एमा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Emma  
EmmaTitlePage.jpg
Title page from the first edition
लेखक Jane Austen
देश United Kingdom
भाषा English
प्रकार Novel
प्रकाशक John Murray
प्रकाशन तिथि December 1815;
title page says 1816
मीडिया प्रकार Print
आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ N/A

एमा, यह जेन ऑस्टेन द्वारा लिखित रोमांस के ग़लत अर्थों से पैदा होने वाले संकटों के बारे में एक उपन्यास है। यह उपन्यास दिसंबर 1815 में पहले-पहल प्रकाशित किया गया था। अपने अन्य उपन्यासों की ही तरह, इस उपन्यास में भी ऑस्टेन इंग्लॅण्ड के जोर्जियन-रीजेंसी में रहनेवाली कुलीन महिलाओं के जीवन की मुश्किलों और चिंताओं का अन्वेषण करतीं हैं; साथ ही वे अपने पात्रों के ज़रिये एक सजीव 'शिष्टाचार-प्रहसन' ('comedy of manners') भी प्रस्तुत करतीं हैं।

उपन्यास शुरू करने से पहले ऑस्टेन ने लिखा, "में एक ऐसी नायिका चुनने वाली हूं जिसे कोई और नहीं बल्कि में खुद सबसे ज़्यादा पसंद करूंगी."[1] पहले ही वाक्य में उन्होंने शीर्षक पात्र को "सुन्दर, चतुर और रईस एमा वुडहाउस" के नाम से परिचय कराया. वैसे एमा काफ़ी बिगडैल और गुस्ताख़ लड़की है जो 'मैचमेकिंग' (वर-वधु के जोड़े खोज निकालने) में अपने आप को बहुत ज़्यादा सक्षम समझती है; और अन्य लोगों की ज़िन्दगी में दखल देने से आने वाली मुसीबतों को अनदेखा करती है, साथ ही अकसर दूसरों के कामों का ग़लत मतलब निकालती है।

कथा सारांश[संपादित करें]

