उत्तम कुमार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उत्तम कुमार (3 सितंबर 1926 - 1980) (बांग्ला: উত্তম কুমার) एक बांग्ला और हिन्दी फ़िल्मों का एक प्रसिद्ध अभिनेता थे।

परिचय[संपादित करें]

बांग्ला फ़िल्मों के महानायक उत्तम कुमार का जन्म हुआ था 3 सितंबर 1926 को भवानीपुर कोलकाता के गिरीश मुखर्जी रोड स्थित अपने पुश्तैनी मकान में। कोलकाता के ही साउथ सबर्बन स्कूल (मेन) से स्कूली शिक्षा के बाद कोलकाता विश्वविद्यालय के गोयेनका कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड बिजनेस ऐडमिनिस्ट्रेशन में दाखिला लिया लेकिन वे अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए और उन्होंने कलकत्ता पोर्ट ट्रस्ट में कलर्क की नौकरी ज्वॉयन कर ली। अभिनेता, निर्माता, निर्देशक उत्तम कुमार की बतौर नायक पहली फ़िल्म थी नितिन बोस निर्देशित दृष्टिदान। सुचित्रा सेन के साथ उनकी जोड़ी खूब पसंद की गई। सुचित्रा के साथ उनकी सप्तपदी, पौथे होलो देरी, हारानो सुर, चावा पावा, बिपाशा, जीवन तृष्णा और सागरिका जैसी फ़िल्में बेहद लोकप्रिय रहीं।

बांग्ला के साथ-साथ उन्होंने पांच हिन्दी फ़िल्मों में भी अभिनय किया। 1967 में छोटी सी मुलाक़ात (स्वयं निर्माता), 1975 में अमानुष, 1 977 में आनंद आश्रम 1979 में क़िताब और दूरियां।

उनका असली नाम था अरुण कुमार चैटर्जी। कोलकाता में हाजरा अंचल में उनके नाम पर उत्तम थियेटर है तथा टालीगंज ट्रामडिपो के समक्ष उनका विशाल स्टैच्यु सड़क के चौंक पर लगाया गया है। और अब विगत वर्ष २००९ में टालीगंज मेट्रो स्टेशन का नामकरण महानायक उत्तम कुमार हो गया है।

उनके एकमात्र पुत्र गौतम कुमार चटर्जी (दिवंगत) एक व्यवसायी थे। फिल्मों में उनकी रुचि नहीं थी लेकिन उत्तम के पौत्र गौरव बांग्ला फ़िल्मों में अभिनय कर रहे हैं। उनकी ख़्वाहिश थी कि अभिनय करते हुए उनका दम निकले और हुआ भी ऐसा ही। 1980 में "ओ गो बोधु शुंदरी" की शूटिंग के दौरान हृदयाघात से उनका निधन हो गया।


सन्दर्भ[संपादित करें]

Mrinal-sen.jpg      बंगाली सिनेमा का इतिहास      Charulata.jpg
प्रसिद्ध निर्देशक
कलाकार
इतिहास
इतिहास बिल्ल्वमंगलदेना पाओनाधीरेन्द्रनाथ गंगोपाध्यायहीरालाल सेनइंडो ब्रिटिश फ़िल्म कंपनीकानन देवीमदन थियेटरमिनर्वा थियेटरन्यू थियेटर्सप्रमथेश बरूआरॉयल बायोस्कोपस्टार थियेटरअन्य...
प्रसिद्ध फ़िल्में 36 चौरंगी लेनअपराजितोअपुर संसारउनिशे एप्रिलघरे बाइरेचारुलताचोखेर बालीताहादेर कथातितलीदीप जेले जाइदेना पाओनानील आकाशेर नीचेपथेर पांचालीबिल्ल्वमंगलमेघे ढाका तारासप्तपदीहाँसुलि बाँकेर उपकथाहारानो सुरअन्य...