एंपेडोक्लीज़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अकग्रास का एंपेडोक्लीज़

एंपेडोक्लीज़ (लगभग ४९० ई.पू. से ४३० ई.पू.) एक प्राचीन यूनानी विचारक था।

दर्शनशास्त्र[संपादित करें]

एंपेडोक्लीज़ का सोचना था कि विश्व में सब कुछ छः तत्वों से बना है। इन में से चार है निष्क्रिय ः पृथ्वी, जल, वायु, अग्नि। यह चारों तत्व हमेशा से हैं और हमेशा तक ही रहेंगे। न तो इनका उत्पादन होता है न ध्वंस। दूसरे दो समान्य ढंग के तत्व तो नहीं है पर तत्त्विक शक्तियां है ः प्रेम और विवाद। इन दो शक्तियों के कारण चार निष्क्रिय तत्व सम्मिलित और अलग होते है। एंपेडोक्लीज़ शाकाहारी के लिये होता है।