanosystems: Molecular Machinery, Manufacturing, and Computation. 1998, ISBN 0-471-57518-6