एमनेस्टी इण्टरनेशनल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एमनेस्टी इंटरनेशनल एक अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवी संस्था है जो अपना उद्देश्य "मानवीय मूल्यों, एवं मानवीय स्वतंत्रता, को बचाने एवं भेदभाव मिटाने के लिए शोध एवं प्रतिरोध करने एवं हर तरह के मानवाधिकारों के लिए लडना" बताती है। [1] इस संस्थान की स्थापना ब्रिटेन में १९६१ में की गयी थी। एमनेस्टी मानवाधिकारों के मुद्दे पर बहुद्देशीय प्रचार अभियान चलाकर, शोध कार्य कर के पूरे विश्व का ध्यान उन मुद्दों की ओर आकर्षित करने एवं एक विश्व जनमत तैयार करने की कोशिश करता है। ऐसा करके वे खास सरकारों, संस्थानों या व्यक्तियों पर दवाब बनाने की कोशिश करते हैं। [2] इस संस्थान को १९७७ में "शोषण के खिलाफ" अभियान चलाने के लिए नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया गया था। [3] तथा १९७८ में संयुक्त राष्ट्र संघ के मानवाधिकार पुरस्कार से नवाजा गया था।[4] लेकिन इस संस्थान की हमेशा यह कहकर आलोचना की जाती है कि पश्चिमी देशों के लिए इस संस्थान में हमेशा एक खास पूर्वाग्रह देखा जाता है।[5][6]


संस्था का इतिहास[संपादित करें]

संस्था के कार्यकलाप[संपादित करें]

आलोचना[संपादित करें]

संदर्भ सूची[संपादित करें]

  1. "अबाउट एमनेस्टी इंटरनेशनल". एमनेस्टी इंटरनेशनल. http://web.amnesty.org/pages/aboutai-index-eng. अभिगमन तिथि: ८ अगस्त २००७. 
  2. "अबाउट एमनेस्टी इंटरनेशनल". एमनेस्टी इंटरनेशनल. http://web.amnesty.org/pages/aboutai-index-eng. अभिगमन तिथि: १५ अप्रैल २००७. 
  3. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; AINobelLec नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  4. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; AIUNAward नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  5. डॉन हबीबी (२ जुलाई, २००४). "What's Wrong With Human Rights" (Word document). अभिगमन तिथि:
  6. माइकल मैंडेल, How America Gets Away With Murder: Illegal Wars, Collateral Damage and Crimes Against Humanity, प्लूटो प्रेस २००४


वाह्य सूत्र[संपादित करें]