आलू चाट (चलचित्र)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
आलू चाट फिल्म का एक पोस्टर।

आलू चाट बॉलीवुड का एक रोमांटिक हास्य चलचित्र है। चलचित्र का निर्देशन रोबी ग्रेवाल ने किया है।

पटकथा[संपादित करें]

आलू चाट एक निखिल (आफ़ताब शिवदसानी) नाम के लड़के कि है जो अमेरिका से अपन उच्च शिक्षा पूरी करके अपने परिवार के पास लाजपत नगर, दिल्ली लौटा है। उसके परिवार में उसके रूढ़िवादी पिता पुरुषोत्तम (कुलभूषण खरबंदा) हैं, उसकी दादी है बीजी (डाली आलूवालिया) हैं जिन्हें संदेह है कि निखिल समलैंगिक है, उलझन में रहने वाली उसकी माँ सीतो (मीनाक्षी सेठी) है और एक शंकित मामा है छदामी मामा (संजय मिश्र)। जो भी लड़की निखिल के माता पिता पसंद करते है निखिल हर उस लड़की से शादी करने के लिये मना कर देता है और इससे उसके माता पिता को उसके व्यव्हार को लेकर चिंतित रहते हैं। दरसल निखिल एक मुस्लिम लड़की से प्यार करता होता है जो अमेरिका में रह रही होती है। उसका नाम होता है अम्ना (अम्ना शरीफ़)। निखिल जानता था कि उसके रूढ़िवादी माता पिता उसकी एक विधर्मी लड़की से शादी के बिलकुल विरोध में होंगे। तब निखिल अपने एक पारिवारिक मित्र हाकिम (मनोज) जो पेशे से सेक्सोलाजिस्ट है एक योजना बनाता है कि, वो उसके पिता को बताएगें कि वह एक अमेरिकी लड़की निक्की (लिंडा एर्सीनियो) से विवाह करना चाहता है। इस लड़की को वो एक सेलिब्रिटी गायक सुखा पाजी की सहायता से भाडे़ पर रखते हैं। सुखा पाजी भी हाकिम का एक रोगी होता है। इस प्रकार वे दोनों निक्की और आम्ना को निखिल के घरवालों से मिलाते हैं। एक ओर निक्की एक गंदी लड़की होने का दिखावा करती है, वहीं दुसरी ओर आम्ना अच्चे गुणों का प्रदर्शन करती है ताकी निखिल के परिवा वालों को प्रभावित किया जा सके। लेकिन सब कुछ उल्टा-पुल्टा हो जात है जब छदामी मामा उनपर संदेह करना आरंभ कर देते है। और इस प्रकार हास्य और प्रेम कहानी का मिला जुला नाटक आरंभ होता है।

अभिनय[संपादित करें]

  • आफ़ताब शिवदसानी - निखिल
  • अम्ना शरीफ़ - अम्ना
  • लिंडा एर्सीनियो - निक्की
  • कुलभूषण खरबंदा - पुरुषोत्तम
  • मनोज पाहवा - हाकिम
  • डाली आलूवालिया - बीजी
  • मीनाक्षी सेठी - सीतो
  • संजय मिश्र - छदामी मामा

संदर्भ्[संपादित करें]

आलू चाट चलचित्र से संबंधित समाचार और समीक्षा।