उत्थापक कलनविधि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कम्प्यूटर के डिस्क के भुजा (आर्म) और सिर (हेड) की गति निर्धारण की कलनविधि का नाम उत्थापक कलनविधि (elevator algorithm या SCAN) है। डिस्क पर सूचना लिखने (राइट) या लिखी सूचना को पढ़ने (रीड) के लिए यह गति आवश्यक होती है।

इस अल्गोरिद्म का नाम भवनों में लगने वाले 'उत्थापक' (एलिवेटर) के नाम पर रखा गया है। भवनों में लगे उत्थापक वर्तमान गति की दिशा (ऊपर या नीचे) में तब तक आगे बढ़ते रहते हैं जब तक खाली न हों जाँय। वे तभी रुकते हैं जब किसी को बीच में उतरना हो या उसी दिशा में जाने का इच्छुक रास्ते में (बाहर) प्रतीक्षारत हो।

जहाँ तज इस कलनविधि को कार्यान्यवित करने का प्रश्न है, ड्राइव रीड/राइट के बाकी बचे निवेदनों की सूचना रखता है। इसके साथ यह भी जानकारी रखता है कि किस सिलिण्डर पर लिखना/पढ़ना है। सिलिण्डर-संख्या कम हो तो उसका अर्थ है कि सम्बन्धित सिलिण्डर के पास है जबकि अपेक्षाकृत बड़ी सिलिण्डर-संख्या बताती है कि सिलिण्डर स्प्लिण्डिल से दूर है।