आंशिक भिन्न

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बीजगणित में, आंशिक भिन्न प्रसार (partial fraction expansion) एक विधि है जो किसी परिमेय भिन्न के अंश या हर के डेग्री (degree) को कम करने के काम आती है।

सांकेतिक रूप में, निम्नलिखित परिमेय भिन्न को आंशिक भिन्नों में तोड़ा जा सकता है-

 \frac{f(x)}{g(x)}

जहाँ ƒ और g बहुपद (polynomials) है। इसके आंशिक भिन्न निम्नवत होंगे-

 \sum_j \frac{f_j(x)}{g_j(x)}

जहाँ gj (x) बहुपद हैं और ये g(x) के गुणखण्ड हैं।

उदाहरण -
{25 \over (x+2)(x^2+1)^2} = \frac{1}{x+2} + \frac{-x+2}{x^2+1}+\frac{-5x+10}{(x^2+1)^2} \ .

विधि[संपादित करें]

माना दिया हुआ भिन्न R(s)=\frac{P(s)}{Q(s)} है तो:

विधि 1

जब दिये हुए भिन्न के हर को x-a जैसे रैखिक गुणनखण्ड हो सकें ; जहाँ n >=1

R(s)=\frac{P(s)}{(x-a)^n}=\frac{A1}{(x-a)}+\frac{A2}{(x-a)^2}+...+\frac{An}{(x-a)^n}

विधि 2

जब दिये हुए भिन्न के हर का रैखिक गुणनखण्ड न हो बल्कि (x-a)^2+b^2 जैसे द्विघात गुणखण्ड हो (जहाँ n >= 1) :

R(s)=\frac{P(s)}{[(x-a)^2+b^2]^n}=\frac{A1}{[(x-a)^2+b^2]}+\frac{A2}{[(x-a)^2+b^2]^2}+...+\frac{An}{[(x-a)^2+b^2]^n}

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]