हालांकि एमा वुडहाउस का विश्वास है कि वह खुद कभी शादी नहीं करेगी, लेकिन हायबरी गांव में रहने वाली यह बीस-वर्षीय नासमझ लड़की मैचमेकिंग की अपनी क्षमता को प्राकृतिक देन मानती है। अपनी गवर्नेस का विवाह गांव के एक विधुर मि. वेस्टन के साथ कराने में सफलता पाने के बाद, एमा अपनी नई सहेली हैरियेट स्मिथ के लिए योग्य जीवन साथी खोजने का ज़िम्मा अपने सर लेती है। हालांकि हैरियेट के माता-पिता के बारे में कोई जानकारी नहीं है, फिर भी एमा का मानना है कि हैरियेट एक सज्जन की पत्नी होने की हक़दार है और इसलिए वह अपनी सहेली को गांव के पुरोहित मि. एल्टन से मेल-मिलाप बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करती है। इस बीच, एमा हैरियेट को राज़ी कर लेती है कि वह समृद्ध किसान रॉबर्ट मार्टिन की तरफ से आये रिश्ते को ठुकरा दे, हालांकि हैरियेट के मन में उस किसान के प्रति कुछ प्रेम-भावनाएं अवश्य हैं। एमा के प्रोत्साहन से हैरियेट मि. एल्टन पर मुग्ध हो जाती है, लेकिन एमा की योजना पर पानी फिर जाता है जब एल्टन ज़ाहिर करते हैं कि वे हैरियेट से नहीं बल्कि एमा से प्यार करते हैं। तब एमा को एहसास होता है कि हैरियेट के लिए जीवन साथी खोजने की धुन में वह परिस्थिति की सच्चाई को जानने से चूक गई। एमा के बहनोई और गहरे दोस्त मि. नाय्ट्ले, एमा के मैचमेकिंग के प्रयासों को बड़ी आलोचनात्मक नज़र से देखते हैं। उनका मानना है कि मि. मार्टिन एक योग्य वर हैं जिनसे शादी करना हैरियेट के लिए सौभाग्य की बात होगी. एमा की दखलंदाज़ी को लेकर उनके और एमा के बीच झगड़ा होता है और हमेशा की तरह मि. नाय्ट्ले ही ज़्यादा समझदार साबित होते हैं। एमा द्वारा ठुकराए जाने और हैरियेट को उन्हीं के स्तर का बताकर किये कटाक्ष से दु:खी होकर एल्टन 'बाथ' शहर छोड़ देते हैं और लगभग तुरंत बाद ही एक जवां लड़की से शादी कर लेते हैं। एमा हैरियेट को सांत्वना दिलाती है और हायबरी में आनेवाले एक नए आगंतुक - मि. वेस्टन के सुपुत्र, फ्रैंक चर्चिल के चरित्र के बारे में उत्सुकता जगाती है। फ्रैंक, लन्दन में अपने मामा-मामी - जिन्होंने उसे अपने उत्तराधिकारी के रूप में अपनाया है - द्वारा किये लालन-पालन के बाद, हायबरी में अपने पिता से मिलने के लिए उत्सुक है। अपनी मामी की बीमारियों और शिकायतों के कारण अपने पिता से मिलने से वंचित फ्रैंक के बारे में एमा कुछ नहीं जानती. मि. नाय्ट्ले को तुरंत नौजवान युवक पर संदेह होने लगता है, ख़ासकर जब फ्रैंक केवल अपने बाल कटवाने के लिए हड़बड़ी से लन्दन वापस जाता है। लेकिन एमा को फ्रैंक ख़ुशमिज़ाज लगता है और वह गौर करती है कि फ्रैंक उसकी अपनी तरफ आकर्षित है। हालांकि वह इस आकर्षण को हतोत्साहित करना चाहती है, फिर भी वह इस नौजवान युवक की ख़ुशामदी से खुश होती है और उसके साथ इश्कबाज़ी करती है। एमा, हायबरी गुट की नई सदस्य, जेन फेरफैक्स का स्वागत कुछ कम उत्साह से करती है। जेन सुन्दर और सुसंस्कृत लड़की है, पर उसके मितभाषी होने से एमा उसे नापसंद करती है और, वर्णन-कर्ता का संकेत है कि वह जेन से ईर्ष्या करती है। फिर तो संदेह, साज़िश और ग़लतफ़हमियों का सिलसिला शुरू होता है। मि. नाय्ट्ले जेन का बचाव करते हुए कहते हैं कि वह दया और सहानुभूति की हक़दार है क्योंकि एमा की तरह उसकी अपनी कोई धन-संपत्ति नहीं है और बहुत जल्द उसे गवर्नेस की नौकरी के लिए घर छोड़ कर जाना होगा. मिसेज़ वेस्टन को संदेह होता है कि मि. नाय्ट्ले के इस बचाव में झलकते स्नेह के पीछे उनकी रोमांटिक भावनाएं हैं, जिसका एमा विरोध करती है। हर कोई मानने लगता है कि एमा और फ्रैंक के बीच लगाव बढ़ रहा है, पर जल्द ही एमा फ्रैंक को अपने संभाव्य प्रेमी के रूप से खारिज करती है और उसे हैरियेट के लिए योग्य पति के रूप में देखने लगती है। गांव के एक जश्न में, नाय्ट्ले, मि. एल्टन और उनकी नवविवाहिता पत्नी द्वारा हाल ही में अपमानित हुई हैरियेट के साथ नृत्य करने के लिए एमा से स्वीकृति पाते हैं। अगले दिन, फ्रैंक हैरियेट को जिप्सी भिखारियों से बचाता है। जब हैरियेट एमा को बतलाती है कि वह एक ऐसे आदमी से प्यार करती है जो उसके अपने सामाजिक स्तर से ऊपर के स्तर का है, तो एमा समझती है कि उसका इशारा फ्रैंक की तरफ है। नाय्ट्ले को संदेह होने लगता है कि फ्रैंक और जेन के बीच कोई रहस्यमय बात है और वह एमा को सचेत करने का प्रयास करते हैं। नाय्ट्ले के सुझावों को एमा हंसकर टाल देती है और फ्रैंक के साथ अपनी इश्कबाज़ी पर नाय्ट्ले की मंज़ूरी खो बैठती है और एक पिकनिक पर जेन की बुआ - दयालु, अविवाहित, मिस बेट्स का अपमान करती है। और जब नाय्ट्ले एमा को डांटते हैं तो वह रो पड़ती है। फिर ख़बर आती है कि फ्रैंक की मामी का देहांत हो गया और इस घटना से एक अप्रत्याशित रहस्य सामने आता है जिससे धीरे-धीरे सारे भेद खुल जाते हैं। दरअसल फ्रैंक और जेन ने चुपके से सगाई कर ली होती है और फ्रैंक अपनी असली चाहत को छुपाने के लिए एमा की ओर आकर्षित होने का नाटक करता है। मामी की मौत के बाद, अपने मामा की सहमति से अब फ्रैंक अपनी माशूका जेन से शादी कर सकता है। एमा चिंतित हो जाती है कि इससे हैरियेट टूट जायेगी, पर जल्द ही उसे पता चलता है कि दरअसल हैरियेट फ्रैंक को नहीं बल्कि नाय्ट्ले को पसंद करती है। और हैरियेट का मानना है कि नाय्ट्ले के मन में भी उसके प्रति वैसी ही प्रेम भावनाएं हैं। हैरियेट के इस खुलासे से एमा खुद को अशांत और दु:खी महसूस करने लगती है और अपनी इस व्यथा से उसे एहसास होता है कि दरअसल वह खुद नाय्ट्ले से प्यार करती है। एमा उम्मीद करती है कि नाय्ट्ले खुद उसे बताये कि वह हैरियेट से प्यार करते हैं, लेकिन जब नाय्ट्ले एमा के प्रति अपने प्यार का इज़हार करते हैं तो वह ख़ुशी से फूली नहीं समाती. हैरियेट को जल्द ही सुकून मिलता है जब रॉबर्ट मार्टिन एक बार फिर उसके सामने शादी का प्रस्ताव रखते हैं जिसे वह स्वीकार कर लेती है। हैरियेट और मि. मार्टिन तथा एमा और मि. नाय्ट्ले की शादी से, कौन किससे प्यार करता है - इस सवाल का जवाब भी मिल जाता है और उपन्यास समाप्त होता है।

