आचार्य बलदेव उपाध्याय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आचार्य बलदेव उपाध्याय (१० अक्टूबर, १८९९ - १० अगस्त, १९९९) हिन्दी और संस्कृत के सुप्रसिद्ध विद्वान, साहित्येतिहासकार, निबन्धकार तथा समालोचक थे। उन्होने अनेकों ग्रन्थों की रचना की, निबन्धों का संग्रह प्रकाशित किया तथा संस्कृत वाङ्गमय का इतिहास लिखा। वे संस्कृत साहित्य की हिन्दी में चर्चा के लिए जाने जाते हैं। उनके पूर्व संस्कृत साहित्य से सम्बन्धित अधिकांश पुस्तकें संस्कृत में हैं या अंग्रेजी में।

आचार्य बलदेव उपाध्याय को भारत सरकार द्वारा सन १९८४ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

जीवन परिचय[संपादित करें]

आचार्य जी का जन्म उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के सोनबरसा गाँव में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था।

कृतियाँ[संपादित करें]

क्रमांक ग्रन्थ का नाम प्रकाशक वर्ष
1. रसिक गोविन्द और उनकी कविता हिन्दी नागरी प्रचारिणी सभा बलिया 1926
2. सूक्ति मुक्तावली हरिदास कम्पनी, मथुरा 1932
3. संस्कृत कवि चर्चा मास्टर खेदीलाल, वाराणसी 1932
4. भारतीय दर्शन शारदा मंदिर, वाराणसी 1942
5. संस्कृत साहित्य का इतिहास शारदा मंदिर वाराणसी 1944
6. धर्म और दर्शन शारदा मंदिर, वाराणसी 1945
7. संस्कृत वाङ्गमय शारदा मंदिर, वाराणसी 1945
8. वैदिक कहानियाँ शारदा मंदिर, वाराणसी 1946
9. बौद्ध दर्शन मीमांसा शारदा मंदिर, वाराणसी 1946
10. आर्य संस्कृति के मूलाधार शारदा मंदिर, वाराणसी 1947
11. भारतीय साहित्य शास्त्र प्रसाद परिषद, वाराणसी 1948
12. भागवद् सम्प्रदाय नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी 1954
13. वैदिक साहित्य और संस्कृति शारदा संस्थान, वाराणसी 1955
14. संस्कृत आलोचना उ प्र संस्कृत सम्स्थान, लखनऊ 1956
15. काव्यानुशीलन रमेश बुक डिपॉट, जयपुर 1956
16. भारतीय वाङ्गमय में श्री राधा बिहार राजभाषा परिषद, पटना 1963
17. संस्कृत सुकवि समीक्षा चौखम्भा विद्या भवन, वाराणसी 1963
18. पुराण विमर्श चौखम्भा विद्या भवन, वाराणसी 1965
19. संस्कृत शास्त्रों का इतिहास चौखम्भा विद्या भवन, वाराणसी 1969
20. भारतीय धर्म और दार्शन चौखम्भा विद्या भवन, वाराणसी 1977
21. संस्कृत साहित्य का संक्षिप्त इतिहास शारदा सम्स्थान, वाराणसी 1978
22. काशी की पाण्डित्य परम्परा शारदा संस्थान, वाराणसी 1985
23. भारतीय धर्म और दर्शन का अनुशीलन शारदा संस्थान, वाराणसी 1985
24. विमर्शचिन्तामणिः शारदा संस्थान, वाराणसी 1987