आल्कुबियेर इंजन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
दो आयामों (डायमेंशनों) में आल्कुबियेर​ इंजन के प्रभाव का चित्रण - यान के आगे का दिक्-काल सिकुड़ता है और उसे पीछे का दिक्-काल फैलता है

आल्कुबियेर​ इंजन (Alcubierre drive) एक प्रस्तावित वैज्ञानिक युक्ति है जिसमें भौतिकशास्त्री मिगेल आल्कुबियेर​ ने आइनस्टाइन​ क्षेत्र समीकरण (फ़ील्ड इक्वेशन​) का एक संभव हल देते हुए यह दिखाया था कि कुछ परिस्थितियों में किसी यान को प्रकाश की गति से भी तेज़ चलाया जा सकता है।[1] सामान्य सापेक्षता सिद्धांत किसी भी वस्तु को साधारण दिक्-काल (स्पेसटाइम) में प्रकाश से तेज़ जाने की अनुमति नहीं देता। लेकिन सन् १९९४ में आल्कुबियेर​ ने दिखाया कि ऋणात्मक घनत्व की ऊर्जा (negative density of energy) के प्रयोग से यान के पीछे के दिक्-काल को फैलाया जा सकता है और उसके आगे के दिक्-काल को सिकोड़ा जा सकता है। इस से यान इस मरोड़े हुए दिक्-काल में प्रकाश की गति से कम चलकर भी साधारण दिक्-काल के हिसाब से प्रकाश की गति से कहीं अधिक वेग पर चल सकता है।[2] भौतिकी के नियमों के अनुसार ऐसी ऋणात्मक घनत्व की ऊर्जा उत्पन्न करने वाला विचित्र पदार्थ (exotic matter) वर्जित तो नहीं है लेकिन यह न तो कभी देखा गया है और न ही वैज्ञानिक इसे बनाने में अभी सक्षम हैं।[3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dictionary of Distances, Michel-Marie Deza, Elena Deza, pp. 337, Elsevier, 2006, ISBN 978-0-444-52087-6, ... The Alcubierre metric is a solution to the Einstein field equation, representing warp drive space-time in which the existence of closed time-like curves is allowed ...
  2. Field Propulsion System for Space Travel: Physics of Non-Conventional Propulsion Methods for Interstellar Travel, Yoshinari Minami, pp. 56-57, Bentham Science Publishers, 2011, ISBN 978-1-60805-270-7, ... the Alcubierre drive does not contradict the conventional claim that relativity forbids a slower-than-light object to accelerate to faster-than-light speeds. However, there are no known methods to create such a warp bubble ... The existence of exotic matter is not theoretically ruled out ...
  3. The Complete Book of Spaceflight: From Apollo 1 to Zero Gravity, David Darling, pp. 14, John Wiley & Sons, 2003, ISBN 978-0-471-46771-7, ... matter with a negative energy density. Such matter, known as exotic matter, is the same kind of peculiar stuff apparently needed to maintain stable wormholes ... Quantum mechanics allows the existence of regions of negative energy density under special circumstances, such as in the Casimir effect ...