प्रमुख पात्र[संपादित करें]

एमा वुडहाउस, कहानी की नायिका, एक 21 वर्षीय, सुन्दर, जोशीली, बुद्धिमान और 'थोडीसी' सर-चढ़ी नवयौवना है। जब वह बहुत छोटी थी तभी उसकी मां का देहांत हो गया और अपनी बड़ी बहन की शादी के बाद, वह निश्चित रूप से घर की मालकिन बन बैठी. हालांकि वह कई मायनों में अपनी उम्र से कहीं ज़्यादा समझदार है, फिर भी एमा कुछ गंभीर ग़लतियां करती है जिसका कारण है उसका दृढ़ विश्वास कि वह हमेशा सही होती है और वास्तविक दुनिया में अनुभव की कमी. हालांकि उसने कसम खाई है कि वह खुद फिर कभी भी शादी नहीं करेगी, लेकिन दूसरों के लिए जीवन साथी चुनने में उसे बहुत ख़ुशी मिलती है। किसी के प्यार में पड़ने में वह अपने आप को असमर्थ पाती है, लेकिन जब ईर्ष्या होती है तो उसे एहसास होता है कि वह हमेशा से ही मि. नाय्ट्ले से प्यार करती रही है।

जॉर्ज नाय्ट्ले, लगभग 37 - 38 वर्ष के हैं। वे एमा के करीबी दोस्त हैं और उसके एकमात्र आलोचक भी, हालांकि उनके मन में उसके लिए गहरा स्नेह भी है। मि. नाय्ट्ले पड़ोस के डौनवेल एस्टेट, जिसमें विशाल ज़मीन और एक खेत शामिल है, के मालिक हैं। वे एमा की बड़ी बहन इसाबेला के पति मि. जॉन नाय्ट्ले के बड़े भाई हैं। मि. नाय्ट्ले एमा से बहुत नाराज़ होते हैं चूंकि वह हैरियेट को मि. मार्टिन के प्रस्ताव को ठुकराने के लिए राज़ी करती है यह सोचकर कि इसी में हैरियेट का फ़ायदा होगा. वे एमा को चेतावनी देते हैं कि वह हैरियेट और मि. एल्टन की शादी करवाने का ख़याल छोड़ दे, चूंकि उनका अनुमान सही है कि मि.एल्टन अपने खुद के बारे में उच्च राय रखते हैं। उन्हें फ्रैंक चर्चिल और उसके इरादों पर शक़ होता है, हालांकि उनके शक़ की बुनियाद का मुख्य कारण है नवयुवक की ईर्ष्या, लेकिन उनका सहज-बोध सही साबित होता है जब यह बात सामने आती है कि फ्रैंक चर्चिल जैसा दिखता है वैसा है नहीं.

