आचार्य महाश्रमण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
आचार्य महाश्रमण
Acharya shri Mahashraman1.jpg
जैन श्वेताम्बर तेरापंथ के ११वें आचार्य महाश्रमणजी
नाम (आधिकारिक) आचार्य महाश्रमण
व्यक्तिगत जानकारी
जन्म नाम मोहन दुगर
जन्म 13 मई 1962 (1962-05-13) (आयु 52)
सरदारशहर, राजस्थान
माता-पिता झुमरमालजी और नेमादेवी दुगर
शुरूआत
नव सम्बोधन मुदित
सर्जक मुनि श्री सुमेरमालजी
सर्जन स्थान सरदारशहर, राजस्थान, भारत
सर्जन तिथि 5 मई 1974
दीक्षा के बाद
पद आचार्य
कार्य अनुव्रत आंदोलन और प्रेक्षध्यान
पूर्ववर्ती आचार्य महाप्रज्ञ

आचार्य महाश्रमण (जन्म 13 मई 1962) जैन श्वेतांबर तेरापंथ के ग्याहरवें संत अथवा आचार्य हैं। महाश्रमण पुज्य संत, योगी, आध्यात्मिक नेता, दार्शनिक, लेखक, वक्ता, और कवि हैं।

संक्षिप्त विवरण[संपादित करें]

आचार्य महाश्रमण को पहले मुनि मुदित के नाम से जाना जाता था।[1] [2]

पुस्तकें[संपादित करें]

  • आओ हम जीना सिखें
  • क्या कहता है जैन वांग्मय
  • दुख मुक्ति का मार्ग
  • संवाद भगवान से
  • महात्मा महाप्रज्ञ
  • धम्मो मंगल मुखित्तम

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]