अमरपक्षी तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अमरपक्षी (फ़ीनिक्स) तारामंडल
अगर आप मिथ्य-कथाओं में मिलने वाले अमरपक्षी (फ़ीनिक्स) के बारे में जानकारी ढूंढ रहें हैं, तो अमरपक्षी का लेख देखिये

अमरपक्षी या फ़ीनिक्स तारामंडल एक छोटा-सा तारामंडल है। इसके अधिकतर तारे बहुत धुंधले हैं और इसमें +५ मैग्नीट्यूड की चमक (सापेक्ष कान्तिमान) से अधिक रोशनी रखने वाले केवल दो तारे हैं। इसकी परिभाषा सन् १५९७-९८ में पॅट्रस प्लैंकियस (Petrus Plancius) नामक डच खगोलशास्त्री ने की थी। अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा जारी की गई ८८ तारामंडलों की सूची में भी यह शामिल है।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अमरपक्षी तारामंडल को अंग्रेज़ी में "फ़ीनिक्स कॉन्स्टॅलेशन" (Phoenix constellation) कहा जाता है।

तारे और अन्य वस्तुएँ[संपादित करें]

अमरपक्षी तारामंडल में ४ मुख्य तारे हैं, हालांकि वैसे इसमें २५ तारों को बायर नाम दिए जा चुके हैं। इनमें से ५ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए गए हैं। इस तारामंडल के मुख्य तारे और अन्य वास्तुएँ इस प्रकार हैं -[1]

  • अल्फ़ा फ़ीनाइसिस (α Phoenicis) - यह एक K0 III श्रेणी का +२.४ मैग्नीट्यूड (चमक) वाला तारा है। दूरबीन से देखने पर यह एक दोहरा तारा ज्ञात होता है। इस तारे को अन्क़ा (Ankaa) भी कहते हैं।
  • फ़ीनिक्साई उल्का बौछार (Phoenicids meteor shower) - हर साल दिसम्बर ५ की रात्री को पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध (हॅमिस्फ़्येअर) में अमरपक्षी तारामंडल के क्षेत्र में उल्काओं की कुछ बौछारें देखी जाती हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Ian Ridpath and Wil Tirion (2007). Stars and Planets Guide, Collins, London. ISBN 978-0007251209. Princeton University Press, Princeton. ISBN 978-0691135564.