मि. फ्रैंक चर्चिल, मि. वेस्टन की पिछली शादी से हुए उनके सुपुत्र हैं, एक मिलनसार और होशियार नौजवान जिसे सिवाय मि. नाय्ट्ले के बाकी सभी पसंद करते हैं। मि. नाय्ट्ले उसे बहुत नासमझ मानते हैं हालांकि उनकी इस राय का कारण है फ्रैंक के प्रति उनकी ईर्ष्या, क्योंकि फ्रैंक एमा का आशिक बनकर उसका 'पीछा' किया करता था। मां की मृत्यु के बाद, फ्रैंक का लालन-पालन किया उसके रईस मामा-मामी ने और उन्हीं के नाम को उसने अपना उपनाम बनाया. फ्रैंक को नाच-गाना बहुत पसंद है और वह जीवन का पूरा-पूरा आनंद लेने में विश्वास रखता है। फ्रैंक भले ही एक लापरवाह व्यक्ति लगता है, लेकिन ऑस्टेन के अन्य उपन्यास जैसे - 'प्राइड एंड प्रेजुडिस' (Pride and Prejudice) के मि. विक्हैम या 'सेन्स एंड सेन्सिबिलिटी' (Sense and Sensibility) के विलोबी जैसे खलनायक पात्रों से कहीं कम चरित्रहीन है।

जेन फेरफैक्स, एक अनाथ लड़की है और उसके परिवार में हैं केवल उसकी बुआ, मिस बेट्स और दादी, मिसेज़ बेट्स. वह एक बहुत ही सुन्दर, सुशील, होनहार और सुरुचिसम्पन्न महिला के रूप में जानी जाती है, उसने उच्च शिक्षा पाई है और गाना गाने तथा पियानो बजाने में उसकी प्रतिभा असाधारण है, वास्तव में यही एकमात्र व्यक्ति है जिससे एमा ईर्ष्या करती है। पर उसका दुर्भाग्य है कि उसके पास कोई ख़ास धन-संपत्ति नहीं है अत: न चाहते हुए भी उसे गवर्नेस की नौकरी करनी पड़ती है।

हैरियेट स्मिथ, एमा की सहेली, जो बहुत ही सुन्दर है पर भोली व नादान है और बड़ी आसानी से दूस्ररों की बातों में आ जाती है, खासकर एमा की. उसने पास ही के एक स्कूल में शिक्षा पाई है। शुरुआत में तो उसे अज्ञात माता पिता की नाजायज़ बेटी बताया गया है, लेकिन आख़री अध्याय में इस बात का ख़ुलासा होता है कि दरअसल वह एक काफ़ी अच्छे-खासे, धनवान पर "असभ्य" व्यापारी की बेटी है। उपन्यास के शुरुआत में ही एमा हैरियेट को अपनी देख-रेख में रखती है और हैरियेट एमा के मैचमेकिंग के गुमराह प्रयासों का निशाना बनती है। शुरू-शुरू में हैरियेट किसान रॉबर्ट मार्टिन के शादी के प्रस्ताव को नकार देती है क्योंकि एमा का मानना है कि मार्टिन हैरियेट से नीचे दर्जे का है, हालांकि हैरियेट के अपने पूर्वज या खानदान का कोई अता-पता नहीं है। फिर धीरे-धीरे वह मि. नाय्ट्ले से गहरा प्यार करने लगती है, जिससे एमा को अपनी भावनाओं का एहसास होने लगता है। आख़िरकार, हैरियेट और मि. मार्टिन, एमा की दखलंदाज़ी के बावजूद शादी कर लेते हैं।

फिलिप एल्टन, एक ख़ूबसूरत, शिष्ट व सुशील और महत्त्वाकांक्षी युवा पुरोहित है। एमा चाहती है कि वह हैरियेट से शादी करे, पर वह एमा से शादी करना चाहते हैं। एमा द्वारा ठुकराए जाने के बाद, मि. एल्टन जल्द ही एक अन्य महिला से शादी करके अपने स्वार्थी स्वभाव का प्रदर्शन करते हैं।

अगस्टा एल्टन, पहले मिस हॉकिन्स, मि. एल्टन की अमीर लेकिन अप्रिय पत्नी है। वह बहुत ही घमंडी, दबंग और मिथ्याभिमानी औरत है जो हमेशा सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहती है, साधारणतया एमा और उसके दोस्त अगस्टा से नफ़रत करते हैं। वह जेन का साथ निभाती है जिससे जेन दूसरों की सहानुभूति का पात्र बनती है।

मिसेज़ ऐन वेस्टन, पहले मिस टेलर, सोलह सालों तक एमा की गवर्नेस रहीं थीं और प्रथम अध्याय में ही मि. वेस्टन से अपनी शादी के बाद भी उसकी सबसे क़रीबी और विश्वसनीय दोस्त है। वह बहुत ही समझदार औरत है जिसे एमा से बहुत लगाव है। मिसेज़ वेस्टन अपने पूर्व स्वामी के लिए किराए की मां का काम करतीं हैं और, कभी-कभार, संयम और तर्क की वाणी का काम.

मि. वेस्टन, हाल ही में अमीर बने हैं और हार्टफील्ड के आसपास के क्षेत्र में रहते हैं। वे एमा की पूर्व गवर्नेस मिस टेलर से शादी करते हैं और अपनी पहली शादी से जनित फ्रैंक चर्चिल, जिसे उनकी स्वर्गीय पत्नी के भाई-भाभी ने गोद लेकर पाला-पोसा, के पिता हैं। मि. वेस्टन एक प्रसन्नचित्त और आशावादी इंसान हैं जिन्हें लोगों से मिलने-जुलने में बहुत आनंद आता है।

मिस बेट्स, एक स्नेहमयी, बातूनी और कुंवारी लड़की है जिसकी मां, मिसेज़ बेट्स, मि. वुडहाउस की दोस्त हैं। उनकी काबिल भतीजी, जेन फेरफैक्स, उनकी जीवन-ज्योति है। एक दिन जब वह देश में घूमने निकलती हैं तो एमा जानबूझकर उसके थका देने वाले मोटापे की ओर संकेत करके उसे अपमानित करती है। बाद में, मि.नाय्ट्ले एमा को बुरी तरह डांटते हैं। तब एमा शर्मिंदा होकर अपनी ग़लती सुधारने की कोशिश करती है।

हेनरी वुडहाउस, एमा के पिता हैं, जिन्हें हमेशा अपने स्वास्थ्य और सुख-सुविधा की चिंता रहती है, यहाँ तक कि वे न तो खुद के मामले में कोई गड़बड़ी होने देते हैं, न ही अपने दोस्तों के स्वास्थ्य व सुख-सुविधा के मामले में. उनका मानना है कि ऐसी कई सारी चीज़ें हैं जो सेहत के लिए हानिकारक हैं। अकसर औरों को उनसे मिल-जुलकर रहने में बहुत मुश्किल होती है क्योंकि वे हमेशा छोटी-छोटी बातों से परेशान हो जाते हैं और बात का बतंगड़ बना देते हैं और समझते हैं कि और लोग भी वैसे ही परेशान होते होंगे, यहाँ तक कि वे अपने मेहमानों को भी समृद्ध खाना परोसने से मना करते हैं। वे अफ़सोस जताते हैं कि "बेचारी इसाबेला" और खासकर "बेचारी मिस टेलर" की शादी हो चुकी है और वो उनसे दूर जा चुकीं हैं, चूंकि वे खुद उनके दूर होने से दु:खी हैं, तो समझते हैं कि वो दोनों भी दु:खी ही होंगी.

इसाबेला वुडहाउस एमा की बड़ी बहन है और हेनरी की बेटी. उसकी शादी जॉन नाय्ट्ले से हुई है और वह अपना अधिकांश समय घर रह कर अपने दो बेटों, हेनरी और नन्हे जॉन के लालन-पालन में बिताती है।

जॉन नाय्ट्ले इसाबेला के पति हैं और जॉर्ज के छोटे भाई. जेन फेरफैक्स से उनकी पुरानी जान-पहचान है। वे अपने परिवार की छुट्टियां बिताने और सैर-सपाटे की इच्छाओं को भली-भांति पूरा करते हैं, हालांकि खुद उन्हें घर पर ही रहना ज़्यादा पसंद है, ख़ासकर अगर मौसम अच्छा न हो तब.

समीक्षा और विषय[संपादित करें]

एमा वुडहाउस ऑस्टेन की पहली हिरोइन है जिसे पैसों की कोई चिंता नहीं और इसका ज़िक्र वह भोली-भाली मिस स्मिथ से करती है कि इसीलिये उसे शादी करने में भी कोई दिलचस्पी नहीं है। यह बात ऑस्टेन के अन्य उपन्यासों से हटकर है, क्योंकि उनकी अन्य कहानियों में अकसर शादी और आर्थिक सुरक्षा महत्त्वपूर्ण विषय रहे हैं। एमा के पास पर्याप्त धन-संपत्ति होने की बात इस उपन्यास को, ऑस्टेन के 'सेन्स एंड सेन्सिबिलिटी' (Sense and Sensibility) और 'प्राइड एंड प्रेजुडिस' (Pride and Prejudice) जैसे उपन्यासों की तुलना में, काफ़ी हल्का-फुल्का बना देती है। इसके विपरीत में, जेन फेरफैक्स का भविष्य कुछ धुंधला नज़र आता है।

ऑस्टेन की अन्य हीरोइनों की तरह, एमा पर रोमांटिक आकर्षण का कोई असर नहीं पड़ता. सही आदमी के साथ घर बसाने से पहले ग़लत व्यक्ति की ओर आकर्षित होने वाली मैरियन डैशवुड की तरह, एमा अपनी ज़िन्दगी में आने वाले मर्दों में कोई रोमांटिक दिलचस्पी नहीं दिखाती. वह सचमुच हैरान रह जाती है (और कुछ हद तक परेशान भी) जब मि. एल्टन उस पर अपने प्यार का इज़हार करते हैं - बिलकुल वैसे ही जैसे एलिजाबेथ बेनेट की सनकी प्रतिक्रिया होती है चापलूस मि. कॉलिन्स के प्रति. फ्रैंक चर्चिल के प्रति उसकी चाहत, सही मायने में रोमांटिक प्यार की लालसा नहीं बल्कि जीवन में एक छोटे से रोचकमय दौर की तरस दर्शाता है। गौर करने वाली बात है कि एमा, हैरियेट स्मिथ और रॉबर्ट मार्टिन के बीच पनपते प्यार को पहचान नहीं पाती और भावी जीवन साथी को सिर्फ़ धन-दौलत और सामाजिक महत्त्वाकांक्षाओं के आधार पर आंकती है। जब हैरियेट स्मिथ मि. नाय्ट्ले के प्रति अपनी भावनाएं प्रकट करती है तब जाकर एमा को मि. नाय्ट्ले के प्रति अपनी खुद की भावनाओं का एहसास होता है।

हालांकि एमा ऑस्टेन की अन्य हिरोइनों से इन दो बातों में अलग है, पर एक बात में एलिज़ाबेथ बेनेट और ऍन एलियट से मिलती-जुलती है कि वह एक होशियार और समझदार महिला है जिसके पास करने के लिए न कोई काम-धाम है और न ही वह अपनी दिनचर्या या अपनी जगह बदलने की क्षमता रखती है। हालांकि उसे परिवार का स्नेह प्राप्त है और आर्थिक सुरक्षा भी, फिर भी एमा की रोज़मर्रा की ज़िन्दगी सचमुच बड़ी नीरस और उबाऊ है; उपन्यास के शुरू में, उसका कोई साथी नहीं है जो उसकी हमउम्र का हो. मैचमेकिंग में अकुशलता के बावजूद, उस पर जो धुन सवार है वो एक रईस महिला की ज़िन्दगी के संकीर्ण दायरे के खिलाफ एक मौन-विरोध का प्रतीक है, ख़ासकर जब महिला एकाकी और निःसंतान हो.

फिल्म और टेलिविज़न रूपांतर[संपादित करें]

एमा - इसके अनेक रूपांतर किये गए हैं।[2]

लोकप्रिय संस्कृति में एमा[संपादित करें]

  • माइक ले द्वारा बनाई फिल्म नेकेड (1993) में एमा उपन्यास का उल्लेख होता है, जिसमें जॉनी का किरदार (डेविड थ्यूलिस द्वारा अभिनीत) शीर्षक और लेखक के नामों को अदल-बदल कर उलझन पैदा करता है।
  • एमी हेकरलिंग द्वारा बनाई फिल्म क्लूलेस (1995) के कथानक का आधार एमा है। और एमा की भूमिका को एलिसिया सिल्वरस्टोन ने निभाया है।
  • जोन एइकन ने एक उपन्यास लिखा, जेन फेरफैक्स: द सीक्रेट स्टोरी ऑफ़ द सेकेन्ड हिरोइन इन जेन ऑस्टेन'स एमा (Jane Fairfax: The Secret Story of the Second Heroine in Jane Austen's Emma).
  • रेजिनाल्ड हिल ने 1987 की एक लघु-कथा लिखी: "पुअर एमा" (देर आर नो घोस्ट्स इन द सोवियत यूनियन (There are no Ghosts in the Soviet Union) के 2007 के पेपरबैक संस्करण में शामिल) जिसमें धन-संपत्ति और सुरक्षा को बहुत महत्त्व दिया गया है।
  • जूलियट आर्चर द्वारा लिखित दि इम्पौर्टन्स ऑफ़ बिइंग एमा (The Importance of Being Emma), एमा का आधुनिक रूपांतर है।
  • एमा एंड द वेरवुल्व्स (Emma and the Werewolves): जेन ऑस्टेन एंड ऐडम रान (Jane Austen and Adam Rann), ऐडम रान द्वारा लिखित एक खिचड़ी-उपन्यास. खिचड़ी-उपन्यास में, चूंकि मूल स्रोत कॉपीराइट के अधिकारों से असुरक्षित होता है इसलिए मूल कहानी के विषय और लेखक के नाम में फेर-बदल करके और मूल कहानी में नई उप-कहानियां जोड़कर एक नई मूल (खिचड़ी) कहानी बनाई जाती है। खिचड़ी-कहानी की विशेषता यह है कि उसमें मूल कहानी को ख़ूब बढ़ा-चढ़ाकर वर्णित किया जाता है। एक और विशिष्ट बात है कि खिचड़ी-कहानियों के प्रकाशक मूल लेखक का नाम ऐसे छापते हैं जिससे मूल लेखक या तो सह-लेखक बन जाता है या फिर खिचड़ी-उपन्यास का सहयोगी लेखक.
  • 1996 की फिल्म में वेय्न्थ पाल्ट्रो ने एमा का पात्र किया।
  • 2009 में, उपन्यास पर आधारित बीबीसी (BBC) की शृंखला में रोमोला गराई ने एमा का पात्र निभाया.
  • एंड्र्यू ट्रीज़ द्वारा लिखित उपन्यास "अकैडमी एक्स" (Academy X) न्यू योंर्क शहर के एक अनामधेय स्कूल के बारे में है, जिसके पूरे कथानक में "एमा" उपन्यास का प्रयोग किया गया है। कहानी के मुख्य पात्र जॉन अंग्रेजी विभाग के प्रमुख हैं और साहित्य के वरिष्ट वर्ग को "एमा" उपन्यास पढ़ाते हैं। अकसर कैटलीन के पात्र की तुलना, उसकी सुन्दरता, अमीरी और समाज में ऊंची प्रतिष्ठा के कारण मूल हिरोइन से की जाती है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

नोट्स[संपादित करें]

  1. ऑस्टेन-लिघ, एडवर्ड जेम्स. ए मेमौइर ऑफ़ जेन ऑस्टेन . 1926. एड. आर. डब्ल्यू. चैपमैन. ऑक्सफोर्ड: ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, 1967. पृष्ठ 157
  2. इंटरनेट मूवी डेटाबेस पर Jane Austen
  3. "बीबीसी (BBC) वन एम्मा दिस ऑटम के लिए कास्टिंग की घोषणा" (4 अप्रैल 2009)

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

Wikisource
विकिसोर्स में एमा लेख से संबंधित मूल साहित्य है।

साँचा:Jane Austen